Tuesday, September 28, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबेशर्म पाकिस्तान: LOC पर पड़े अपने 'BAT कमांडो' के शव लेने से किया इनकार

बेशर्म पाकिस्तान: LOC पर पड़े अपने ‘BAT कमांडो’ के शव लेने से किया इनकार

भारतीय सेना ने LOC पर एक सफल ऑपरेशन के बाद, मृत पड़े पाकिस्तान के पाँच से सात 'BAT कमांडो' के शवों को ले जाने की पेशकश की थी।

देश में घुसपैठ की कोशिश के बाद भारतीय सेना द्वारा मारे गए 5-7 पाकिस्तानी घुसपैठियों के शवों को पाकिस्तान ने लेने से इनकार कर दिया है। LOC पर एक सफल ऑपरेशन के बाद, भारतीय सेना ने पाकिस्तान के पाँच से सात BAT (Border Action Team) कमांडो के शवों को ले जाने की पेशकश की थी।

बता दें कि केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास BAT के हमले को नाकाम करते हुए भारतीय सेना ने पाँच-सात घुसपैठिए मार गिराए। पाँच-सात पाकिस्तानी सेना के जवान/ आतंकवादी के शव अब भी एलओसी पर पड़े हैं। सेना ने सबूत के तौर पर चार शवों की सैटेलाइट तस्वीरें भी जारी की है। भारतीय सेना ने कहा है कि पाकिस्तानी सेना सफेद झंडे के साथ आकर इन शवों को ले जा सकती है।

भारतीय सेना ने रविवार को पाकिस्तानी सेना को अपने जवानों और आतंकियों की डेड बॉडीज को ले जाने को कहा है। भारतीय सेना ने पाकिस्तान से कहा है कि वह संधि और संघर्ष विराम का प्रतीक सफेद झंडा ले कर आए और जवाबी कार्रवाई में मारे गए BAT के पाँच-सात जवानों के शव ले जाए।

गौरतलब है कि पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम में पाकिस्तानी सेना के जवानों के अलावा आतंकी भी शामिल रहते हैं, जो भारतीय जवानों पर घात लगाकर हमला करते हैं।

सीमा पर कार्रवाई के मकसद से गठित इस दस्ते (BAT) में पाकिस्तानी कमांडोज के अलावा आतंकियों को भी शामिल किया जाता है। यह दस्ता अपने ऑपरेशन के दौरान क्रूरता की सारे हदे लॉंघ जाता है। 2013 में भारतीय सैनिक हेमराज का सिर कलम कर दिया गया था। यह करतूत BAT का ही था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जानिए ‘राजपूत सम्राट मिहिर भोज’ को लेकर क्या कहता है इतिहास: जाति नहीं, क्षेत्र था गुर्जर?

सम्राट मिहिर भोज के क्षत्रिय होने के पीछे कौन से तथ्य व सबूत हैं, जिसके आधार पर उन्हें 'राजपूत' कहा जा सकता है, 'गुर्जर' नहीं? आइए, देखते हैं।

‘पूरी दुनिया में अल्लाह की निजामियत कायम करनी है’: IAS इफ्तिखारुद्दीन पर धर्मांतरण को बढ़ावा देने के आरोप, 3 वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश स्थित कानपुर के वरिष्ठ IAS इफ्तिखारुद्दीन के वीडियोज वायरल हुए, जिसमें वो कथित रूप से इस्लामी धर्मांतरण को बढ़ावा देते दिख रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,837FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe