Saturday, May 25, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाकश्मीर में हिन्दुओं की टारगेट किलिंग का सरगना हिज्बुल कमांडर तालिब हुसैन बेंगलुरु से...

कश्मीर में हिन्दुओं की टारगेट किलिंग का सरगना हिज्बुल कमांडर तालिब हुसैन बेंगलुरु से गिरफ्तार, घाटी में अब तक 47 टेरर मॉड्यूल तबाह

जम्मू-कश्मीर पुलिस और 17 राष्ट्रीय राइफल्स की टीम ने संयुक्त ऑपरेशन चलाकर बेंगलुरू में छुपे बैठे तालिब हुसैन को पकड़ लिया।

जम्मू-कश्मीर में हिन्दुओं की टारगेट किलिंग करवाने के मामले में मास्टरमाइंड आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर तालिब हुसैन को कर्नाटक के बेंगलुरू से गिरफ्तार कर लिया गया है। जम्मू-कश्मीर पुलिस और 17 राष्ट्रीय राइफल्स की टीम ने संयुक्त ऑपरेशन चलाकर बेंगलुरू में छुपे बैठे तालिब हुसैन को पकड़ लिया। राज्य के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा है कि अब तक घाटी में 47 टेरर मॉड्यूल को ध्वस्त किया जा चुका है।

रिपोर्ट के मुताबिक, 3 जून को पकड़ा गया आतंकी तालिब हुसैन जम्मू के किश्तवाड़ जिले की नागसेनी तहसील के राशग्वारी का रहने वाला है। वो 2016 में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ था। तालिब इकलौता आतंकी है जो कि सुरक्षाबलों की हिटलिस्ट में होने के बाद भी सबसे अधिक समय तक जिंदा बचा रहा। तालिब गुर्जर यहाँ की स्थानीय गुर्जर जनजाति से ताल्लुक रखता है, जो कि यहाँ के पहाड़ों से अच्छी तरह से वाकिफ हैं।

वो पाँच बच्चों का अब्बू है। किश्तवाड़ के मारवाह और दछन के ऊपरी इलाकों में उसे अक्सर ही हथियारों का साथ घूमते देखा जाता रहा है। उसे मुख्यधारा में लाने के लिए कई बार उसके परिवार के लोगों ने पुलिस से मदद माँगी। हालाँकि, कोई असर नहीं हुआ।

दैनिक भास्कर से बात करते हुए जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने तालिब की गिरफ्तारी को बड़ी कामयाबी करार दिया और कहा कि इसके कारण राजौरी और पुंछ में आतंकी एक्टिव हो गए थे। उन्होंने कहा कि बीते पाँच महीनों में घाटी में 47 टेरर मॉड्यूल को न्यूट्रल कर दिया गया है। टार्गेट किलिंग में शामिल आतंकियों को आइडेंटिफाई कर लिया गया है और अब उनकी पकड़ की जानी है।

इस बीच पता चला है कि अनंतनाग जिले में आतंकियों के साथ मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी कमांडर निसार खांडे को ढेर कर दिया है। इस बात की पुष्टि जम्मू-कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

OBC आरक्षण में मुस्लिम घुसपैठ पर कलकत्ता हाई कोर्ट का फैसला देश की आँख खोलने वाला: PM मोदी ने कहा – मेहनती विपक्षी संसद...

पीएम मोदी ने कहा कि मेरे लिए मेरे देश की 140 करोड़ जनता साकार ईश्वर का रूप है। सरकार और राजनीति दलों को जनता प्रति उत्तरदायी होना चाहिए।

SFI के गुंडों के बीच अवैध संबंध, ड्रग्स बिजनेस… जिस महिला प्रिंसिपल ने उठाई आवाज, केरल सरकार ने उनका पैसा-पोस्ट सब छीना, हाई कोर्ट...

कागरगोड कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ रेमा एम ने कहा था कि उन्होंने छात्र-छात्राओं को शारीरिक संबंध बनाते देखा है और वो कैंपस में ड्रग्स भी इस्तेमाल करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -