Thursday, August 5, 2021
Homeरिपोर्टMP में एक और BJP नेता की हत्या, प्लानिंग और साज़िश की बू

MP में एक और BJP नेता की हत्या, प्लानिंग और साज़िश की बू

हत्या को उस समय अंजाम दिया गया, जब वो मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। पुलिय द्वारा यह कयास लगाया जा रहा है कि हत्यारे पहले से ही उनके लिए घात लगाए बैठे थे

मध्य प्रदेश में एक और बीजेपी नेता की हत्या की कर दी गई है। मध्य प्रदेश के बरवानी ज़िले के बलवाड़ी-सेंधवा रोड पर बीजेपी नेता मनोज ठाकरे का शव मिला। सूचना मिलने पर पुलिस द्वारा घटना स्थल को सील कर दिया गया और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस के अनुसार ठाकरे के सिर को पत्थर से कुचला गया है।

बीजेपी मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे की हत्या को उस समय अंजाम दिया गया, जब वो मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। पुलिय द्वारा यह कयास लगाया जा रहा है कि हत्यारे पहले से ही उनके लिए घात लगाए बैठे थे।

भाजपा मंडल अध्यक्ष की इस बर्बर तरह से की गई हत्या के बाद पूरे क्षेत्र में आक्रोष का माहौल है। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मनोज ठाकरे की हत्या के बाद वहाँ जमकर नारेबाजी की। फ़िलहाल पुलिस मामले की जाँच में जुटी हुई है, जिससे हत्या के कारणों का पता लगाया जा सके।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में इससे पहले भी हत्या की ऐसी ही घटना हो चुकी है। कुछ दिनों पहले बीजेपी नेता प्रहलाद बंधवार की भी अज्ञात मोटरसाइकिल सवारों ने सिर में गोली मारकर हत्या कर दी थी। प्रहलाद मंदसौर नगर पालिका के अध्यक्ष थे। पुलिस के अनुसार उनकी हत्या करने के पीछे ज़मीनी विवाद की बात सामने आई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योनि, मूत्रमार्ग, गुदा, मुँह में लिंग प्रवेश से ही रेप नहीं… जाँघों के बीच रगड़ भी बलात्कार ही: केरल हाई कोर्ट

केरल हाई कोर्ट ने कहा कि महिला के शरीर का कोई भी हिस्सा, चाहे वह जाँघों के बीच की गई यौन क्रिया हो, बलात्कार की तरह है।

इस्लामी आक्रांताओं की पोल खुली, सेक्युलर भी बोले ‘जय श्री राम’: राम मंदिर से ऐसे बदली भारत की राजनीतिक-सामाजिक संरचना

राम मंदिर के निर्माण से भारत के राजनीतिक व सामाजिक परिदृश्य में आए बदलावों को समझिए। ये एक इमारत नहीं बन रही है, ये देश की संस्कृति का प्रतीक है। वो प्रतीक, जो बताता है कि मुग़ल एक क्रूर आक्रांता था। वो प्रतीक, जो हमें काशी-मथुरा की तरफ बढ़ने की प्रेरणा देता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,048FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe