Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान में भीड़ ने चर्च जलाया, ईसाई सफाईकर्मी का घर ध्वस्त कर दिया: ईशनिंदा...

पाकिस्तान में भीड़ ने चर्च जलाया, ईसाई सफाईकर्मी का घर ध्वस्त कर दिया: ईशनिंदा का आरोप लगा कर आगजनी-तोड़फोड़, सहमे ईसाई संगठनों ने बयाँ किया दर्द

मीडिया संस्थान 'डॉन' ने फैसलाबाद जिले के जारनवाला तहसील के पादरी इमरान भट्टी के हवाले से कहा है कि ईसा नगरी इलाके में स्थित साल्वेशन आर्मी चर्च, यूनाइटेड प्रेस्बिटेरियन चर्च, एलाइड फाउंडेशन चर्च और शेहरूनवाला चर्च में तोड़फोड़ की  गई।

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय पर हमले की घटनाएँ बढ़ती जा रही हैं। अब पंजाब प्रांत के फैसलाबाद जिले में कई चर्चों में तोड़फोड़ और आगजनी की घटना सामने आई। यह घटना एक ईसाई सफाईकर्मी पर ईशनिंदा का आरोप लगने के बाद हुई। इस्लामवादी भीड़ ने ईसाइयों को निशाना बनाते हुए उनके घरों पर भी हमला किया।

मीडिया संस्थान ‘डॉन’ ने फैसलाबाद जिले के जारनवाला तहसील के पादरी इमरान भट्टी के हवाले से कहा है कि ईसा नगरी इलाके में स्थित साल्वेशन आर्मी चर्च, यूनाइटेड प्रेस्बिटेरियन चर्च, एलाइड फाउंडेशन चर्च और शेहरूनवाला चर्च में तोड़फोड़ की गई। साथ ही ईशनिंदा के कथित आरोपित ईसाई सफाईकर्मी का घर भी गिरा दिया गया।

इस घटना पर पाकिस्तान बिशप चर्च के अध्यक्ष आजाद मार्शल ने ट्वीट कर कहा है, “जब मैं यह लिख रहा हूँ तो मुझे शब्द नहीं मिल रहे हैं। हम, बिशप, प्रीस्ट और आम लोग पाकिस्तान के फैसलाबाद जिले के जारनवाला में हुई घटना पर बहुत दुखी हैं। जब मैं यह ट्वीट टाइप कर रहा हूँ तब एक चर्च चलाया जा रहा है।”

उन्होंने आगे कहा है कि यहाँ बाइबिल का अपमान किया गया है और ईसाइयों पर कुरान का अपमान करने का झूठा आरोप लगाकर और उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है है। वह प्रशासन से न्याय और कार्रवाई की माँग करते हैं। साथ ही लोगों की सुरक्षा व्यवस्था की भी माँग करते हैं।

एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा है, “यह चरमपंथियों और आतंकवादियों के देश इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ पाकिस्तान का असली चेहरा है। पंजाब के फैसलाबाद के जरानवाला में एक स्थानीय ईसाई परिवार पर स्थानीय मुस्लिमों ने ईशनिंदा का आरोप लगाया। अब स्थानीय मुस्लिमों ने एक चर्च पर हमला किया है और तोड़फोड़ कर रहे हैं।”


इस घटना के कई चौंकाने वाले वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। वायरल वीडियो में भीड़ द्वारा लोगों पर हमला करते देखा जा सकता है। एक यूजर ने दावा किया है कि ‘खून की प्यासी भीड़’ से अपनी जान बचाने के लिए लोग अपने घरों से भाग रहे हैं। इलाके में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है।

इस्लामवादी भीड़ के हमले के बाद जारनवाला के सबसे पुराने चर्च पर लगी और धुँआ देखा जा सकता है।

इस बीच, पुलिस ने पाकिस्तान दंड संहिता की धारा 295बी (कुरान का अपमान करना) तथा 295सी (पैगंबर को लेकर अपमानजनक टिप्पणी करना) के तहत आरोपित ईसाई सफाईकर्मी के खिलाफ FIR दर्ज की है। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -