Thursday, September 23, 2021
Homeरिपोर्टनये साल पर किसानों को मोदी सरकार का बड़ा तोहफा; 0% ब्याज पर मिलेगा...

नये साल पर किसानों को मोदी सरकार का बड़ा तोहफा; 0% ब्याज पर मिलेगा कर्ज

बता दें कि केंद्र सरकार लगातार 2022 तक किसानों की आय दुगुनी करने की बात कहती आ रही है।

ख़बरों के अनुसार नये साल पर केंद्र सरकार किसानों को बड़ा तोहफा देने का मूड बना चुकी है। अभी कुछ दिन पहले ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाहने केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह से उनके दिल्ली स्थित आवास पर मुलाक़ात की थी, तभी से ये अटकलें तेज हो गई थी कि सरकार चुनावी साल में किसानों के लिए बड़ी घोशनाए करने वाली है। मोदी सरकार किसानों को हर एक क्रॉप सीजन में एक प्रति एकड़ चार हजार रुपये देने की तैयारी कर रही है। इतना ही नहीं, किसानों को एक लाख तक के ब्याज मुक्त कर का लाभ भी दिया जा सकता है। ये सारे पैसे किसानों को डायरेक्ट ट्रान्सफर यानी सीधे उनके बैंक खातों में दिए जायेंगे।

वहीं इन फैसलों से केंद्र सरकार के खजाने पर सालाना ढाई लाख करोड़ तक का बोझ पड़ने की उम्मीद है। इसके अलावे अन्य योजनाओं की भी घोषणा की जा सकती है। कहा जा रहा है कि केंद्र ने प्रधानमंत्री कार्यालय और नीति आयोग के साथ बैठक भी बुलाई है जो इसी सप्ताह होने की उम्मीद है। इन बैठकों में कृषि और खाद्य सम्बन्धी मंत्रालयों और विभागों के प्रमुख अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री खुद इन योजनाओं की निगरानी कर रहे हैं और उन्होंने कई किसान नेताओं से मुलाकात कर उनका सुझाव भी मांगा है।

बता दें कि अभी हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने किसानों की कर्जमाफी को मुद्दा बनाया था और हिंदी बेल्ट के तीनो राज्यों में भाजपा की हार हुई थी। विश्लेषकों ने कांग्रेस द्वारा किसानों से किये गए कर्जमाफी के वादे को उसकी जीत की प्रमुख वजहों में से एक गिनाया था। इसके बाद से ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी इस मुद्दे को लेकर पीएम मोदी पर अक्सर निशाना साधते रहे हैं। ख़बरों से पता चलता है कि इन चुनावों में मिली हार के बाद सचेत भाजपा ने किसानों को बड़ी रहत देने के लिए चुनावी साल में ये फैसला लिया है।

पिछले साल केंद्र सरकार ने दस लाख करोड़ के कृषि ऋण का लक्ष्य निर्धारित किया था जिसे हासिल भी किया गया लेकिन अब कई दलों द्वारा किया जा रहे कर्जमाफी के चुनावी वादों के बाद बैंकों ने किसानों को कर्ज देना लगभग बंद कर दिया है। ताजा निर्णय में रुपये और अहयता सीधे किसानों के पास भेजे जायेंगे। इसके लिए किसानों से कुछ जानकारियां जैसे कि जमीन विवरण, आधार कार्ड डिटेल, फसल की जानकारी इत्यादि मांगी जा सकती है।

बता दें कि केंद्र सरकार लगातार 2022 तक किसानों की आय दुगुनी करने की बात कहती आ रही है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने भी कुछ दिनों पहले कहा था कि सरकार किसानों की आया दुगुनी करने के लिए अमान्य फसलों की खेती के अलावे पशु, मछली इत्यादि के पालन के लिए भी प्रोत्साहित कर रही है। अब देखना यह है कि होने वाली घोषणाओं में इन योजनाओं के साथ-साथ किसानों को और क्या सौगातें मिलती है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नंगी तस्वीरें माँगता, ओरल सेक्स के लिए जबरदस्ती’: हिंदूफोबिक कॉमेडियन संजय राजौरा की करतूत महिला ने दुनिया को बताई

पीड़िता ने बताया कि वो इन सब चीजों को नजरअंदाज कर रही थी क्योंकि वह कॉमेडियन को उसके काम के लिए सराहती थी।

गुजरात में ‘लैंड जिहाद’ ऐसे: हिंदू को पाटर्नर बनाओ, अशांत क्षेत्र में डील करो, फिर पाटर्नर को बाहर करो

गुजरात में अशांत क्षेत्र अधिनियम के दायरे में आने वाले इलाकों में संपत्ति की खरीद और निर्माण की अनुमति लेने के लिए कई मामलों में गड़बड़ी सामने आई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,920FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe