Tuesday, June 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयऑस्ट्रेलिया में मेलबोर्न की सड़कों पर खालिस्तानी आतंकी भिंडरावाले का बैनर: भारतीयों ने प्रशासन...

ऑस्ट्रेलिया में मेलबोर्न की सड़कों पर खालिस्तानी आतंकी भिंडरावाले का बैनर: भारतीयों ने प्रशासन को लिखा पत्र- बंद हो आतंक का महिमामंडन

आनंद पाल ने बताया, "यह आतंकवादी खालिस्तान अलगाववादी आंदोलन के नाम पर भारतीय के पंजाब में मेरे दो चाचाओं की हत्या के लिए जिम्मेदार था।" उन्होंने कहा कि भिंडरावाले की तस्वीर देखकर वे इतने दुखी हो गए बीमारी का बहाना बनाकर वे काम पर जाने के बजाय वापस घर लौट गए।

ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख शहर मेलबर्न (Melbourne, Australia) में बुधवार (27 अप्रैल 2022) को सड़क के किनारे खालिस्तानी आतंकी ‘जरनैल सिंह भिंडरावाले’ (Jarnail Singh Bhindranwale) का बड़ा-सा बैनर लगा दिया। इसमें भिंडरावाले की एक बड़ी तस्वीर लगी थी और उसके आतंकी गतिविधियों का महिमामंडन किया गया था। इसको देखकर भारतीय समुदाय के लोगों में गुस्सा फैल गया और उन्होंने इसकी सूचना विक्टोरिया पुलिस और स्थानीय निकाय के अधिकारियों को दी।

द ऑस्ट्रेलिया टुडे के अनुसार, आनंद पाल मेलबर्न हवाईअड्डे के पास एक एक सम्मेलन में अपनी गाड़ी से जा रहे थे। इसी दौरान सनशाइन अस्पताल के पास लगे इस बिलबोर्ड पर उनकी नजर पड़ी। पाल ने बताया कि इस तस्वीर को देखकर उन्हें अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हुआ।

आनंद पाल ने बताया, “यह आतंकवादी खालिस्तान अलगाववादी आंदोलन के नाम पर भारतीय के पंजाब में मेरे दो चाचाओं की हत्या के लिए जिम्मेदार था।” उन्होंने कहा कि भिंडरावाले की तस्वीर देखकर वे इतने दुखी हो गए बीमारी का बहाना बनाकर वे काम पर जाने के बजाय वापस घर लौट गए।

नाम नहीं छापने की शर्त पर एक स्थानीय व्यक्ति ने ऑस्ट्रेलिया टुडे को बताया कि मेलबर्न में खालिस्तान समर्थकों के बहुत से रेस्टोरेेंट और स्टोर हैं। वहाँ खड़ी कई कारों पर ‘आई लव भिंडरावाले और खालिस्तान जिंदाबाद’ के स्टिकर लगाए देखे गए हैं। इस संबंध में बिलबोर्ड लगाने वाली कंपनी को एक पत्र भी भेजा गया है।

विरोध में स्थानीय निकाय द्वारा भेजा गया पत्र (साभार: ऑस्ट्रेलिया टुडे)

पत्र में कहा गया है, “इस तरह के बिलबोर्ड लगाना आतंकी और कट्टरपंथी विचारधारा को आश्रय देने की तरह है। अगर आपको नहीं पता है तो बता देें कि खालिस्तान मूवमेंट आतंक आधारित मूवमेंट है, जो एक अलग देश की माँग करता है। बिलबोर्ड में दिखाया गया जरनैल सिंह भिंडरावाले न सिर्फ भारत सरकार द्वारा आतंकवादी घोषित है, बल्कि कई विदेशी सरकारों ने भी इसे आतंकी घोषित किया है।”

पत्र में अलगाववाद को बढ़ावा देने वाले इस तरह के किसी भी किसी भी विज्ञापन या प्रदर्शन को तुरंत रोकने की माँग की गई है। साथ ही मेलबर्न में धार्मिक घृणा फैलाने वालों की निंदा की गई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -