Monday, August 2, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयफ्रांस के ग्रेट मस्जिद में सूअर का कटा हुआ सिर: तुर्की मुस्लिम समूह का...

फ्रांस के ग्रेट मस्जिद में सूअर का कटा हुआ सिर: तुर्की मुस्लिम समूह का आरोप, मस्जिद मैनेजमेंट ने की शिकायत

उत्तरी फ्रांस में एक मस्जिद के अंदर सूअर का एक कटा हुआ सिर मिला। मस्जिद के मैनेजमेंट ने भी इस संबंध में शिकायत की। फ्रेंच काउंसिल फॉर मुस्लिम ने इस घटना की निंदा की और...

फ्रांस में बढ़ रहे इस्लामी आतंकी हमलों के कारण वहाँ की जनता में आक्रोश है। अब तुर्की मीडिया के अनुसार सोमवार को मुस्लिम समुदाय को मजहबी तौर से ठेस पहुँचाने वाली एक घटना उत्तरी फ्रांस में घटी है। अंतरराष्ट्रीय खबरें बताती हैं कि उत्तरी फ्रांस में एक मस्जिद के अंदर सूअर का एक कटा हुआ सिर मिला।

यह घटना ओइसे के कॉमपिइने (Compiegne) शहर में स्थित ग्रेट मस्जिद में घटी, जिसमें कुछ समय से मरम्मत का काम चल रहा था। यह जानकारी कॉमपिइने के डिटिब नाम के तुर्की मुस्लिम समूह ने सोमवार को बयान जारी करके दी।

उन्होंने इस घटना की निंदा की। साथ ही मस्जिद के मैनेजमेंट ने भी इस संबंध में शिकायत की। फ्रेंच काउंसिल फॉर मुस्लिम ने भी इस घटना की निंदा की और मस्जिद व समुदाय के नेतृत्व के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त की। रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि यह घटना फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मैनुएल मैक्रों के विवादित बयान के बाद सामने आई है।

यहाँ बता दें कि पिछले महीने मैक्रों ने इस्लाम पर एक बयान दिया था। इसके बाद से उनकी निंदा मुस्लिम देशों द्वारा की जा रही थी। कई इस्लामी देशों ने फ्रांस के उत्पादों का बॉयकॉट करने का आह्वान किया। वहीं दूसरी ओर देश में कई आतंकी हमले की घटनाएँ भी हुई।

उल्लेखनीय है कि मैक्रों ने अपने विवादित बयान में कहा था, “इस्लाम एक ऐसा मज़हब है जिस पर पूरी दुनिया में संकट है, ऐसा सिर्फ हम अपने देश में नहीं देख रहे हैं।”

इसके अलावा उन्होंने पेरिस में शिक्षक की हत्या के बाद भी अपना पक्ष मजबूती से रखा था और हाल में हुई लगातार आतंकी हमलों का जवाब देते हुए फ्रांस ने अलकायदा के आतंकियों पर फ्रांस ने तगड़ा प्रहार किया था।

फ्रांस की वायुसेना ने अफ्रीकी देश माली में सक्रिय अलकायदा के आतंकवादियों पर जोरदार हवाई हमला बोला था। फ्रांस एयरफोर्स ने माली में बुरकिनो फासो और नाइजर की सीमा के पास एक एयर स्ट्राइक की थी, जिसमें कम से कम अलकायदा के 50 आतंकियों के मारे जाने की खबर सामने आई थी। फ्रांस ने यह हमला सोमवार (नवंबर 2, 2020) को ही किया था। इसके लिए उन्होंने मिराज फाइटर जेट और ड्रोन्स का इस्तेमाल किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe