Tuesday, June 25, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाअहमदाबाद एयरपोर्ट पर पकड़े गए 4 ISIS आतंकी, श्रीलंका से आए थे: पाकिस्तान से...

अहमदाबाद एयरपोर्ट पर पकड़े गए 4 ISIS आतंकी, श्रीलंका से आए थे: पाकिस्तान से हुक्म का कर रहे थे इंतजार

यह चारों आतंकी एयरपोर्ट पर किसी का इंतजार कर रहे थे। इन्हें गुजरात ATS ने केन्द्रीय सुरक्षा बलों से मिले इनपुट के बाद गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है कि यह चारों आतंकी किसी पाकिस्तानी हैंडलर के दिशानिर्देश पर काम कर रहे थे।

गुजरात एंटी टेरिरिस्ट स्क्वाड (ATS) ने गुजरात के सरदार वल्लभ भाई पटेल अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट अहमदाबाद से इस्लामिक स्टेट (ISIS) के 4 आतंकवादी पकड़े हैं। यह सभी पड़ोसी देश श्रीलंका से भारत आए थे। इन्हें सोमवार (20 मई, 2024) को पकड़ा गया।

जानकारी के अनुसार, यह चारों ISIS के आतंकवादी अहमदाबाद एयरपोर्ट पर किसी का इंतजार कर रहे थे। इन्हें गुजरात ATS ने केन्द्रीय सुरक्षा बलों से मिले इनपुट के बाद गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है कि यह चारों आतंकी किसी पाकिस्तानी हैंडलर के दिशानिर्देश पर काम कर रहे थे।

यह भी कहा गया है कि इहने गुजरात में ही हथियार दिए जाने थे, जिसके बाद यह किसी बड़ी घटना को अंजाम देते। गुजरात ATS इन्हें गिरफ्तार करने के बाद अपने साथ ले गई है और इनसे पूछताछ कर रही है। पता लगाया जा रहा है कि यह चारों भारत किस तरह की आंतकी गतिविधि करने आए थे और इनका भारत में मददगार कौन था।

यह भी सामने आया है कि यह चारों श्रीलंकाई नागरिक हैं और पहले श्रीलंका से चेन्नई आए थे। इसके बाद वह यहाँ से गुजरात पहुँचे। इन आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद अहमदाबाद एयरपोर्ट पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। चारों आतंकियों के नाम अभी सामने नहीं आए हैं।

गौरलतब है कि हाल ही में अहमदाबाद एयरपोर्ट पर हमले की धमकी भी दी गई थी। यह धमकी 12 मई को दी गई थी। इसके बाद यह ISIS आतंकी गिरफ्तार हुए हैं। गुजरात में 15 दिन पूर्व भी पाकिस्तान के हैंडलर के दिशानिर्देशों पर काम करने वाले मौलाना अबूबक्र सोहेल गिरफ्तार हुआ था।

बताया था कि यह मौलाना हिन्दूवादी नेताओं, नुपुर शर्मा, टाइगर राजा सिंह, उपदेश राणा और पत्रकार सुरेश चव्हाणके को मारने की योजना बना रहा था। बाद में गुजरात पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए इसके 2 और साथियों को देश के अलग-अलग हिस्से से पकड़ा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जूलियन असांजे इज फ्री… विकिलीक्स के फाउंडर को 175 साल की होती जेल पर 5 साल में ही छूटे: जानिए कैसे अमेरिका को हिलाया,...

विकिलीक्स फाउंडर जूलियन असांजे ने अमेरिका के साथ एक डील कर ली है, इसके बाद उन्हें इंग्लैंड की एक जेल से छोड़ दिया गया है।

‘जिन्होंने इमरजेंसी लगाई वे संविधान के लिए न दिखाएँ प्यार’: कॉन्ग्रेस को PM मोदी ने दिखाया आईना, आपातकाल की 50वीं बरसी पर देश मना...

इमरजेंसी की 50वीं बरसी पर पीएम मोदी ने कॉन्ग्रेस पर निशाना साधा। साथ ही लोगों को याद दिलाया कि कैसे उस समय लोगों से उनके अधिकार छीने गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -