Monday, July 15, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'जो शिव और राम का नहीं, वो किसी काम का नहीं': नेपाल के कई...

‘जो शिव और राम का नहीं, वो किसी काम का नहीं’: नेपाल के कई शहरों में नूपुर शर्मा के समर्थन में विशाल रैली, लोगों ने पूछा – भारत के हिन्दू कहाँ?

एक यूजर ने लिखा, "नेपाल के बीरगंज शहर में हिंदू समाज ने ‘सत्यवादी’ नुपूर शर्मा के समर्थन में विशाल जुलूस निकाला। अफसोस कि अपने देश के ही हिंदू इस धर्म और अधर्म की लडाई में कहीं सडकों पर नहीं दिखे।"

भाजपा नेता नूपुर शर्मा और हिंदू धर्म के समर्थन में पड़ोसी देश नेपाल में बड़ी रैली आयोजित की गई। नेपाल में रह रहे हजारों हिंदुओं ने नूपुर शर्मा के समर्थन में सड़कों पर रैली निकाली। यह रैली राजधानी काठमांडू के अलावा बीरगंज, पीरगंज और अन्य शहरों में भी निकाली गई। 

इस दौरान ‘जय हिंदू’, ‘जय हिंदुत्व’ और ‘जय श्री राम’ जैसे नारे लगाए गए। रैली में “जो हिंदू शिव और राम का नही वो किसी काम का नही” जैसे पोस्टर भी दिखाई दिए। बीरगंज में रैली के दौरान एक हिंदू संत को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि हिंदू आस्था के खिलवाड़ होने पर वह भी चुप्पी साध कर नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा कि पहले भी हिंदू धर्म को गाली दया गया। हाल ही में पाकिस्तान में शिव मंदिर को तोड़ दिया गया। फिर भारत की घटना को लेकर मुस्लिमों ने गुंडागर्दी किया। अब वह शांतिपूर्ण जुलूस निकालकर अपनी धर्म की रक्षा कर रहे हैं। इसमें भी कुछ जिहादी अडंगा डाल रहे हैं। हिंदू समर्थकों ने ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ के भी नारे लगाए।

रैली का वीडियो सामने आने के बाद नेटिजन्स भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, “यह है हमारा पड़ोसी देश नेपाल है तो छोटे भाई की तरह पर फर्ज निभाता है। बड़े भाई की तरह देखिए हमारे भारत में नूपुर शर्मा जी के पक्ष में किसी ने रैली नहीं निकाली पर नेपाल के हमारे भाइयों ने नूपुर शर्मा जी के पक्ष में रैलियाँ निकालने शुरू कर दी। जय श्री राम नेपाल के सभी भाई बहनों को प्रणाम।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “नूपुर शर्मा के समर्थन में नेपाल के काठमांडू में ज़बरदस्त प्रदर्शन। नेपाल के हिन्दू जाग गए लेकिन भारत का हिन्दू सोया हुआ है।”

शिवचरण सुदर्शन यादव लिखते हैं, “पड़ोसी देश नेपाल में हिन्दू भाइयों ने नूपुर शर्मा के समर्थन में रैली निकाली। भले हमारे बीच बार्डर है पर हम सभी भाई भाई हैं।”

एक यूजर ने लिखा, “नेपाल के बीरगंज शहर में हिंदू समाज ने ‘सत्यवादी’ नुपूर शर्मा के समर्थन में विशाल जुलूस निकाला। अफसोस कि अपने देश के ही हिंदू इस धर्म और अधर्म की लडाई में कहीं सडकों पर नहीं दिखे।”

गौरतलब है कि भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा द्वारा इस्लाम के पैगंबर मुहम्मद के कथित अपमान के नाम पर भारत में जगह-जगह किए जा रहे दंगे को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की पुलिस को सतर्क रहने को कहा है। मंत्रालय ने कहा कि हिंसा के दौरान उन्हें निशाना बनाया जा सकता है।

बता दें कि शुक्रवार (10 जून 2022) को विरोध प्रदर्शन के नाम पर देश के कई शहरों में दंगे किए गए। इस दौरान दंगाइयों ने पुलिस पर हमला किया। इस दौरान तोड़फोड़, आगजनी और पथराव की कई गंभीर एवं चिंताजनक घटनाएँ सामने आईं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शराब घोटाले में दिल्ली CM के खिलाफ जाँच पूरी, अब ₹1100 करोड़ की प्रॉपर्टी कुर्क करने की तैयारी: रिपोर्ट में ED अधिकारी के हवाले...

शराब घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने दावा किया है कि उनकी इस केस में पार्टी के साथ-साथ अरविंद केजरीवाल के खिलाफ जाँच पूरी हो गई है।

जो प्रधानमंत्री है खालिस्तानी आतंकियों का ‘हमदर्द’, उसने अब दिलजीत दोसांझ को दिया ‘सरप्राइज’: PM ट्रुडो से मिलकर बोले भारतीय सिंगर- विविधता कनाडा की...

कनाडा पीएम ट्रुडो जो हमेशा से खालिस्तानी आतंकियों के 'हमदर्द' बनकर रहे उन्होंने हाल में दिलजीत दोसांझ को कनाडा में 'सरप्राइज' दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -