Sunday, June 23, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय13 साल की जिस बच्ची से बार-बार रेप, BBC के लिए वो सेक्स के...

13 साल की जिस बच्ची से बार-बार रेप, BBC के लिए वो सेक्स के मामले में ‘अनुभवी’… बलात्कारी मोहम्मद भाइयों के ‘संघर्ष’ पर डॉक्यूमेंट्री

अंग्रेज बच्ची 13 साल की। उसे ड्रग्स-शराब-सिगरेट की लत लगा कर मोहम्मद उमर और मोहम्मद बदरेद्दीन ने ग्रूम किया। बार-बार रेप किया। BBC ने एक डॉक्यूमेंट्री बनाई। इस डॉक्यूमेंट्री में 13 साल की बच्ची को सेक्स के मामले में ‘अनुभवी’ बता डाला। जबकि बलात्कारी मोहम्मद भाइयों के सीरिया से इंग्लैंड आने की कड़ी यात्रा और संघर्ष पर बात की गई।

बीबीसी ने साल 2016 में अपने कार्यक्रम न्यूजलाइट में एक डॉक्यूमेंट्री दिखाई थी, जिसमें एक सीरियन परिवार को पीड़ित दिखाते हुए उनके ब्रिटेन पहुँचने की 11 महीने की कड़ी यात्रा को दिखाया गया था। उन पर बाद में रेप और टॉर्चर जैसे दोष साबित हुए और जेल की सजा सुनाई गई, लेकिन बीबीसी लगातार अपनी बेशर्मी दिखाता रहा और ‘सीरियन ग्रूमिंग गैंग’ को मासूम बताता रहा। यही नहीं, उसके पीड़ित 13 साल की बच्ची को ही सेक्स के मामले में ‘अनुभवी’ और ‘नस्लभेदी’ बता डाला। जिसके बाद अब लोगों का गुस्सा बीबीसी पर उतर रहा है।

इस सीरियन ग्रूमिंग गैंग को न्यूकैसल ग्रूमिंग गैंग का नाम दिया जा रहा है, जिसकी अगुवाई मोहम्मद उमर (Md Omer) और मोहम्मद बदरेद्दीन कर रहे थे। इन्हें कोर्ट ने कुल 38 साल 6 महीने की सजा सुनाई है। उन्होंने 13 साल की लड़की का अगस्त 2018 से अप्रैल 2019 के बीच अनगिनत बार रेप किया और मुँह खोलने पर जान से मारने की धमकी दी। पीड़ित ने कहा कि इस गैंग ने उसकी जिंदगी को नर्क बना दिया था। कोर्ट ने मोहम्मद बदरेद्दीन को 6 बार रेप और एक बार हिंसा के लिए 13 साल की कैद की सजा सुनाई है। बदरेद्दीन की उम्र अब 23 साल हो चुकी है, तो उसके भाई उमर को 5 बार रेप और धमकाने के मामले में 18 साल की कैद की सजा सुनाई है।

इस मामले में ग्रूमिंग गैंग के हुजेफा अलेबाउद (23) को रेप के तीन मामलों और यौन हिंसा से जुड़े एक मामले में साढ़े 5 साल की सजा सुनाई गई है, तो हामौद अल सोएमी(21) को तीन यौन हिंसा के मामले में 2 साल की सजा और 180 घंटों की सामुदायिक सेवा की सजा सुनाई सुनाई गई है।

पीड़ित ने बताई आपबीती, सिहर गए लोग

पीड़ित बच्ची ने बताया कि सीरियाई लोगों ने उसे टॉर्चर किया। उसे जब चाहा, तब बुलाया और उसके साथ रेप किया। उन्होंने उसकी जिंदगी को नर्क बना दिया। बदरेद्दीन ने कम से कम 7 बार उसका रेप किया और जान से मारने की धमकी दी। यही नहीं, उसे धमकाया गया कि अगर बुलाने पर वो नहीं आएगी, तो उसे उठाकर दूसरे देश ले जाएँगे। वहीं, बदरेद्दीन ने अपने बचाव में कहा कि उसने ऐसा कुछ नहीं किया है। लड़की सीरियाई लोगों ने से नफरत करती है, इसलिए उस पर ये आरोप लगाए गए। हालाँकि तमाम बयानों, सबूतों के आधार पर अब उन्हें दोषी ठहराया जा चुका है।

बीबीसी ने हर बार किया बेशर्मी से बचाव

डॉक्यूमेंट्री के वॉयसओवर सेगमेंट के दौरान यह दावा किया गया था, ‘सीरियाई अपराधी कई मायनों में उस लड़की की तुलना में कम ‘यौन अनुभवी’ दिखाई देते हैं जिनके बारे में माना जाता था कि उन पर हमला किया गया था।’ बीबीसी ने इन सीरियाईयों के पक्ष में ये कहकर भी इनका बचाव किया कि इन लोगों को अंग्रेजी नहीं आती, इसलिए ब्रिटेन के अधिकारियों ने इनके गलत बयान दर्ज किए, ताकि इन्हें ‘फ्रेम’ किया जा सके। बीबीसी पर कंजर्वेटिव पार्टी के सांसद और पूर्व मंत्री नील ओ’ब्रायन ने हमला बोला, उन्होंने बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री को खराब बताया और यौन अपराधियों को बचाने की कोशिश करने के लिए निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि बीबीसी को माफी माँगनी चाहिए, लेकिन बेशर्म बीबीसी ऐसा करता दिख नहीं रहा।

बीबीसी ने इस मामले में इस परिवार पर बनाई अपनी डॉक्यूमेंट्री का ये कहकर बचाव किया कि उस समय उन लोगों पर कोई आरोप नहीं थे। बाद में बदरेद्दीन और उमर पर यौन अपराधों के लिए मुकदमा चलाया गया औऱ उन्हें दोषी पाया गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

NEET पीपर लीक की जाँच अब CBI के हवाले, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने दर्ज की FIR: PG की परीक्षा के लिए नई तारीखों का...

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि विवाद की समीक्षा के बाद मंत्रालय ने मामले की व्यापक जाँच के लिए इसे सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -