Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'₹1 करोड़ का कर्ज, भाई की नौकरी गई, माफ़ी माँगने गए परिवार को भगा...

‘₹1 करोड़ का कर्ज, भाई की नौकरी गई, माफ़ी माँगने गए परिवार को भगा दिया’: जेल से निकले मनीष कश्यप ने साझा किया दर्द, बोले – बिहार में बनाऊँगा ‘कुरुक्षेत्र’

मनीष कश्यप ने इस वीडियो में कहा, "अरे क्यों किए मेरे साथ ऐसा, मुझे जेल डालते, मेरे परिवार के साथ ऐसा क्यों किया? मेरे परिवार को क्यों परेशान किए? मेरे भाई की नौकरी छूट गई।"

YouTuber त्रिपुरारी तिवारी उर्फ मनीष कश्यप ने जेल से रिहा होने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार को आड़े हाथों लेना शुरू कर दिया है। उन्होंने सीएम नीतीश और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर तीखा हमला बोला है।

मनीष कश्यप 9 महीने तमिलनाडु और बिहार की जेलों में कैद रहने के बाद 23 दिसंबर, 2023 को बेउर जेल से रिहा हुए। इसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर आकर अपना दर्द और परेशानी साझा करते हुए नीतीश सरकार को जमकर कोसा। इस वीडियो में न सिर्फ उन्होंने अपना दर्द साझा किया है, बल्कि नीतीश सरकार की नाकामियों पर भी बात की है।

मनीष कश्यप ने इस वीडियो में कहा, “अरे क्यों किए मेरे साथ ऐसा, मुझे जेल में डालते, मेरे परिवार के साथ ऐसा क्यों किया? मेरे परिवार को क्यों परेशान किए? मेरे भाई की नौकरी छूट गई।”

वो आगे कहते हैं, “मैं आज कम से कम 1 करोड़ रुपए कर्जा में हूँ। मेरा परिवार और मेरा भाई जब माफी माँगने गया तो आप लोगों ने कहा भगा दो इसे। मेरा परिवार डर गया था क्योंकि आप लोगों ने मेरे ऊपर NSA लगा दिया था। आपलोगों ने मुझे भारत का सबसे बड़ा अपराधी बना दिया।”

मनीष कश्यप ने आगे कहा, “एक कुरुक्षेत्र श्रीकृष्ण ने हरियाणा में बनाया था और एक कुरुक्षेत्र मैं बिहार में बनाऊँगा।” मनीष कश्यप ने बिहार के प्रति अपने लगाव की बात करते हुए कहा कि जैसे माँ अपने बच्चे को बगैर किसी भेदभाव के प्यार करती है वो भी बिहार को वैसे ही प्यार करते हैं।

यही नहीं बीजेपी सांसद मनोज तिवारी से मुलाकात का एक वीडियो अपने एक्स हैंडल पर शेयर करते हुए मनीष कहते नजर आ रहे हैं कि उन्हें पता नहीं था कि दिल्ली में उनके एक बड़े भाई बैठे हुए हैं।

वो आगे कहते हैं, “हमने तो बीजेपी सरकार से भी अनेकों सवाल किए हैं, बहुत सारे वीडियो बनाए हैं, लेकिन बीजेपी वालों ने मेरी गर्दन दबाने का प्रयास नहीं किया।” उन्होंने कहा, “मेरे 5000 वीडियो हैं, जिनमें से कई मैंने भाजपा शासित प्रदेशों में घूम-घूम कर भी बनाए हैं। YouTube पर सारे पड़े हुए हैं। सारे प्रमाण मौजूद हैं, कोई भी जाकर देख सकता है।”

मनीष कश्यप ने बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को अपने घर आने का आमंत्रण भी दिया, जिसे उन्होंने मंजूर भी किया। इस दौरान मनीष ने अपना दर्द भी उनसे साझा किया।

मनीष ने उनसे कहा, “मैं आपको उस घर में बुलाना चाहता हूँ जिस घर का कुर्की हुआ। 9 महीने बाद NSA मेरे ऊपर से हटा दिया गया। मेरा तो 9 महीना बर्बाद हो गया। कोर्ट ने कह दिया कि NSA गलत तरीके से लगाया गया। अगर NSA नहीं लगा होता तो मेरा 9 महीना बचता।”

उन्होंने आगे कहा, “मेरी इज्जत तार -तार कर दी गई, जिस घर को मेरे दादा जी ने बनाया था जो चीन के युद्ध में लड़े हैं मैं वो 4 बीघा जमीन दिखाऊँगा जो भारत सरकार ने इस युद्ध में लड़ने के दौरान मेरे दादाजी को दिया दी थी। मेरे घर से वो जमीन 3 किलोमीटर की दूरी पर है। मेरा पूरा क्षेत्र जानता है कि रामसागर तिवारी को ये सम्मान के रूप में दी गई है।”

बता दें कि मनीष कश्यप पर तमिलनाडु सरकार ने NSA लगाया था। यूट्यूबर कश्यप पर तमिलनाडु में बिहार के मजदूरों को लेकर कथित तौर पर फर्जी वीडियो शेयर करने का आरोप लगा था। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली हाईकोर्ट ने शिव मंदिर के ध्वस्तीकरण को ठहराया जायज, बॉम्बे HC ने विशालगढ़ में बुलडोजर पर लगाया ब्रेक: मंदिर की याचिका रद्द, मुस्लिमों...

बॉम्बे हाईकोर्ट ने मकबूल अहमद मुजवर व अन्य की याचिका पर इंस्पेक्टर तक को तलब कर लिया। कहा - एक भी संरचना नहीं गिराई जाए। याचिका में 'शिवभक्तों' पर आरोप।

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -