Monday, May 20, 2024
Homeराजनीतिस्वाति मालीवाल के साथ बदसलूकी में अरविंद केजरीवाल पर भी हो FIR: नवीन जयहिंद,...

स्वाति मालीवाल के साथ बदसलूकी में अरविंद केजरीवाल पर भी हो FIR: नवीन जयहिंद, कहा- पीटने वाले का हाथ तोड़ देते, आदेश देने वाले की खींच लेते जुबान

नवीन जयहिंद ने अपनी पूर्व पत्नी को झाँसी की रानी, मर्दानी और किसी से न डरने वाली बताया है। उन्होंने दिल्ली में सीएम हाउस को गटर हाउस कहा। साथ ही इस घटना को बहुत खतरनाक घटना बताया।

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मुख्यमंत्री केजरीवाल के घर हुई मारपीट मामले में उनके पूर्व पति नवीन जयहिंद का एक और बयान आया है। उन्होंने स्वाति के मारपीट केस में सीएम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की माँग की है। इसके अलावा अपनी पूर्व पत्नी को झाँसी की रानी, मर्दानी और किसी से न डरने वाली बताया है।

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए नवीन जयहिंद ने कहा कि दिल्ली में जिसे सीएम हाउस कहा जाता है, वो असल में गटर हाउस है। ये घटना बहुत खतरनाक घटना है। पूरा स्कैंडल हैं। इसमें तो अरविंद केजरीवाल के ऊपर भी एफआईआर होनी चाहिए। जिसने भी ये किया है उसकी इतनी औकात नहीं है ये काम करने की।

नवीन ने इस वीडियो में भी कहा, “स्वाति की जान को खतरा है, वरना कोई इस तरह पुलिस को फोन नहीं करेगा, थाने से वापस नहीं आएगा। अभी भी उसकी आवाज दबाई जा रही, उसे चुप कराया जा रहा है।” वह कहते हैं- “ये सिर्फ मेरी पूर्व पत्नी का मामला नहीं है। ये मामला लाखों महिलाओं का है। अगर सिर्फ पूर्व पत्नी का मामला होता तो अब तक जो हाथ स्वाति पर उठे हैं वो टूट चुके होते और जिसने आदेश दिया है अपनी जुबान से… उसकी जुबान भी निकाल लिए होते। ये मामला मेरा व्यक्तिगत नहीं है।”

आगे वीडियो में नवीन जयहिंद ने दिल्ली पुलिस से, देश के गृहमंत्री से इस मामले में एक्शन लेने को कहा है। उन्होंने कहा कि उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि इस मामले में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष क्यों चुप हैं। ये बहुत बड़ा मामला है।

वो कहते हैं- “कल को ऐसा न हो कि स्वाति का एक्सीडेंट हो गया, स्वाति ने कुछ और कर लिया। ये बहुत गहरा केस है। वो सांसद है। मुझे लगता है पूरे मामले पर कार्रवाई होनी चाहिए और स्वाति को बाहर निकलकर आना चाहिए। वो झाँसी की रानी है, वो मर्दानी है, वो डर नहीं सकती है। अब उसके ऊपर कौन सा प्रेशर डाला गया है ये नहीं पता।”

वह कहते हैं- “मैं नहीं मान सकता कि जिसने लाखों महिलाओं की आवाज को उठाया हो वो चुप रहे।” अपने बयान में नवीन ने उन लोगों को भी घेरा तो एक समय में तो महिला सम्मान आदि की बातें करते हैं दूसरी तरफ उन्हीं के घर में मारपीट होती है। वह दोहराते हैं- वो जगह गटर हाउस है, वहाँ बहुत गंदगी है। स्वाति इस मामले में आगे आए ताकि लाखों महिलाओं को संदेश जाए।

उन्होंने दिल्ली पुलिस से भी इस मामले में स्वत: संज्ञान लेने को कहा है। वो सवाल उठाते हैं कि इतनी बड़ी घटना पर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है।

इस वीडियो में नवीन ने बताया कि उनकी घटना के बाद स्वाति से कोई बात नहीं हुई है। दोनों का तलाक 2020 में हुआ था और तब से वो दोनों अलग हैं। इस मामले में वो इसलिए बोल रहे हैं क्योंकि ये एक महिला का मामला है, जिनके साथ सीएम हाउस में बदसलूकी हुई है।

उन्होंने कहा कोई सामान्य व्यक्ति के घर ऐसा होता तो उसको पुलिस उठा लेती, तो फिर सीएम पर क्यों नहीं, जाँच पड़ताल तो हो। उन्होंने कहा कि वो सामान्य रूप से इस बात को कह रहे हैं कि अगर इस मामले में उनसे किसी ने भी मदद माँगी तो वो मदद को पूरी तरह से तैयार हैं। उनके हिसाब से बहुत बड़ी घटना है।

नवीन ने आखिर में ये भी कहा कि वो आम आदमी पार्टी वालों को 2008 से जानते हैं। वो दावा करते हैं कि उनसे ज्यादा इस पार्टी के बारे शायद ही कोई जानता हो। वो कहते हैं कि अभी ये मामला उनके लिए व्यक्तिगत नहीं है, लेकिन अगर व्यक्तिगत बना तो फिर वो अपने हिसाब से इसे देखेंगे। उन्होंने आप सांसद संजय सिंह को केजरीवाल का तोता बताया। साथ ही आरोप लगाया कि पूरे मामले में लीपापोती की जा रही है। जयहिंद के अनुसार, “संजय सिंह को पहले ही इस घटना के बारे में पता था कि ऐसा होगा, उसे ये भी पता है क्या-क्या हुआ है। बाकी सारी चीजें वो सिर्फ एक्टिंग कर रहा है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कनाडा, अमेरिका, अरब… AAP ने करोड़ों का लिया चंदा, लेकिन देने वालों की पहचान छिपा ली: ED का खुलासा, खालिस्तानी आतंकी पन्नू ने भी...

ED की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि AAP ने ₹7.08 करोड़ की विदेशी फंडिंग में गड़बड़ियाँ की हैं। इस रिपोर्ट को गृह मंत्रालय को भेजा गया है।

₹200 की चोरी पर 1 साल की जेल, 2 इंजीनियरों को कुचलने पर रईसजादे को बेल, कहा- हादसे पर लिखो लेख: यह न्याय है...

ऑपइंडिया से बात करते हुए अधिवक्ता शशांक शेखर झा ने पूछा कि पुलिस ने FIR में 304 की जगह कमजोर धारा 304A क्यों लगाई? उन्होंने कहा कि इस मामले में गलत संदेश गया है, अगर भीड़ ने न्याय व्यवस्था पर भरोसा करने की बजाए खुद हिंसा करना शुरू कर दिया तो ये ठीक नहीं होगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -