Tuesday, October 26, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'अगर यहाँ एक भी मंदिर बना तो मैं सबसे पहले सुसाइड जैकेट पहन कर...

‘अगर यहाँ एक भी मंदिर बना तो मैं सबसे पहले सुसाइड जैकेट पहन कर उस पर हमला करूँगा’: पाकिस्तानी शख्स का वीडियो वायरल

"अगर हमारी पाकिस्तान की धरती पर और इस सरजमीं पर किसी भी जगह बुतखाना या मंदिर बनाया गया, तो इस हकूमत के अभी मैं खिलाफ हूँ, लेकिन अगर ऐसा हुआ तो इस हकूमत का सबसे बड़ा दुश्मन मैं होऊँगा। और जिस जगह पर मंदिर बनाया गया, उन कश्मीर की माओं-बहनों की कसम खाकर कहता हूँ कि सबसे पहले खुद वो जैकेट....."

हाल ही में पाकिस्तान के इस्लामाबाद में एक हिंदू मंदिर निर्माण को लेकर खूब विरोध हुआ। कई संगठनों और नेताओं ने इसे इस्लाम विरोधी करार दिया और भयावह नतीजों की चेतावनी तक दे डाली। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक युवक पाकिस्तान में मंदिर बनाने या बुतपरस्ती करने पर उसे खुद बम से उड़ाने की बात कहते हुए देखा जा सकता है।

पाकिस्तान के सामाजिक कार्यकर्ता राहत ऑस्टिन में इस वीडियो को ट्वीट किया है। इस वीडियो में एक व्यक्ति कहता है –

“ला इलाहा इल्लल्लाह मुहम्मदुन रसूलुल्लाह। मैं अपने अल्लाह को हाजिर नाजिर जानते हुए अपनी कौम, अपने पाकिस्तान से एक अहद (वादा) करता हूँ कि अगर हमारी पाकिस्तान की धरती पर और इस सरजमीं पर किसी भी जगह बुतखाना या मंदिर बनाया गया, तो इस हकूमत के अभी मैं खिलाफ हूँ, लेकिन अगर ऐसा हुआ तो इस हकूमत का सबसे बड़ा दुश्मन मैं होऊँगा। और जिस जगह पर मंदिर बनाया गया, उन कश्मीर की माओं-बहनों की कसम खाकर कहता हूँ कि सबसे पहले खुद वो जैकेट सीने के ऊपर मैं पहनूँगा और कोशिश करूँगा कि सबसे पहला हमला मेरी तरफ से हो उन बुतों और उस मंदिर को तबाह करने के लिए।”

ये वीडियो ऐसे समय पर सामने आया है जब पाकिस्तान में हिन्दुओं के मंदिर को लेकर सियासत गर्म है। कुछ दिनों पहले ही ‘इस्लामाबाद कैपिटल डेवलपमेंट अथॉरिटी’ ने मंदिर के लिए ज़मीन दी थी। लेकिन मज़हबी शिक्षा देने वाली संस्था जामिया अशर्फ़िया मदरसा के एक मुफ़्ती ने इसके ख़िलाफ़ फ़तवा जारी कर दिया था। इतना ही नहीं, मंदिर का निर्माण रोकने के लिए एक वकील हाईकोर्ट तक पहुँच गया।

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में कट्टरपंथियों के दबाव में प्रशासन ने श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण कार्य पर रोक लगा दी है। अब वहाँ तोड़फोड़ किए जाने की खबरें भी सामने आई हैं।

इस ​हरकत को अंजाम देने वाले का नाम मलिक शनी अवन बताया जा रहा। इस्लामाबाद के लोग इस घटना के बाद उसे ‘हीरो’ ​की तरह पेश कर रहे। उसकी जम कर प्रशंसा की जा रही है।

सोशल मीडिया में पाकिस्तानी उसकी तारीफ कर रहे हैं, जिससे वहाँ पहले से ही डर के साए में जी रहे हिन्दुओं के लिए माहौल और ज्यादा असुरक्षित हो गया है। मलिक शनी ने न सिर्फ मंदिर की संपत्ति को नुकसान पहुँचाया बल्कि ऐसा करते हुए वीडियो भी शूट किया।

ऐसा एक ही नहीं बल्कि कई विडियो सोशल मीडिया पर आजकल शेयर किए जा रहे हैं। कुछ ही दिन पहले एक पिता अपने मासूम बेटे से मंदिर के खिलाफ संदेश देते हुए देखा गया था।

वीडियो में बच्चा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को संदेश दे रहा था और कह रहा था, “खान साहब! अगर इस्लामाबाद में मंदिर बना तो ये याद रखना मैं उन हिंदुओं को चुन चुन के मरूँगा। समझ गए? अल्लाह हाफिज।”

यह भी देखा गया है कि हिन्दुओं के खिलाफ ऐसे नफरती संदेशों को एक विशेष समुदाय द्वारा बहुत सराहना भी मिलती है। यही नहीं, पाकिस्तान के शीर्ष नेता भी यह संदेश देते देखे गए कि पाकिस्तान में हिन्दू मंदिरों की जरूरत ही क्या है?

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल में नॉन-हलाल रेस्तराँ खोलने वाली महिला को बेरहमी से पीटा, दूसरी ब्रांच खोलने के खिलाफ इस्लामवादी दे रहे थे धमकी

ट्विटर यूजर के अनुसार, बदमाशों के खिलाफ आत्मरक्षा में रेस्तराँ कर्मचारियों द्वारा जवाबी कार्रवाई के बाद केरल पुलिस तुशारा की तलाश कर रही है।

असम: CM सरमा ने किनारे किया दीवाली पर पटाखों पर प्रतिबंध का आदेश, कहा – जनभावनाओं के हिसाब से होगा फैसला

असम में दीवाली के मौके पर पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध का ऐलान किया गया था। अब मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा है कि ये आदेश बदलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,829FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe