Friday, December 3, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय₹7.1 करोड़ के सौर ऊर्जा पैनल भारत ने दिए UN को, होगा 50KW बिजली...

₹7.1 करोड़ के सौर ऊर्जा पैनल भारत ने दिए UN को, होगा 50KW बिजली का स्वच्छ उत्पादन

भारत ने हमेशा ही पर्यावरण को लेकर सजगता का प्रदर्शन किया है। अपने हालिया रूस दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी ने 2022 तक 175 गीगावॉट स्वच्छ ऊर्जा के उत्पादन की प्रतिबद्धता को दोहराया था।

दुनिया में अस्थिर तेल के दामों और बढ़ते जलवायु परिवर्तन व प्रदूषण के बीच भारत ने संयुक्त राष्ट्र (United Nations) को छत पर लगने वाले सौर पैनल उपहार में दिए हैं। ऐसा इसलिए किया गया है जिससे UN का भी कार्बन उत्सर्जन में योगदान घटे, और स्वच्छ ऊर्जा के मुद्दे पर दुनिया में जागरुकता और आम सहमति बढ़े। इसके अलावा इससे स्वच्छ ऊर्जा के पक्ष में और जलवायु परिवर्तन के खिलाफ भारत की प्रतिबद्धता का भी पता चलता है। इन पैनलों की कीमत $1 million (₹7.1 करोड़) के करीब बताई जा रही है

UN ने किया ट्वीट

UN के फोटो-शेयरिंग ट्विटर हैंडल ने भारत से उपहार में मिले सौर ऊर्जा पैनलों और उन्हें संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय की छत पर लगाने में लगे कर्मियों की फोटो ट्वीट की है। इस फोटो में लिखा है कि भारत से उपहार में मिले इन पैनलों से 50 किलो वॉट बिजली का उत्पादन हो सकता है। इसके साथ ही एक और फोटो ट्वीट कर जानकारी दी गई है कि इन पैनलों के बगल में संयुक्त राष्ट्र ‘green roof’ भी लगा रहा है। ग्रीन रूफ़ सामान्य कंक्रीट की छत पर पेड़-पौधे लगा कर हरी-भरी की गई छत को कहते हैं।

पर्यावरण को लेकर सजगता दिखाता रहा है भारत

भारत ने हमेशा ही पर्यावरण को लेकर सजगता का प्रदर्शन किया है। 2017 में अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ट्रम्प के पेरिस समझौते से बाहर जाने की घोषणा के बाद भी भारत ने इस करार का सम्मान किया था। इसके अलावा अपने हालिया रूस दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी ने 2022 तक 175 गीगावॉट स्वच्छ ऊर्जा के उत्पादन की प्रतिबद्धता को दोहराया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सियासत होय जब ‘हिंसा’ की, उद्योग-धंधा कहाँ से होय: क्या अडानी-ममता मुलाकात से ही बदल जाएगा बंगाल में निवेश का माहौल

एक उद्योगपति और मुख्यमंत्री की मुलाकात आम बात है। पर जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हों और उद्योगपति गौतम अडानी तो उसे आम कैसे कहा जा सकता?

पाकिस्तानी मूल की ऑस्ट्रेलियाई सीनेटर मेहरीन फारुकी से मिलिए, सुनिए उनकी हिंदू घृणा- जानिए PM मोदी से उनको कितनी नफरत

मेहरीन फारूकी ने ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के अच्छे दोस्त PM नरेंद्र मोदी को घेरने के बहाने संघीय सीनेट में घृणा के स्तर तक उतर आईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,299FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe