Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयजब लगेज मशीन के अदंर से सामान की जगह निकलने लगे पाकिस्तानी... देखें Video

जब लगेज मशीन के अदंर से सामान की जगह निकलने लगे पाकिस्तानी… देखें Video

अब इस वीडियो के वायरल होते ही भारत के लोग सोशल मीडिया पर पाकिस्तान की चुटकी ले रहे हैं और कह रहे हैं कि जो लोग हमें चंद्रयान पर ज्ञान दे रहे हैं उनकी हरकतें तो देखो कैसी है।

अपनी उल-जुलूल हरकतों के कारण पहचाना जाने वाला पाकिस्तान एक बार फिर से एक वायरल होती वीडियो के कारण चर्चा का विषय है। ये वीडियो पाकिस्तान के पेशावर एयरपोर्ट का है। जहाँ पर भारी संख्या में पाकिस्तानी लोग हज करके लौटते दिखाई दे रहे हैं। लेकिन अब आप सोचेंगे इसमें ऐसा खास क्या है?

तो बता दें, इस वीडियो में खास ये हैं कि पाकिस्तानी जो भारत को समय आने पर परमाणु बम और क्रिकेट के बल्ले से उड़ाने की धमकियाँ देने से नहीं चूँकते, वो इस वीडियो में लगेज मशीन से बाहर निकलते दिख रहे हैं। जी हाँ। एयरपोर्ट पर जहाँ आम लोग चेकिंग के लिए लगेज डालते हैं, वहाँ से हज करके लौटे यात्री बाहर आ रहे हैं। अब ये सुरक्षा के लिहाज से या पाकिस्तानियों का कोई नया कारनामा है? आइए जानते हैं।

दरअसल, जानकारी के अनुसार, वीडियो में हज से लौटे ये हज यात्री मक्का-मदीना से पानी लेकर आए हैं, जिसे आबे जमजम कहा जाता है। इस्लाम मजहब में इसका बहुत महत्त्व है। जिस वजह से ये हज यात्री फ्लाइट लैंड होने के बाद अपने आबे जमजम का केन लेने लगेज मशीन के पास खड़े थेे, लेकिन इन्हें डर था कि उनका आबे जमजम कोई और न ले जाए। इसलिए उन्होंने इसका तरीका खोजा और अपने जल को सुरक्षित रखने के लिए एक के बाद एक करके ये भी मशीन में बैठते गए और दूसरी ओर से निकलते गए।

हालाँकि, वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि हाजियों की इस हरकत से वहाँ के सुरक्षाकर्मी सकपका गए और उन्हें रोकने की कोशिश करने लगे, लेकिन फिर भी आबे जमजम को सुरक्षित रखने के लिए ये लोग नहीं मानें तो काफ़ी देर तक एक्स-रे मशीन में ये सिलसिला चलता रहा।

अब इस वीडियो के वायरल होते ही भारत के लोग सोशल मीडिया पर पाकिस्तान की चुटकी ले रहे हैं और कह रहे हैं कि जो लोग हमें चंद्रयान पर ज्ञान दे रहे हैं उनकी हरकतें तो देखो कैसी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -