Friday, May 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयफ्रांस के 7 एयरपोर्ट कराए गए खाली, धमकियों के बाद यात्रियों को निकाला गया:...

फ्रांस के 7 एयरपोर्ट कराए गए खाली, धमकियों के बाद यात्रियों को निकाला गया: वर्साय के किले को भी कराया गया खाली

लेमोंडे-एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, 'हमले की धमकियों' वाले ईमेल के बाद बुधवार (18 अक्टूबर 2023) को फ्रांस भर के हवाई अड्डों को खाली करा लिया गया। इनमें पेरिस के पास स्थित ब्यूवैस एयरपोर्ट भी शामिल है। सूत्र ने कहा कि पेरिस के पास लिली, ल्योन, नैनटेस, नीस, टूलूज़, ब्यूवैस और स्ट्रासबर्ग हवाई अड्डे पर अधिकारियों को व्यापक अधिकार दिए गए हैं।

आतंकवादी हमलों की धमकी के बाद फ्रांस के सात एयरपोर्ट पूरी तरह से खाली करा लिए गए। इसके अलावा, वर्साय के किले को भी खाली कर दिया गया। किले में एक प्रदर्शनी चल रही थी, जिसमें फ्रांसीसी क्रांति के बारे में जानकारी दी जा रही थी। प्रदर्शनी में कई हथियार और विस्फोटक सामग्री प्रदर्शित की जा रही थी।

धमकी वाले ई-मेल के बाद खाली कराए गए एयरपोर्ट

लेमोंडे-एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, ‘हमले की धमकियों’ वाले ईमेल के बाद बुधवार (18 अक्टूबर 2023) को फ्रांस भर के हवाई अड्डों को खाली करा लिया गया। इनमें पेरिस के पास स्थित ब्यूवैस एयरपोर्ट भी शामिल है। सूत्र ने कहा कि पेरिस के पास लिली, ल्योन, नैनटेस, नीस, टूलूज़, ब्यूवैस और स्ट्रासबर्ग हवाई अड्डे पर अधिकारियों को व्यापक अधिकार दिए गए हैं।

अधिकारियों को किसी भी खतरे से निबटने की छूट दी गई है। पूर्वी फ्रांस में स्ट्रासबर्ग हवाई अड्डे के एक प्रवक्ता ने भी कहा कि ‘धमकी भरे ईमेल’ के बाद साइट को पूरी तरह खाली कराया जा रहा है।

फ्रांस पर हो चुके कई बड़े आतंकी हमले

फ्रांसीसी पुलिस ने कहा कि उन्हें एक संदिग्ध आतंकवादी हमले की आशंका के बारे में जानकारी मिली थी। इसके बाद एयरपोर्टों को बंद कर दिया गया है और वर्साय के किले को खाली कराया गया है। दरअसल, पिछले कई वर्षों से फ्रांस आतंकियों के निशाने पर है।

फ्रांस में हाल के वर्षों में कई आतंकवादी हमले हुए हैं। साल 2015 में पेरिस में हुए हमलों में 130 से अधिक लोग मारे गए थे। 2016 में निस में हुए हमलों में 86 लोग मारे गए थे। फ्रांसीसी सरकार ने आतंकवाद से लड़ने के लिए कई कदम उठाए हैं। इनमें सुरक्षा बलों को मजबूत करना और खुफिया जानकारी साझा करना शामिल है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -