Monday, October 18, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयराम मंदिर भूमिपूजन दुनिया के सबसे ज्यादा देखे जाने वाले कार्यक्रमों में शुमार, पाकिस्तान...

राम मंदिर भूमिपूजन दुनिया के सबसे ज्यादा देखे जाने वाले कार्यक्रमों में शुमार, पाकिस्तान को लताड़

यूएसए, यूके, फ्रांस, इटली, नीदरलैंड, जपान, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, सऊदी अरब, ओमान, कुवैत, नेपाल, पकिस्तान, बांग्लादेश, मलेशिया, फिलीपींस में इसे सबसे ज्यादा लोगों ने देखा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में अयोध्या में हुए राम मंदिर भूमिपूजन कार्यक्रम का लाइव टेलीकास्ट हुआ और पूरी दुनिया में भारी संख्या में लोगों ने इसे लाइव देखा। बुधवार (अगस्त 5, 2020) को हुए इस कार्यक्रम को यूके, अमेरिका, कनाडा, इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया, थाईलैंड और नेपाल सहित कई देशों में विभिन्न टीवी चैनलों द्वारा इसका लाइव प्रसारण किया गया। राम मंदिर भूमिपूजन कार्यक्रम का दूरदर्शन ने लाइव प्रसारण किया था।

दूरदर्शन ने कई कैमरों का प्लेसमेंट कर इस कार्यक्रम का भव्य प्रसारण किया। आउटसाइड ब्रॉडकास्टिंग (OB) और डिजिटल सैटेलाइट न्यूज़ गैदरिंग (DSNG) वैन्स के जरिए प्रसारण को और भव्य बनाया गया। यूट्यूब पर भी करोड़ों लोगों ने इस प्रसारण को देखा। यूएसए, यूके, फ्रांस, इटली, नीदरलैंड, जपान, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, सऊदी अरब, ओमान, कुवैत, नेपाल, पकिस्तान, बांग्लादेश, मलेशिया, फिलीपींस में इसे सबसे ज्यादा लोगों ने देखा

दूरदर्शन ने बताया कि भारत में 200 चैनलों ने राम मंदिर भूमिपजन कार्यक्रम का प्रसारण किया। इस कार्यक्रम के सिग्नल को ANI के माध्यम से 1200 स्टेशनों को डिस्ट्रीब्यूट किया गया और APTN के माध्यम से विश्व के 450 मीडिया संस्थानों को दिया गया। एशिया पैसिफिक देशों को दीदी न्यूज़ ने इस कार्यक्रम के फुटेज अलग से उपलब्ध कराए। अयोध्या में हुए इस कार्यक्रम का साक्षी पूरा देश बना और पूरे विश्व में इसका प्रसारण हुआ।

इधर पाकिस्तान को भी भारत ने राम मंदिर भूमिपूजन पर उँगली उठाने के लिए कड़ी लताड़ लगाई है। भारत ने पाकिस्तान को दो टूक कहा है कि उसे भारत के आंतरिक मुद्दों पर बोलने से बचना चाहिए और सांप्रदायिकता को शह नहीं देना चाहिए। विदेश मंत्रालय ने कहा कि जो देश सीमा पर आतंकवाद को बढ़ावा देता है और अपने ही देश के अल्पसंख्यकों पर अत्याचार करते है, उसके द्वारा इस तरह की टिप्पणी करना अफसोसजनक है, लेकिन ये आश्चर्यजनक नहीं है।

बता दें कि पाकिस्तान ने राम मंदिर भूमिपूजन के विरोध के लिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले को भी त्रुटिपूर्ण करार दे दिया था। उसने इसे बहुसंख्यकवाद और न्याय पर आस्था की जीत के रूप में प्रदर्शित किया था। पाकिस्तान ने कहा था कि आज के भारत में मजहब और मस्जिदों पर हमले बढ़ रहे हैं। कोरोना की चर्चा करते हुए पाकिस्तान ने कहा था कि भारत में मजहब विशेष को हाशिए पर धकेला जा रहा है। भारत ने साफ कर दिया है कि ये हमारा अंदरूनी मामला है।

उधर पाकिस्‍तान के रेल मंत्री शेख रशीद ने कहा है कि भारत अब धर्मनिरपेक्ष देश नहीं रहा बल्कि राम नगर में तब्‍दील हो गया है। रशीद हमेशा विवादों में रहने के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने कहा कि पुराने समय के धर्मनिरपेक्ष देश अब दुन‍िया भर में खत्‍म हो गए हैं और भारत अब ‘श्रीराम के हिंदुत्‍व’ के देश में तब्दील हो गया है। उन्होंने राम मंदिर भूमिपूजन की तारीख को अनुच्छेद 370 के 1 वर्ष पूरे होने से जोड़ते हुए कहा कि पीएम मोदी ने जानबूझ कर ऐसा किया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कश्मीर घाटी में गैर-कश्मीरियों को सुरक्षाबलों के कैंप में शिफ्ट करने की एडवाइजरी, आईजी ने किया खंडन

घाटी में गैर-कश्मीरियों को सुरक्षाबलों के कैंप में शिफ्ट करने की तैयारी। आईजी ने किया खंडन।

दुर्गा पूजा जुलूस में लोगों को कुचलने वाला ड्राइवर मोहम्मद उमर गिरफ्तार, नदीम फरार, भीड़ में कई बार गाड़ी आगे-पीछे किया था

भोपाल में एक कार दुर्गा पूजा विसर्जन में शामिल श्रद्धालुओं को कुचलती हुई निकल गई। ड्राइवर मोहम्मद उमर गिरफ्तार। साथ बैठे नदीम की तलाश जारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,546FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe