Wednesday, July 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयभीड़ ने पीटा, जान बचाने को गाँव से भागा परिवार: Pak में ईशनिंदा के...

भीड़ ने पीटा, जान बचाने को गाँव से भागा परिवार: Pak में ईशनिंदा के नाम पर हिन्दू युवक गिरफ्तार, शिक्षक की भी हुई थी हत्या

अपनी शिकायत में मोटर मैकेनिक फैज़ल मुनीर ने बताया है कि घटना के समय वो अपनी वर्कशॉप में तारिक मजीद और मोहम्मद तारिक के साथ मौजूद थे।

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक हिन्दू युवक को ईशनिंदा के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। युवक का नाम अकबर राम है। अकबर राम पर इस्लामी मज़हबी स्थलों पर आपत्तिजनक टिप्पणी का आरोप है। हिन्दू युवक को इस्लामी भीड़ ने घेर कर मारने का भी प्रयास किया। शुक्रवार (11 अगस्त, 2023) को अकबर राम के खिलाफ फैज़ल मुनीर ने शिकायत दर्ज करवाई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मामला रहीम यार खान जिले के थानाक्षेत्र कोस्टामबा का है। यहाँ ने इंस्पेक्टर सफदर हुसैन ने ईशनिंदा के आरोप में अकबर राम की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि आरोपित को इलाके की कानून-व्यवस्था बिगड़ने की आशंका के चलते जेल में दाखिल कर दिया गया है। अकबर राम पर ईशनिंदा की शिकायत दर्ज करवाने वाले फैसल मुनीर ने अपने आरोपों के समर्थन में 2 गवाह भी पेश किए हैं। इंस्पेक्टर सफदर का भी दावा है कि अकबर राम की टिप्पणी से इलाके के तमाम मुस्लिमों की मज़हबी भावनाएँ आहत हुई हैं।

अपनी शिकायत में मोटर मैकेनिक फैज़ल मुनीर ने बताया है कि घटना के समय वो अपनी वर्कशॉप में तारिक मजीद और मोहम्मद तारिक के साथ मौजूद थे। तभी अकबर राम वहाँ आया और इस्लामी इबादतगाहों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियाँ करने लगा। शिकायत में यह भी बताया गया है कि तमाम लोगों के आगे अकबर राम ने न सिर्फ इबादतगाहों बल्कि इस्लाम पर भी अशोभनीय टिप्पणियाँ की। फिलहाल आरोपित की गिरफ्तारी के बाद उनका परिवार अपनी जान बचाने के लिए घर छोड़ कर कहीं सुरक्षित स्थान पर पलायन कर गया है।

अकबर राम को गिरफ्तार करने पहुँची पुलिस के आगे भी इस्लामी भीड़ ने उसकी पिटाई की। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। रहीम यार खान पुलिस के मुताबिक अकबर राम पर पाकिस्तान पीनल कोड की धारा 295- A के तहत कार्रवाई की गई है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के ही ग्वादर इलाके में शनिवार (5 अगस्त, 2023) को मलिकाबाद इलाके में एक कब्रिस्तान के पास ईशनिंदा के आरोप में अंग्रेजी पढ़ाने वाले टीचर अब्दुल रऊफ को गोलियों से भून दिया था। यह घटना तब हुई जब रऊफ उलेमाओं द्वारा आयोजत जिरगा की सभा में अपनी सफाई देने जा रहे थे। अब्दुल ने खुद पर लगे आरोपों से इंकार किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2018, 2019, 2023, 2024… साल दर साल ‘ये मोदी सरकार का अंतिम बजट’ कह-कह कर थके संजय झा: जिस कॉन्ग्रेस ने अनुशासनहीन कह कर...

संजय झा ने 2023 के वार्षिक बजट को उबाऊ बताया था और कहा था कि ये 'विनाशकारी' भाजपा को बाय-बाय कहने का समय है, इसे इनका अंतिम बजट रहने दीजिए।

मानहानि मामले में यूट्यूबर ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली कोर्ट ने जारी किया समन, BJP नेता की शिकायत के बाद सुनवाई: अदालत ने कहा-...

ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली की एक कोर्ट ने मानहानि मामले में समन जारी किया है। ये समन भाजपा नेता सुरेश करमशी नखुआ द्वारा द्वारा शिकायत के बाद जारी हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -