Wednesday, June 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयPOK में इमरान खान की रैली फ्लॉप, रावलपिंडी से ट्रकों में भरकर लाए गए...

POK में इमरान खान की रैली फ्लॉप, रावलपिंडी से ट्रकों में भरकर लाए गए लोग

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से बौखलाए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शुक्रवार को तीसरी बार POK पहुँचे थे। इमरान खान की इस एकजुटता रैली का पीओके की जनता ने खुलकर विरोध किया।

पीओके के मुजफ्फराबाद में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान फ्लॉप रही। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) के राजनीतिक कार्यकर्ता अमजद अयूब मिर्ज़ा ने बताया कि स्थानीय जनता ने पूरी तरह रैली का बहिष्कार किया। भीड़ दिखने के लिए बाहर से ट्रकों में भरकर लोग लाए गए थे।

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से बौखलाए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शुक्रवार को तीसरी बार POK पहुँचे थे। मिर्ज़ा ने बताया कि इमरान खान की इस एकजुटता रैली का पीओके की जनता ने खुलकर विरोध किया। रैली में भीड़ दिखाने के लिए पाकिस्तान के एबटाबाद और रावलपिंडी से लोगों को ट्रकों में भरकर लाया गया। उन्होंने कहा कि इस रैली का बहिष्कार करने पर पीओके की जनता को वैश्विक समुदाय से बधाई मिलनी चाहिए।

मिर्जा ने समाचार एजेंसी ANI से कहा- “मुजफ्फराबाद में इमरान की रैली फ्लॉप रही है। रैली के लिए एबटाबाद और रावलपिंडी से लोगों को ट्रकों में भरकर लाया गया। POK के लोगों ने रैली का पूरी तरह बहिष्कार किया। इसके लिए दुनिया को यहाँ के लोगों को बधाई देनी चाहिए।”

इमरान ने घुसपैठ के लिए उकसाया

इमरान खान ने शुक्रवार को POK की राजधानी मुजफ्फराबाद में रैली कर भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ जमकर जहर उगला। मुजफ्फराबाद में एकजुटता रैली को संबोधित करते हुए इमरान ने भारत को धमकी देते हुए इस्लाम का वास्ता देकर खुलेआम POK के युवाओं को घुसपैठ के लिए उकसाया।

अपने भाषण में इमरान खान ने कहा- “मुझे आपके जज्बे का पता है कि आप लाइन ऑफ कंट्रोल की तरफ जाना चाहते हैं। नौजवानों! मुझे पता है, आप में जज्बा और जुनून है। लेकिन अभी लाइफ ऑफ कंट्रोल की तरफ नहीं जाना, जब तक मैं आपको नहीं बताता। मैं आपसे कहूँगा कि कब जाना है, अभी आपको नहीं जाना है। पहले मुझे यूनाइटेड नेशन्स (UN) जाने दो, दुनिया के लीडर्स को बताने दो, कश्मीर का केस लड़ने दो। कश्मीर का मसला हल नहीं किया, तो इसका असर पूरी दुनिया पर जाएगाा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -