Saturday, March 6, 2021
Home रिपोर्ट राष्ट्रीय सुरक्षा कश्मीर के पत्थरबाज़ों को चिन्हित करने में IIT मद्रास करेगा सेना की मदद

कश्मीर के पत्थरबाज़ों को चिन्हित करने में IIT मद्रास करेगा सेना की मदद

आईआईटी मद्रास के विद्यार्थियों ने ऐसी तकनीक विकसित की है जिससे कश्मीर में पत्थरबाजों की भीड़ के व्यवहार का अध्ययन किया जा सकता है और उससे बचने के उपाय खोजे जा सकते हैं।

जब भीड़ कहीं एकत्रित होती है तब उसकी कार्यशैली का कोई फिक्स पैटर्न नहीं होता। कोई यह नहीं बता सकता कि भीड़ का अमुक व्यक्ति किस समय क्या करेगा। भीड़ की प्रतिक्रिया एकदम रैंडम होती है वैसे ही जैसे पदार्थ के कुछ कणों का व्यवहार अप्रत्याशित होता है जिसे ‘ब्राउनियन मोशन’ कहा जाता है। हालाँकि पदार्थ के कणों के रैंडम व्यवहार को मापने के लिए गणित का सहारा लिया जाता रहा है लेकिन मनुष्यों की भीड़ कब क्या करेगी इसकी भविष्यवाणी करना कठिन है।

युद्ध में किसकी सेना का पलड़ा भारी होगा यह गेम थ्योरी बता सकती है। बैक्टीरिया की संख्या कब और कितनी तेज़ी से बढ़ेगी यह सांख्यिकीय विश्लेषण से ज्ञात किया जा सकता है। लेकिन किसी समूह में जब एक से अधिक चीजें अप्रत्याशित व्यवहार करती हैं तब उनका सामूहिक व्यवहार कैसा होगा यह पता लगाना कठिन है वह भी तब जब समूह की प्रत्येक इकाई को मानव मस्तिष्क नियंत्रित कर रहा हो।

गत कुछ दशकों में विकसित हुई कंप्यूटर विज्ञान की शाखा ‘आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस’ में इतनी प्रगति हुई है कि अब भीड़ जैसे सिस्टम के व्यवहार की भविष्यवाणी भी की जा सकती है। आईआईटी मद्रास के विद्यार्थियों ने ऐसी तकनीक विकसित की है जिससे कश्मीर में पत्थरबाज़ों की भीड़ के व्यवहार का अध्ययन किया जा सकता है और उससे बचने के उपाय खोजे जा सकते हैं।  

आईआईटी मद्रास में सेंटर फॉर इनोवेशन के स्टूडेंट एग्जीक्यूटिव हेड राघव वैद्यनाथन के अनुसार ‘एक्शन रिकग्निशन एल्गोरिदम’, ‘क्राउड डेंसिटी मैप’ और सीसीटीवी द्वारा प्राप्त लाइव इमेज को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक से जोड़ कर कश्मीर में पत्थरबाजी के दौरान होने वाली अप्रत्याशित घटनाओं का पूर्वानुमान लगाया जा सकता है और उन घटनाओं से निजात पाने के उपाय थलसेना द्वारा पहले से किए जा सकते हैं।

‘एक्शन रिकग्निशन एल्गोरिदम’ एक प्रकार का एल्गोरिदम है जो मनुष्य की हरकतों का संज्ञान लेने के लिए प्रयोग किया जाता है। ‘क्राउड डेंसिटी मैप’ से भीड़ का घनत्व अथवा आकार मापा जा सकता है। सीसीटीवी फुटेज से पत्थरबाजों की सटीक पहचान की जा सकती है। इन तीनों के मेल से यह बताया जा सकता है कि अमुक पत्थरबाज यदि दोबारा दिखाई दे तो वह कैसी प्रतिक्रिया कर सकता है।

आईआईटी मद्रास के चार विद्यार्थियों ने नई दिल्ली में आयोजित हुए आर्मी टेक्नोलॉजी सेमिनार-2019 (ARTECH) में भाग लेते हुए इस खोज के बारे में बताया जिसपर थलसेना के उच्च अधिकारियों द्वारा सकारात्मक प्रतिक्रिया आई। थलेसना का विभाग ‘आर्मी डिज़ाइन ब्यूरो’ इस प्रकार के सेमिनार करवाता रहता है जिससे सेना और तकनीकी संस्थानों के बीच विचारों का आदान प्रदान होता रहे।  

एक प्रश्न यह भी है कि क्या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसी तकनीक आतंकवाद और पत्थरबाजी जैसी घटनाओं को रोकने में वास्तव में कारगर सिद्ध होगी। यहाँ बताते चलें कि आधुनिक तकनीक जैसे बिग डेटा एनालिटिक्स की सहायता से आतंकवादी घटनाओं का पूर्वानुमान लगाने के प्रयास पहले भी किये जा चुके हैं।

मेरीलैंड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर वी एस सुब्रमण्यन ने ऐसी एल्गोरिदम की खोज की है जिससे उन्होंने इंडियन मुजाहिदीन और लश्कर ए तय्यबा जैसे संगठनों की हरकतों की भविष्यवाणी की थी। वे इसे SOMA और Temporal Probabilistic Rules कहते हैं। इनकी सहायता से प्रोफेसर सुब्रमण्यन ने 2013 में नरेंद्र मोदी की पटना रैली में हुए बम धमाकों की भविष्यवाणी पहले ही कर दी थी।

यदि इस विषय पर निरंतर शोध होता रहा तो आईआईटी मद्रास के विद्यार्थियों द्वारा किया गया प्रयास भविष्य में सफल हो सकता है और थलसेना उनके द्वारा विकसित की गई तकनीक को अपना सकती है। यह इस पर निर्भर करेगा कि रियल टाइम सिचुएशन में आईआईटी के विद्यार्थियों द्वारा बनाया गया एल्गोरिदम कितने सटीक परिणाम दे पाता है। थलसेना द्वारा तकनीकी संस्थानों के विद्यार्थियों के साथ ARTECH जैसे संवाद और प्रोत्साहन भविष्य में निश्चित ही फलदायी होंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नंदीग्राम में ममता और शुभेंदु के बीच महामुकाबला: बीजेपी ने पहले और दूसरे फेज के लिए 57 कैंडिडेट्स के नामों का किया ऐलान

पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने 57 सीटों पर कैंडिडेट्स की लिस्ट जारी कर दी है। नंदीग्राम सीट से ममता के अपोजिट शुभेंदु अधिकारी को टिकट दिया गया है।

‘एक बेटा तो चला गया, कोर्ट-कचहरी में फँसेंगे तो वो बाकियों को भी मार देंगे’: बंगाल पुलिस की क्रूरता के शिकार एक परिवार का...

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा आम बात है। इसी तरह की एक घटना बैरकपुर थाना क्षेत्र के भाटपाड़ा में जून 25, 2019 को भी हुई थी, जब रिलायंस जूट मिल पर कुछ गुंडों ने बम फेंके थे।

‘40 साल के मोहम्मद इंतजार से नाबालिग हिंदू का हो रहा था निकाह’: दिल्ली पुलिस ने हिंदू संगठनों के आरोपों को नकारा

दिल्ली के अमन विहार में 'लव जिहाद' के आरोपों के बाद धारा-144 लागू कर दी गई है। भारी पुलिस बल की तैनाती है।

मनसुख हिरेन का शव लेने से परिजनों का इनकार, कहा- पोस्टमार्टम रिपोर्ट सार्वजनिक हो, मौत का कारण बताएँ: रिपोर्ट

मनसुख हिरेन का शव लेने से परिजनों ने इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट सार्वजनिक किए जाने के बाद ही वे शव लेंगे।

राकेश टिकैत से सवाल पूछने पर ‘किसानों’ ने युवती को धमकाया, किसी ने नाम पूछा तो किसी ने छीन ली माइक: देखें वीडियो

नए कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार का विरोध करने के लिए धनसा राजमार्ग पर डेरा डाले तथाकथित किसानों ने एक युवा महिला के सवाल करने पर इस कदर तिलमिला गए कि कोई उसका नाम पूछने लगा तो किसी ने माइक ही छीन ली।

‘वे पेरिस वाले बँगले की चाभी खोज रहे थे, क्योंकि गर्मी की छुट्टियाँ आने वाली हैं’: IT रेड के बाद तापसी ने कहा- अब...

आयकर छापों पर चुप्पी तोड़ते हुए तापसी पन्नू ने बताया है कि मुख्य रूप से तीन चीजों की खोज की गई।

प्रचलित ख़बरें

माँ-बाप-भाई एक-एक कर मर गए, अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होने दिया: 20 साल विष्णु को किस जुर्म की सजा?

20 साल जेल में बिताने के बाद बरी किए गए विष्णु तिवारी के मामले में NHRC ने स्वत: संज्ञान लिया है।

‘शिवलिंग पर कंडोम’ से विवादों में आई सायानी घोष TMC कैंडिडेट, ममता बनर्जी ने आसनसोल से उतारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। इसमें हिंदूफोबिक ट्वीट के कारण विवादों में रही सायानी घोष का भी नाम है।

16 महीने तक मौलवी ‘रोशन’ ने चेलों के साथ किया गैंगरेप: बेटे की कुर्बानी और 3 करोड़ के सोने से महिला का टूटा भ्रम

मौलवी पर आरोप है कि 16 माह तक इसने और इसके चेले ने एक महिला के साथ दुष्कर्म किया। उससे 45 लाख रुपए लूटे और उसके 10 साल के बेटे को...

‘मैं 25 की हूँ पर कभी सेक्स नहीं किया’: योग शिक्षिका से रेप की आरोपित LGBT एक्टिविस्ट ने खुद को बताया था असमर्थ

LGBT एक्टिविस्ट दिव्या दुरेजा पर हाल ही में एक योग शिक्षिका ने बलात्कार का आरोप लगाया है। दिव्या ने एक टेड टॉक के पेनिट्रेटिव सेक्स में असमर्थ बताया था।

‘जाकर मर, मौत की वीडियो भेज दियो’ – 70 मिनट की रिकॉर्डिंग, आत्महत्या से ठीक पहले आरिफ ने आयशा को ऐसे किया था मजबूर

अहमदाबाद पुलिस ने आयशा और आरिफ के बीच हुई बातचीत की कॉल रिकॉर्ड्स को एक्सेस किया। नदी में कूदने से पहले आरिफ से...

‘वे पेरिस वाले बँगले की चाभी खोज रहे थे, क्योंकि गर्मी की छुट्टियाँ आने वाली हैं’: IT रेड के बाद तापसी ने कहा- अब...

आयकर छापों पर चुप्पी तोड़ते हुए तापसी पन्नू ने बताया है कि मुख्य रूप से तीन चीजों की खोज की गई।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,954FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe