Monday, May 16, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपुलिस कॉन्स्टेबल नजमुल को पसंद नहीं आया प्रोफेसर लता का बिंदी लगाना: सड़क पर...

पुलिस कॉन्स्टेबल नजमुल को पसंद नहीं आया प्रोफेसर लता का बिंदी लगाना: सड़क पर धक्का दे गिराया, किया प्रताड़ित

"बांग्लादेश में एक कट्टरपंथी पुलिस कॉन्सटेबल ने बिंदी लगाने पर कॉलेज की प्रोफेसर लता समद्दर को परेशान किया। तब से सभी समुदायों के पुरुष और महिलाएँ बिंदी लगाकर इस घटना का विरोध कर कर रहे हैं। वे चाहते हैं कि बंगाली संस्कृति पर कोई हमला न हो।"

बांग्लादेश (Bangladesh) की राजधानी ढाका में कॉलेज की एक प्रोफेसर ने आरोप लगाया है कि एक पुलिस कॉन्स्टेबल ने उन्हें बिंदी लगाने पर परेशान किया और जान से मारने की कोशिश की। उन्होंने पुलिस के उच्च अधिकारियों से न्याय की गुहार लगाते हुए सुरक्षा की माँग की है। अंतरराष्ट्रीय मीडिया के मुताबिक, ढाका के तेजगाँव कॉलेज में थिएटर और मीडिया स्टडीज पढ़ाने वाली लता समद्दर (College Teacher Lata Samaddar) के साथ यह घटना शनिवार (2 अप्रैल, 2022) की सुबह कॉलेज के पास हुई। उन्होंने शेर-ए-बांग्ला नगर पुलिस स्टेशन में उस पुलिस कॉन्स्टेबल की शिकायत भी की है।

महिला प्रोफेसर ने अपनी शिकायत में बताया कि शनिवार सुबह उनके कॉलेज के पास मोटरसाइकिल पर खड़े एक पुलिस कॉन्स्टेबल ने उन्हें बिंदी लगाने पर परेशान किया और जब उन्होंने इस बात पर उसका विरोध किया तो उसने =उन्हें जान से मारने की कोशिश की। प्रोफेसर लता समद्दर का कहना है कि उसने उन्हें बाइक से धक्का देने और चोटिल करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने तेजी से बाइक के सामने से हटते हुए अपनी जान बचा ली, पर इस दौरान वह सड़क पर गिर गईं, जिसकी वजह से उन्हें कुछ चोटें आई हैं। उनका कहना है कि इस घटना के बाद से वह बेहद असुरक्षित महसूस कर रही हैं।

ढाका मेट्रोपॉलिटन पुलिस के तेजगाँव डिवीजन के डिप्टी कमिश्नर बिप्लब कुमार सरकार ने बताया, “उस कॉन्स्टेबल का नाम नजमुल तारेक है। जाँच में सामने आया है कि वह इस घटना में शामिल था।” पुलिस कॉन्स्टेबल के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाएगी, इसके जवाब में ढाका के पुलिस कमिश्नर (Md Shafiqul Islam) मोहम्मद शफीकुल इस्लाम ने कहा, “उसके खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी।”

वहीं, शेर-ए-बांग्ला नगर पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर जहाँगीर आलम ने कहा कि घटनास्थल के पास से सीसीटीवी फुटेज जुटाए गए थे, लेकिन हम शुरुआत में इस बात की पुष्टि नहीं कर पाए थे कि प्रोफेसर को परेशान करने वाला कोई पुलिसकर्मी था।

सोशल मीडिया पर यह खबर वायरल होने के बाद, यूजर्स इसकी कड़ी आलोचना कर रहे हैं। अभिनेत्री और सांसद सुबोरना मुस्तफा (Suborna Mustafa) ने रविवार (3 अप्रैल 2022) को संसद में इस घटना पर चर्चा करते हुए प्रोफेसर को प्रताड़ित करने और जान से मारने की कोशिश करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की माँग की। वहीं, भारत में रह रहीं बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने भी बंगाली संस्कृति पर हमला करने वालों की आलोचना की है। उन्होंने ट्वीट किया, “बांग्लादेश में एक कट्टरपंथी पुलिस कॉन्सटेबल ने बिंदी लगाने पर कॉलेज की प्रोफेसर लता समद्दर को परेशान किया। तब से सभी समुदायों के पुरुष और महिलाएँ बिंदी लगाकर इस घटना का विरोध कर कर रहे हैं। वे चाहते हैं कि बंगाली संस्कृति पर कोई हमला न हो।”

बता दें कि तस्लीमा नसरीन ने इससे पहले भी कई बार सोशल मीडिया के जरिए बांग्लादेश के कट्टरपंथियों के खिलाफ आवाज उठाई है। पिछले साल अक्टूबर में हिन्दुओं, उनके मंदिरों और प्रतिष्ठानों पर इस्लामी कट्टरपंथियों के हमले को लेकर तस्लीमा नसरीन ने सोशल मीडिया पर लिखा था, “पैगम्बर मुहम्मद ने काबा में पेगन समुदाय की 360 मूर्तियों को खंडित कर दिया था। उनका अनुसरण करने वाले उनके ही नक्शेकदम पर चल रहे हैं।” लेखिका ने यह भी कहा था कि बांग्लादेश में जिहाद रोकने का एक ही उपाय है कि सभी मदरसों, मस्जिदों, वाज़ महफ़िलों और इज्तेमा को पूर्णरूपेण बंद कर देना चाहिए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तहखाना नहीं मंदिर का मंडपम कहिए, भव्य है पन्ना पत्थर का शिवलिंग’: सर्वे पर भड़की महबूबा मुफ्ती, बोलीं- ‘इनको मस्जिद में ही मिलते हैं...

"आज ये मस्जिद, कल वो मस्जिद, मैं अपने मुस्लिम भाइयों से बोलती हूँ एक ही बार ये हमें मस्जिदों की लिस्ट बताएँ, जिस पर इनकी नजर है।"

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe