Friday, January 21, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयननकाना साहेब गुरुद्वारे पर मुस्लिमों का हमला, कहा- कोई सिख नहीं रहेगा यहाँ, नाम...

ननकाना साहेब गुरुद्वारे पर मुस्लिमों का हमला, कहा- कोई सिख नहीं रहेगा यहाँ, नाम होगा गुलाम-ए-मुस्तफा

पत्रकार ने इस संबंध में मुस्लिम भीड़ की एक वी़डियो भी जारी की है। जिसमें दंगाई कहते नजर आ रहे हैं कि वे ननकाना साहिब में एक भी सिख को नहीं रहने देंगे और गुरुद्वारे का नाम बदलकर गुलाम-ए-मुस्तफा कर देंगे।

पाकिस्तान से एक बार फिर अल्पसंख्यकों के धार्मिक स्थल को निशाना बनाने की खबर आ रही है। मामला ननकाना साहेब गुरुद्वारे का है। जहाँ आज यानी शुक्रवार को सौ से ज्यादा मुस्लिमों की आक्रोशित भीड़ गुरुद्वारे को घेरकर उसपर पत्थरबाजी कर रही है। ट्विटर पर बीबीसी के पत्रकार रविंद्र सिंह रॉबिन ने इस घटना की वीडियो डाली है। वे लगातार इस मामले पर जानकारी दे रहे हैं।

अपने ट्वीट में जानकारी देते हुए रॉबिन ने बताया कि वीडियो में नजर आ रही मुस्लिम भीड़ का नेतृत्व सिख लड़की जगजीत कौर का अपहरण कर उसे इस्लाम कबूल करवाने वाले मोहम्मद हसन के परिजनों ने किया है। उनके ट्विट्स के मुताबिक इस हमले के कारण ननकाना साहिब में करीब 30 सिख फँसे हुए हैं।

गौरतलब है कि ट्विटर पर पत्रकार ने इस संबंध में मुस्लिम भीड़ की एक वी़डियो भी जारी की है। जिसमें दंगाई कहते नजर आ रहे हैं कि वे ननकाना साहिब में एक भी सिख को नहीं रहने देंगे और गुरुद्वारे का नाम बदलकर गुलाम-ए-मुस्तफा कर देंगे।

बता दें, पत्रकार द्वारा जारी वीडियो में देखा जा सकता है कि ननकाना साहिब में मुस्लिम भीड़ कितनी उग्र है। जिसमें एक मुस्लिम युवक सिख लड़की (जगजीत कौर) का अपहरण कर उसे इस्लाम कबूल करवाकर निकाह करने के मामले पर खुलेआम बातें कर रहा है और बाकी मुस्लिम पीछे उसके नारे लगा रहे हैं।

इनका आरोप है कि ‘अपनी मर्जी से इस्लाम कबूलने’ और ‘शादी करने वाली’ लड़कियों को लेकर सिख समुदाय बेवजह हंगामा खड़ा करता है। बता दें कि पिछले साल जिस जगजीत कौर का जबरन धर्मांतरण हुआ था, वह ननकाना साहिब गुरुद्वारे के ही ग्रंथी की बेटी हैं।

ताजा जानकारी के अनुसार इस उग्र भीड़ ने शाम होते-होते भी ननकाना साहिब गुरुद्वारे को घेर रखा है। वहीं, पुलिस-प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। लोग बड़ी मुश्किल से अपनी जान बचाकर अंदर छिपे हुए हैं।

अगवा सिख लड़की पहुँची घर, हाफ़िज़ सईद के आतंकी संगठन के मो. हसन से करवाया गया था निकाह

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सपा सरकार है और सीएम हमारी जेब मैं है, जो चाहेंगे वही होगा’: कॉन्ग्रेस को समर्थन का ऐलान करने वाले तौकीर रजा पर बहू...

निदा खान कॉन्ग्रेस के समर्थक मौलाना तौकीर रजा खान की बहू हैं। उन्हें उनके शौहर ने कहा था कि वो नहीं चाहते कि परिवार की महिलाएं पढ़े।

शहजाद अली के 6 दुकानों पर चला शिवराज सरकार का बुलडोजर, कार्रवाई के बाद सुराना गाँव के हिंदुओं ने हटाई मकान बेचने वाली सूचना

मध्य प्रदेश प्रशासन की कार्रवाई के बाद रतलाम में हिंदू समुदाय ने अपने घरों पर लिखी गई मकान बेचने की सूचना को मिटा दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,458FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe