Monday, August 15, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय26/11 हमले पर भारत ने खारिज की पाक आतंकियों की लिस्ट, कहा- मुख्य साजिशकर्ताओं...

26/11 हमले पर भारत ने खारिज की पाक आतंकियों की लिस्ट, कहा- मुख्य साजिशकर्ताओं को बचाने की है कोशिश

"हमने पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्टों को देखा है कि देश की संघीय जाँच एजेंसी ने मोस्ट वांटेड, हाई प्रोफाइल आतंकवादियों पर एक अपडेटेड पुस्तक जारी की है, जिसमें कि 26/11 के मुंबई हमलों में शामिल कई पाकिस्तानी नागरिकों के नाम हैं।"

भारत ने मुंबई में हुए 26/11 हमले को लेकर पाकिस्तान के हालिया दावों को खारिज कर दिया है। भारत का आरोप है कि जिन आतंकियों की सूची पाकिस्तान की ओर से जारी की गई है वह सटीक नहीं है। इसके जरिए सिर्फ़ पाक ने हमले में शामिल मास्टरमाइंड और प्रमुख साजिशकर्ताओं को बचाया है।

गुरुवार (नवंबर 13, 2020) को विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान द्वारा जारी लिस्ट को नकारा। मंत्रालय की ओर से कहा गया, “हमने पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्टों को देखा है कि देश की संघीय जाँच एजेंसी ने मोस्ट वांटेड, हाई प्रोफाइल आतंकवादियों पर एक अपडेटेड पुस्तक जारी की है, जिसमें कि 26/11 के मुंबई हमलों में शामिल कई पाकिस्तानी नागरिकों के नाम हैं।”

मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, “लिस्ट में लश्कर-ए-तैयबा के कुछ चुनिंदा सदस्य शामिल हैं, जिसे संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान में स्थित आतंकवादी इकाई घोषित किया है, इसमें 26/11 हमले को अंजाम देने के लिए इस्तेमाल की गई नावों के चालक दल के सदस्य भी शामिल हैं, लेकिन इसमें जघन्य आतंकी हमले में शामिल प्रमुख साजिशकर्ताओं के नाम नहीं हैं।”

आगे अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, “यह एक फैक्ट है कि 26/11 के आतंकवादी हमले की योजना पाकिस्तान से क्रियान्वित की गई। यह सूची साफ बताती है कि पाकिस्तान के पास मुंबई आतंकी हमले के साजिशकर्ताओं और उनके सहयोगियों से जुड़े सभी आवश्यक जानकारी और सबूत हैं।”

गौरतलब है कि 26 नवंबर 2008 को हुए मुंबई हमले में 28 विदेशियों सहित कुछ 166 लोग मारे घए थे। सबसे अधिक लोग छत्रपति शिवाजी टर्मिनल पर मारे गए थे। वहीं ताजमहल होटल में 31 लोगों को आतंकियों ने अपनी गोली का शिकार बनाया था।

ऐसे में सभी इस हमले के पहलुओं को देखते हुए प्रवक्ता ने कहा, “भारत सरकार ने बार-बार पाकिस्तान सरकार से आह्वान किया है कि मुंबई आतंकी हमलों के मुकदमे में अपने अंतरराष्ट्रीय दायित्वों का निर्वहन करने में वो अपनी उलझाऊ और देर करने की युक्तियाँ छोड़ दे।” श्रीवास्तव ने बताया कि अब तक कई दूसरे देश भी इस संबंध को समझा चुके हैं।

यहाँ बता दें कि पिछले कई साल से भारत लगातार पाकिस्तान पर मुंबई आंतकी हमले को लेकर दवाब बना रहा था। इसी दबाव के चलते पाक ने मुंबई हमले में शामिल पाकिस्तान के आतंकियों के नाम जारी किए थे। इनमें साहिवाल जिले के मोहम्मद उस्मान, लाहौर जिले के अतीक-उर-रहमान, हाफिजाबाद के रियाज अहमद, गुजरांवाला जिले के मुहम्मद मुश्ताक, डेरा गाजीपुर जिले के मुहम्मद नईम, सरगोधा जिले के अब्दुल शकूर, मुल्तान के मुहम्मद साबिर, लोधरान जिले का मोहम्मद उस्मान, रहीम यार खान जिले के शकील अहमद का नाम शामिल था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वो हिंदुस्तानी जो अभी भी नहीं हैं आजाद: PoJK के लोग देख रहे आशाभरी नजरों से भारत की ओर, हिंदू-सिखों का यहाँ हुआ था...

विभाजन की विभीषिका को भी भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता-प्राप्ति का मूल्य समझकर और स्वतन्त्रता का मूल्य चुकाकर ही हम अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित कर सकते हैं।

वे नहीं रहे… क्योंकि वे हिन्दू थे: अपनी नवजात बेटी को भी नहीं देख पाए गौ प्रेमी किशन भरवाड

27 वर्षीय हिंदू युवक किशन भरवाड़ को कट्टरपंथी मुस्लिमों ने 25 जनवरी 2022 को केवल हिंदू होने के कारण मार डाला था। वजह वही क्योंकि वे हिन्दू थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe