Thursday, June 13, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबाढ़ से पाकिस्तान को अब तक ₹44000 करोड़ का नुकसान, 1030 की मौत: 500...

बाढ़ से पाकिस्तान को अब तक ₹44000 करोड़ का नुकसान, 1030 की मौत: 500 रुपए के पार पहुँचा 1 Kg टमाटर का दाम, साफ़ हुए गाँव के गाँव

टमाटर 500 रुपए किलो बिक रहा है (पाकिस्तान मुद्रा में)। वहीं प्याज 300 रुपए किलो और नींबू 400 रुपए किलो के भाव से बिक रहा है, क्योंकि सप्लाई चेन पूरी तरह टूटा हुआ है।

पाकिस्तान फ़िलहाल भयंकर बाढ़ से जूझ रहा है और मृतकों की संख्या 1030 के पार हो गई है। इससे फल-सब्जियों के दाम भी आसमान छू रहे हैं। जून के मध्य से ही इस्लामी मुल्क बाढ़ से जूझ रहा है, लेकिन अब तक वहाँ की सरकारें और प्रशासन इसे नियंत्रित करने व राहत कार्य में पूरी तरह विफल रहा है। पिछले 1 दिन में ही 100 से अधिक लोग मौत के गाल में समा हैं। दक्षिण-पूर्वी प्रांत सिंध और उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र खैबर पख्तूनख्वा में सबसे ज्यादा तबाही मच रही है।

आने वाले समय में सिंध में और भारी तबाही मच सकती है, क्योंकि पानी की नई लहर आने की आशंका है। सिंधु नदी के कारण लोगों को सबसे ज्यादा खतरे का सामना करना पड़ रहा है। कई वर्षों से पाकिस्तान में नहरों की मरम्मत नहीं हुई है, जिसके बाद उन्होंने जवाब दे दिया है और पानी की धार को झेल नहीं पा रहे। लाखों घर ध्वस्त हो गए हैं और गाँव के गाँव साफ़ हो गए हैं। खैबर पख्तूनख्वा में हजारों लोग सरकारी राहत कैंपों में रहने को मजबूर हैं।

ये क्षेत्र पूरी तरह बाकी के पाकिस्तान से कट ही चुका है। हजारों लोग पैदल ही वहाँ से बाहर निकल पड़े हैं। ये वो क्षेत्र है, जो पहले ही गर्मी में लू से लेकर जंगलों में आग तक को झेल चुका है। सरकार कह रही है कि कुछ देशों ने मदद का भरोसा दिया है और वो राहत सामग्री भेज रहे हैं। अमेरिका, यूके और चीन ने मदद का वादा किया है। पोप ने भी पाकिस्तान की सहायता की अपील की है। खैबर पख्तूनख्वा की राजधानी रावलपिंडी में राहत सामग्रियाँ पहुँच रही है।

बाढ़ का दंश पाकिस्तान के वो लोग भी झेल रहे हैं जो बाढ़ग्रस्त इलाकों में नहीं हैं, क्योंकि इस कारण सब्जियों की महँगाई चरम पर है। टमाटर 500 रुपए किलो बिक रहा है (पाकिस्तान मुद्रा में)। वहीं प्याज 300 रुपए किलो और नींबू 400 रुपए किलो के भाव से बिक रहा है, क्योंकि सप्लाई चेन पूरी तरह टूटा हुआ है। प्याज के दाम 100 रुपए से अब तक पार नहीं गए थे। अब तक 44,000 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लड़की हिंदू, सहेली मुस्लिम… कॉलेज में कहा, ‘इस्लाम सबसे अच्छा, छोड़ दो सनातन, अमीर कश्मीरी से कराऊँगी निकाह’: देहरादून के लॉ कॉलेज में The...

थर्ड ईयर की हिंदू लड़की पर 'इस्लाम' का बखान कर धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित किया गया और न मानने पर उसकी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी गई।

जोशीमठ को मिली पौराणिक ‘ज्योतिर्मठ’ पहचान, कोश्याकुटोली बना श्री कैंची धाम : केंद्र की मंजूरी के बाद उत्तराखंड सरकार ने बदले 2 जगहों के...

ज्तोतिर्मठ आदि गुरु शंकराचार्य की तपोस्‍थली रही है। माना जाता है कि वो यहाँ आठवीं शताब्दी में आए थे और अमर कल्‍पवृक्ष के नीचे तपस्‍या के बाद उन्‍हें दिव्‍य ज्ञान ज्‍योति की प्राप्ति हुई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -