Monday, April 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमुश्किल में घिरे PM इमरान खान ने पंजाब के राज्यपाल सरवर को हटाया: ब्रिटिश...

मुश्किल में घिरे PM इमरान खान ने पंजाब के राज्यपाल सरवर को हटाया: ब्रिटिश सांसदी छोड़ पाकिस्तान की राजनीति में रखा था कदम

इमरान खान की पार्टी PTI अपने सहयोगी दल 'पाकिस्तान मुस्लिम लीग-कायदे (PML-Qu)' के नेता चौधरी परवेज इलाही को समर्थन दे रही है। इलाही पंजाब विधानसभा के अध्यक्ष हैं और उनकी पार्टी केंद्र एवं पंजाब में इमरान खान की साझेदार भी है।

पड़ोसी देश पाकिस्तान (Pakistan) में राजनीतिक उठा-पटक के बीच अविश्वास प्रस्ताव के संकट से जुझ रहे प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) ने पंजाब के राज्यपाल चौधरी मोहम्मद सरवर (Chaudhary Muhammad Sarwar) को उनके पद से हटा दिया है। नए राज्यपाल की घोषणा बाद में की जाएगी, तब तक डिप्टी स्पीकर ही कार्यवाहक राज्यपाल रहेंगे। पाकिस्तान का संविधान यही कहता है।

इमरान खान ने यह कदम तब उठाया, जब नेशनल एसेंबली में उनकी सरकार के खिलाफ मतदान की प्रक्रिया चल रही है। वहीं, पंजाब विधानसभा में उस्मान बुजदार के इस्तीफा देने के बाद सदन के नए नेता चुनाव करने के लिए विधानसभा की अगले कुछ घंटों में बैठक होनी थी।

राज्यपाल को हटाने की घोषणा इमरान खान की सरकार में सूचना मंत्री फवाद खान ने ट्विटर के जरिए की। हालाँकि, राज्यपाल को हटाने के उन्होंने कोई कारण नहीं बताया, लेकिन माना जा रहा है कि पंजाब विधानसभा में भी बहुमत साबित करने की प्रक्रिया चल रही है और इसी प्रभावित करने की उन्होंने कोशिश की है।

ट्वीट में फवाद चौधरी ने लिखा, “केंद्र सरकार ने पंजाब के राज्यपाल चौधरी मोहम्मद सरवर को उनके पद से हटा दिया है। पंजाब के नए राज्यपाल की घोषणा बाद में की जाएगी। संविधान के अनुसार डिप्टी स्पीकर कार्यवाहक राज्यपाल होगा।”

सरवर ब्रिटिश सांसद रह चुके हैं और साल 2013 में उन्होंने ग्लासगो के अपने राजनीतिक जीवन को छोड़कर पाकिस्तान आ गए थे। यहाँ आकर उन्होंने पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज (PML-N) शामिल हो गए थे। साल 2013 के आम चुनावों और पंजाब के विधानसभा चुनावों में पार्टी की जीत के बाद उन्हें पंजाब का राज्यपाल बनाया गया था।

साल 2015 में उन्होंने राज्यपाल के पद से इस्तीफा देकर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) में शामिल हो गए थे और सितंबर 2018 में दोबारा राज्यपाल बने थे। हालाँकि, अब सरवर ने बागी रूख अपना लिया है। इसी कारण इमरान खान ने उन्हें पद से हटा दिया।

बताया जा रहा है कि सरवर को परवेज इलाही की माँग पर बर्खास्त किया गया है। इलाही का कहना है कि सरवर विपक्षी दल हमजा शाहबाज के लिए प्रचार कर रहे थे। परवेज इलाही ने इसको लेकर प्रधानमंत्री इमरान खान को फोन किया था और इमरान खान ने राष्ट्रपति को पंजाब के राज्यपाल को बर्खास्त करने का सुझाव दिया। कहा जा रहा है कि सरवर परवेज इलाही का विरोध कर रहे थे।

पंजाब के विधानसभा में कुल 371 सीटें हैं और सरकार को बहुमत के लिए 186 सीट चाहिए। इस दौरान इमरान खान की पार्टी के बागी नेताओं ने विपक्ष दलों को समर्थन का एलान कर दिया है। विपक्ष ने पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज (PML-N) के नेता हमजा शाहबाज को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया है। शाहबाज को जहाँगीर तारीन गुट ने भी समर्थन दिया है।

वहीं, इमरान खान की पार्टी PTI अपने सहयोगी दल ‘पाकिस्तान मुस्लिम लीग-कायदे (PML-Qu)’ के नेता चौधरी परवेज इलाही को समर्थन दे रही है। इलाही पंजाब विधानसभा के अध्यक्ष हैं और उनकी पार्टी केंद्र एवं पंजाब में इमरान खान की साझेदार भी है। नेशनल असेंबली में इलाही की पार्टी के पाँच सदस्य हैं।

दूसरी तरफ, इमरान खान का प्रधानमंत्री पद खतरे में दिखाई दे रहा है। पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में कुल 342 सीटें हैं। अपनी सरकार बचाने के लिए इमरान खान को 172 वोटों की जरूरत है। तमाम विपक्षी दलों के साथ आ जाने और उनकी पार्टी के बागी नेताओं द्वारा उन्हें समर्थन जाहिर करने के बाद यह आंकड़ा पार करना इमरान खान के लिए टेढ़ी खीर बन गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेहा जैसा न हो MBBS डॉक्टर हर्षा का हश्र: जिसके पिता IAS अधिकारी, उसे दवा बेचने वाले अब्दुर्रहमान ने फँसा लिया… इकलौती बेटी को...

आनन-फानन में वो नोएडा पहुँचे तो हर्षा एक अस्पताल में जली हालत में भर्ती मिलीं। यहाँ पर अब्दुर्रहमान भी मौजूद मिला जिसने हर्षा के जलने के सवाल पर गोलमोल जवाब दिया।

‘कॉन्ग्रेस छीन लेगी महिलाओं का मंगलसूत्र, लोगों की घर-गाड़ियाँ… बैंक में जो FD करते हैं, उस पर भी कब्जा कर लेंगे’: अलीगढ़ में बोले...

"किसकी कितनी सैलरी है, फिक्स्ड डिपॉजिट है, जमीन है, गाड़ियाँ हैं - इन सबकी जाँच होगी कॉन्ग्रेस के सर्वे के माध्यम से और इन सब पर वो कब्ज़ा कर के जनता की संपत्ति को छीन कर के बाँटने की बात की जा रही है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe