Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाजचुनावी मौसम में बरस रहा सोना, EC की धरपकड़ में हाथ आई करोड़ों की...

चुनावी मौसम में बरस रहा सोना, EC की धरपकड़ में हाथ आई करोड़ों की नकदी

कुछ दिन पहले चुनाव आयोग के फ्लाइंग स्क्वाड ने वाहन चैंकिंग के दौरान ₹2.10 करोड़ की नकदी जब्त की थी। ये पैसे वीसीके पार्टी के पूर्व सचिव के पास से बरामद किए गए थे।

शुक्रवार (अप्रैल 6, 2019) को चुनाव आयोग के निगरानी दस्ते ने तमिलनाडु के कोयंबटूर में 146 किलो सोने की ईंटें जब्त की हैं। यह सोना पुलीकुलम के नज़दीक एक वैन से बिना वैध दस्तावेज़ों के बरामद किया गया है। खबरों की मानें तो अधिकारी इस मामले में अभी अधिक जानकारियों जुटाने का प्रयास कर रहे हैं।

लोकसभा चुनाव करीब होने के कारण इन दिनों चुनाव आयोग में काफ़ी सक्रियता देखने को मिल रही है। इस घटना से पूर्व भी चुनाव आयोग चेकिंग के दौरान जगह-जगह पैसा, शराब, और नशीले पदार्थ जब्त कर चुका है। याद दिला दें कि अभी कुछ दिन पहले चुनाव आयोग के फ्लाइंग स्क्वाड ने वाहन चैंकिंग के दौरान ₹2.10 करोड़ की नकदी जब्त की थी। ये पैसे वीसीके पार्टी के पूर्व सचिव के पास से बरामद किए गए थे।

वहीं, मंगलवार (अप्रैल 2, 2019) को तमिलनाडु के रामनाथपुरम में चेकिंग के दौरान फ्लाइंग स्क्वाड ने वाहन से ₹6,65,000 जब्त किए। इस मामले में भी इन पैसों को लेकर कोई वैध दस्तावेज़ नहीं पेश किए गए थे।

यहाँ बता दें कि भारी मात्रा में सोना पकड़ने का यह पहला मामला नहीं हैं। 1 अप्रैल को भी तमिलनाडु में 132 किलो सोना फ्लाइंग स्क्वाड द्वारा एक वैन से जब्त किया गया था जिसकी कीमत ₹40 करोड़ के करीब थी। हालाँकि बाद में अधिकारियों द्वारा इस बात की जानकारी दी गई थी कि यह सोना टी नगर की एक प्रमुख ज्वैलरी फर्म का है। इसके अलावा देश में महाराष्ट्र और हैदराबाद जैसे अन्य राज्यों में भी सोना और कई करोड़ धनराशि जब्त की जाने की घटनाएँ सामने आ रही हैं।

DRI ने रायगढ़ के न्हावा शेवा में 3 अप्रैल को हिंद टर्मिनल CFS पर रखे 5 कंटेनरों की जाँच की थी। इसमें DRI को 19 किलो की 162 सोने की ईंट बरामद हुई जिनकी कीमत ₹5.54 करोड़ है। इम्पोर्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह माल दुबई से यहाँ पहुँचा था।

इसके अलावा हैदराबाद पुलिस ने भी इस महीने ₹9.45 करोड़ की धनराशि, ₹9.15 लाख का सोना, 135 लीटर शराब, गाँजे और गुटके से भरे 11 बैग जब्त किए है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान: चुनाव में कर्जमाफी का वादा… अब मुकर गई कॉन्ग्रेसी सरकार, किसानों को मिल रहे कुर्की के नोटिस

प्रदेश में तमाम किसान हैं जिन्होंने 1 लाख रुपए से लेकर साढ़े 3 लाख रुपए तक लोन लिया था, और अब उनके पास नोटिस गए हैं। बैंक उन्हें कुर्की के नोटिस भेज रहा है।

सिद्धू के नाम ऑडियो, कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता की आत्महत्या: कहा – ‘पार्टी को 30 साल दिए, शादी भी नहीं… कोई फायदा नहीं’

ऑडियो के मुताबिक किसी प्लॉट संबंधी एक मामले में बाजवा को फँसाने की तैयारी चल रही थी, इसी से आहत होकर उन्होंने आत्महत्या का फैसला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,980FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe