Thursday, January 20, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमुस्लिम छात्र ने कहा- मेरे अब्बा तुम्हारा सिर कलम कर देंगे, माफी माँगने के...

मुस्लिम छात्र ने कहा- मेरे अब्बा तुम्हारा सिर कलम कर देंगे, माफी माँगने के बावजूद फ्रांस में शिक्षक सस्पेंड: रिपोर्ट

सैमुअल पैटी की हत्या के मामले में हाल ही में यह बात सामने आई थी एक झूठे दावे के आधार पर उनको निशाना बनाया गया था। 13 साल की एक फ्रांसीसी लड़की ने इस बात को स्वीकार किया कि उसने अपने अब्बा के गुस्से से बचने के लिए अपने शिक्षक पर तोहमत लगाई थी, जबकि हकीकत यह थी कि वह उस दिन क्लास में ही नहीं थी।

फ्रांस में पिछले कुछ महीनों से शिक्षकों में भय का माहौल है। पैगम्बर मुहम्मद का कार्टून दिखाने के आरोप में शिक्षक सैमुअल पैटी की हत्या के बाद से भले देश में इस्लामी कट्टरपंथ के खिलाफ कई सख्त फैसले लिए गए हों, लेकिन छात्रों के बीच फिर भी इस्लामी कट्टरपंथ पाँव पसार रहा है। ताजा मामला फ्रांस के एक और स्कूल का है, जहाँ छात्र ने शिक्षक को धमकाया कि उसका अब्बा शिक्षक का सिर कलम कर देगा।

उक्त शिक्षक ने सैमुअल पैटी की हत्या के 1 दिन बाद ‘सिविक एंड मोरल एजुकेशन (EMC)’ की कक्षा के दौरान पैटी का बचाव किया था। इसके बाद एक मुस्लिम छात्र खड़ा हो गया और उसने कहा, “मेरे अब्बा तुम्हारा सिर कलम कर देंगे।” इसके कुछ दिनों बाद शिक्षक को प्रधानाध्यापक के दफ्तर में बुलाया गया। शिक्षक को डाँट लगाई और साथ ही पूरी कक्षा के सामने माफी माँगने को भी कहा गया।

इसके बाद भी शिक्षक को स्कूल से सस्पेंड कर दिया गया। शिक्षक ने बताया कि एक पर्सियन स्कूल में इसी तरह एक छात्र नाराज हो गया था कि किसी शिक्षक ने रमजान का सम्मान नहीं किया है। एक कक्षा के दौरान जब उन्होंने एडम और ईव को बाइबल का किरदार बताया तो एक मुस्लिम छात्र नाराज हो गया, क्योंकि मस्जिदों में उसे ये नहीं बताया गया था। शिक्षक ने बताया कि वो इन कारणों से अब अवसाद में हैं।

याद हो कि फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद का कार्टून कक्षा के छात्रों को दिखाने के आरोप में सैमुअल पैटी नाम के शिक्षक की बेरहमी से हत्या का मामला सामने आया था। कुछ ही दिनों पहले खुलासा हुआ है कि ये पूरा हमला एक झूठ पर आधारित था, जिसे बच्ची ने अपने पिता के डर से बोला था। 13 साल की एक फ्रांसीसी लड़की ने इस बात को स्वीकार किया कि उसने अपने अब्बा के गुस्से से बचने के लिए अपने शिक्षक पर तोहमत लगाई थी, जबकि हकीकत यह थी कि वह उस दिन क्लास में ही नहीं थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सपा सरकार है और सीएम हमारी जेब मैं है, जो चाहेंगे वही होगा’: कॉन्ग्रेस को समर्थन का ऐलान करने वाले तौकीर रजा पर बहू...

निदा खान कॉन्ग्रेस के समर्थक मौलाना तौकीर रजा खान की बहू हैं। उन्हें उनके शौहर ने कहा था कि वो नहीं चाहते कि परिवार की महिलाएं पढ़े।

शहजाद अली के 6 दुकानों पर चला शिवराज सरकार का बुलडोजर, कार्रवाई के बाद सुराना गाँव के हिंदुओं ने हटाई मकान बेचने वाली सूचना

मध्य प्रदेश प्रशासन की कार्रवाई के बाद रतलाम में हिंदू समुदाय ने अपने घरों पर लिखी गई मकान बेचने की सूचना को मिटा दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,413FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe