Thursday, September 29, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयखालिस्तानियों ने टोरंटो के स्वामीनारायण मंदिर पर किया हमला: अंदर घुसकर तोड़फोड़, दीवारों पर...

खालिस्तानियों ने टोरंटो के स्वामीनारायण मंदिर पर किया हमला: अंदर घुसकर तोड़फोड़, दीवारों पर लिखा- ‘खालिस्तान जिंदाबाद, हिंदुस्तान मुर्दाबाद’ ; Video वायरल

स्वामीनारायण मंदिर में तोड़फोड़ करने के बाद उपद्रवियों ने मंदिर की दीवारों पर 'खालिस्तान जिंदाबाद-हिंदुस्तान मुर्दाबाद' के नारे लिखे। इन नारों को घटनास्थल से सामने आई वीडियोज में भी देखा जा सकता है।

टोरंटो (Toronto) में बुधवार (14 सितंबर 2022) को खालिस्तानी आतंकवादियों ने भारत विरोधी नारे लिखकर बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर (BAPS Swaminarayan Temple) में तोड़फोड़ की। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है। वीडियो में मंदिर की दीवारों पर ‘खालिस्तान जिंदाबाद, हिंदुस्तान मुर्दाबाद’ (Khalistan Zindabad, Hindustan Murdabad) के नारे लिखे हुए दिखाई दे रहे हैं।

भारत ने इस घटना को घृणित अपराध करार देते हुए कनाडाई अधिकारियों से आरोपितों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई करने का आग्रह किया है। ओटावा स्थित भारतीय उच्चायोग ने गुरुवार (15 सितंबर 2022) को ट्वीट किया, “हम टोरंटो के बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर में भारत विरोधी नारे लिखे जाने की घटना की कड़ी निंदा करते हैं। कनाडा के अधिकारियों से घटना की जाँच करने और आरोपितों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई करने का अनुरोध करते हैं।”

ब्रैम्पटन के मेयर पैट्रिक ब्राउन (Patrick Brown, Mayor of Brampton) ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट किया, “कनाडा के GTA में इस प्रकार की घृणा का कोई स्थान नहीं है। हम उम्मीद करते हैं कि इस घटना में शामिल आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।”

हिंदू मंदिरों को निशाना बनाने से कनाडाई चिंतित

वहीं, कनाडाई सांसद चंद्र आर्या ने कहा, “कनाडाई हिंदू मंदिरों को निशाना बनाने वाले इस घृणित अपराध को लेकर काफी चिंतित हैं। कनाडाई खालिस्तानी चरमपंथियों द्वारा टोरंटो में BAPS स्वामीनारायण मंदिर को तोड़े जाने की सभी को निंदा करनी चाहिए। यह सिर्फ एक घटना नहीं है। कनाडा के हिंदू मंदिरों को हाल के दिनों में इस तरह के कई घृणा अपराधों का सामना करना पड़ा है।”

बता दें कि यह पहला मामला नहीं है, जब कनाडा में हिंदू मंदिरों को चरमपंथियों ने निशाना बनाया है। इस साल फरवरी में भी टोरंटो में छह हिंदू मंदिरों पर हमला किया गया था। यहाँ तक कि उपद्रवी दान पेटियों से नकदी, भगवान की मूर्तियाँ और उन्हें चढ़ाए गए आभूषण भी चोरी करके ले गए थे। मंदिरों को निशाना बनाने वाली ये घटनाएँ 15 जनवरी को जीटीए शहर के ब्रैम्पटन में श्री हनुमान मंदिर में तोड़-फोड़ के साथ शुरू हुई थी। तभी से उपद्रवियों ने जमकर उत्पात मचाया हुआ है। यही नहीं, उन्होंने 25 जनवरी, 2022 को ब्रैम्पटन में माँ चिंतपूर्णी के मंदिर को भी तोड़ दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सरकारी अधिकारी से लेकर PHD होल्डर, लाइब्रेरियन से लेकर तकनीशियन तक’: PFI में शामिल थे कई नामी लोग; ट्विटर ने अकॉउंट बंद किया, वेबसाइट...

प्रतिबंधित PFI के शीर्ष पदों को पूर्व सरकारी कर्मचारी, लाइब्रेरियन और पीएचडी होल्डर संभाल रहे थे। अब इसके सोशल मीडिया अकॉउंट बंद हो गए हैं।

दीपक त्यागी की सिर कटी लाश, हत्या पशुओं की गर्दन काटने वाले छूरे से: ‘दूसरे समुदाय की लड़की से प्रेम’ एंगल को जाँच रही...

मेरठ में दीपक त्यागी की गला काट कर हत्या। मृतक का दूसरे समुदाय की एक लड़की (हेयर ड्रेसर की बेटी) से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,030FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe