Thursday, May 30, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयISIS कहेगा तो मानेंगे मर गया बगदादी: पाकिस्तान के पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक

ISIS कहेगा तो मानेंगे मर गया बगदादी: पाकिस्तान के पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक

रहमान के ट्वीट का मजाक उड़ाते हुए कुछ लोगों ने कहा है कि यदि बगदादी जिंदा है तो वह जरूर पाकिस्तान में ही होगा। पाकिस्तान ही आतंकियों के लिए सबसे सुरक्षित जगह है। अमेरिका को वहॉं भी एयर स्ट्राइक करना चाहिए।

ISIS के सरगना अल बगदादी की मौत पर पाकिस्तान के पूर्व गृह मंत्री और सीनेटर रहमान मलिक ने सवाल उठाए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पुष्टि के बावजूद मलिक ने कहा है कि उन्हें इस दावे पर संदेह है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वे इस खबर पर तब तक यकीन नहीं करेंगे जब तक खुद ISIS इसकी पुष्टि नहीं कर देता।

मलिक ने ट्वीट किया, “बगदादी की मौत की खबर अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा दी जा चुकी है। लेकिन मैंने अभी तक ISIS की ओर से इसकी कोई पुष्टि नहीं सुनी। मैं खुश हूँ। अगर वो मर गया है।…बड़ी विडंबना वाली स्थिति है सीरिया में जहाँ राजनैतिक हितों को बचाने की कीमत आम जनों को अपने खून से चुकानी पड़ती है। हम देखते हैं कि वो मरा है या नहीं।”

गौरतलब है कि ट्रंप ने व्हॉइट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके साफ किया था कि अमेरिकी सेना की कार्रवाई में बगदादी रोते-बिलखते हुए मारा गया। उस सुरंग की तस्वीरें भी सोशल मीडिया में वायरल हो गई जहाँ बगदादी ने खुद को उड़ाया था।

इसके बावजूद भी मलिक को भरोसा नहीं हो रहा। वे अब भी इस बात पर खुशी मनाने के लिए ISIS की पुष्टि का इंतजार कर रहे हैं। इसके कारण सोशल मीडिया पर उन्हें लोगों ने जमकर सुनाया है। लोगों ने पाकिस्तान को आतंक का एक्सपर्ट बताते हुए कहा कि लादेन भी वहीं रह रहा था, हो सकता है बगदादी भी पाकिस्तान में ही छिपा हो।

लोग रहमान मलिक को रेल मंत्री शेख राशीद के बाद पाकिस्तान का सबसे बड़ा कार्टून बता रहे हैं और पूछ रहे हैं कि हाफिज सईद और मसूद अजहर का क्या हुआ? वो तो पाकिस्तान में अब भी सुरक्षित हैं।

सोशल मीडिया यूजर्स का कहना है कि जब कोई सुनता है कि उसका करीबी मरा है तो उसे पहली बार में यकीन नहीं होता, वो बार-बार उसके बारे में जानना चाहता हैं। यही कारण है कि मलिक चाहते हैं कि ISIS इसकी पुष्टि करे।

कुछ लोगों ने पाकिस्तान पर सीधा निशाना साधते हुए कहा है, “अगर बगदादी जिंदा है, तो वो जरूर पाकिस्तान में ही होगा। क्योंकि पाकिस्तान ही सबसे सुरक्षित जगह हैं आतंकियों के लिए। इसलिए यूएस को एक स्ट्राइक पाकिस्तान पर भी करनी चाहिए।”

बता दें कि ये पहली बार नहीं जब पाकिस्तानी सीनेटर रहमान मलिक ने लोगों को अपनी कम बुद्धि का परिचय दिया हो। इससे पहले भी एक फेक ट्विटर अकॉउंट पर चिदंबरम की गिरफ्तारी की खबर को सच मानकर वे फजीहत बटोर चुके हैं। इस ट्वीट में कहा गया था कि पीएम मोदी का विरोध करने पर चिदंबरम को जेल जाना पड़ा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जो पुराना फोन आप यूज नहीं करते उसके बारे में मुझे बताइए… कहीं अपनी ‘दुकानदारी’ में आपकी गर्दन न नपवा दे न्यूजलॉन्ड्री वाला ‘झबरा’

अभिनंदन सेखरी ने बताया है कि वह फोन यहाँ बेघर लोगों को देने जा रहा है। ऐसे में फोन देने वाले को नहीं पता होगा कि फोन किसके पास जा रहा है।

कौन हैं पुणे के रईसजादे को बेल देने वाले एलएन दावड़े, अब मीडिया से रहे भाग: जिसने 2 को कुचल कर मार डाला उसे...

पुणे पोर्श कार के आरोपित को बेल देने वाले डॉक्टर एल एन दावड़े की एक वीडियो सामने आई है इसमें वो मीडिया से भाग रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -