Tuesday, August 3, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयनाराज़ मलेशिया के PM ने ज़ाकिर नाइक को राजनीतिक गतिविधियों से दूर रहने को...

नाराज़ मलेशिया के PM ने ज़ाकिर नाइक को राजनीतिक गतिविधियों से दूर रहने को कहा, समन जारी, होगी पूछताछ

मलेशिया के पूर्व पुलिस प्रमुख रहीम नूर ने सरकार से माँग की है कि ज़ाकिर नाइक का 'परमानेंट रेजिडेंट' समाप्त कर उसे भारत को सौंप दिया जाए क्योंकि उसने आपराधिक कार्य किया है। ज़ाकिर नाइक ने अपने विवादित बयान में कहा था कि मलेशिया में रहने वाले हिन्दुओं को.....

भगोड़े ज़ाकिर नाइक की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं लेकिन उसकी अकड़ अभी भी कम नहीं हुई है। हिन्दुओं व चीनियों के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में मलेशिया के अधिकारियों ने उसे दूसरी बार समन जारी किया है। विवादित इस्लामिक उपदेशक को मलेशिया के प्रधानमंत्री महाथिर मोहम्मद ने साफ़-साफ़ कह दिया है कि उसे वहाँ की राजनीतिक गतिविधियों में भाग लेने की अनुमति नहीं है। मनी लॉन्ड्रिंग और हेट स्पीच के मामलों में भारतीय एजेंसियों को भी ज़ाकिर नाइक की तलाश है।

बौखलाए नाइक ने पेनांग के उपमुख्यमंत्री पी रामासामी सहित 4 बड़े नेताओं को अदालत में घसीट लिया है। ज़ाकिर ने इन सभी से 48 घंटे के अंदर माफ़ी माँगने अथवा मानहानि का मुक़दमा झेलने की धमकी दी है। इन नेताओं ने साफ़ कर दिया कि ज़ाकिर का बयान जहरीला और विभिन्न सम्प्रदायों के बीच वैमनस्य फैलाने वाला था। ज़ाकिर ने मलेशिया के मानव संसाधन मंत्री के ख़िलाफ़ भी मामला दर्ज कराया है। उसका कहना है कि इन नेताओं ने उसके बयान को ग़लत तरीके से पेश किया।

मलेशिया के पूर्व पुलिस प्रमुख रहीम नूर ने सरकार से माँग की है कि ज़ाकिर नाइक का ‘परमानेंट रेजिडेंट’ समाप्त कर उसे भारत को सौंप दिया जाए क्योंकि उसने आपराधिक कार्य किया है। ज़ाकिर नाइक ने अपने विवादित बयान में कहा था कि मलेशिया में रहने वाले हिन्दुओं को भारत में रह रहे अल्पसंख्यकों से सौ गुना ज्यादा अधिकार मिलते हैं, फिर भी वे (मलेशिया निवासी हिन्दू) मलेशिया के पीएम की बजाय मोदी का ही समर्थन करते हैं।

हालाँकि, मलेशिया के प्रधानमंत्री कई मौक़ों पर ज़ाकिर नाइक का समर्थन करते रहे हैं लेकिन अबकी उन्होंने कहा है कि इस्लामिक उपदेशक ने इस बार बयान देते हुए हद पार कर दी। प्रधानमंत्री महाथिर ने कहा कि चीनियों व भारतियों को वापस जाने की बात कह ज़ाकिर ने सीमा लांघी है। बाद में अपने बयान से पलटते हुए ज़ाकिर नाइक ने कहा कि उसने इस बात पर चर्चा की थी कि मलेशिया में किस तरह से हिन्दू अल्पसंख्यकों को काफ़ी अधिकार दिए जाते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एक-एक पैसा मुजफ्फरनगर व सहारनपुर के मदरसों को दिया’: शाहिद सिद्दीकी ने अपने सांसद फंड को लेकर खोले राज़

वीडियो में पूर्व सांसद शहीद सिद्दीकी कहते दिख रहे हैं कि अपने MPLADS फंड्स में से एक-एक पैसा उन्होंने मदरसों, स्कूलों और कॉलेजों को दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,775FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe