Wednesday, May 22, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाJ&K के सुरनकोट मुठभेड़: सेना के जेसीओ समेत 5 जवान बलिदान, एक आतंकी ढेर,...

J&K के सुरनकोट मुठभेड़: सेना के जेसीओ समेत 5 जवान बलिदान, एक आतंकी ढेर, मुठभेड़ जारी

इस घेराबंदी में तीन से चार आतंकियों के घिरे होने की सूचना है। साथियों की शहादत के बाद सुरक्षाबलों ने भी अपना अभियान तेज कर दिया है। एक भी आतंकी इस मुठभेड़ से बचकर न निकल भागें इसकेे लिए घेराबंदी को और मजबूत बनाया जा रहा है।

जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर के नियंत्रण रेखा से सटे सुरनकोट में सुरक्षा बलों की आतंकियों के साथ मुठभेड़ जारी है। इस मुठभेड़ के दौरान सेना के जेसीओ समेत 5 जवानों के बलिदान होने की खबर है। इससे पहले सुरक्षाबलों ने सोमवार (11 अक्टूबर, 2021) सुबह अनंतनाग और बांदीपोरा में हुए मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया था। फ़िलहाल, अभी बलिदानी जेसीओ व अन्य चार जवानों की अभी पहचान जाहिर नहीं की गई है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस घेराबंदी में तीन से चार आतंकियों के घिरे होने की सूचना है। साथियों की शहादत के बाद सुरक्षाबलों ने भी अपना अभियान तेज कर दिया है। एक भी आतंकी इस मुठभेड़ से बचकर न निकल भागें इसकेे लिए घेराबंदी को और मजबूत बनाया जा रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस के एक अधिकारी के हवाले से बताया जा रहा है कि स्थानीय लोगों द्वारा सुरनकोट नियंत्रण रेखा से सटे जंगलों में संदिग्ध देखे जाने की सूचना के आधार पर एसओजी, सेना ने सुबह से तलाशी अभियान चलाया हुआ था। तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों को जंगल में आतंकियों के मौजूद होने के सबूत मिले। सुरक्षाबलों ने आतंकियों का पीछा करना शुरू कर दिया। लेकिन जैसे सुरक्षाकर्मी आतंकियों के नजदीक पहुँचे तो पहले से घाट लगाकर पेड़ों की होड़ में छिपे आतंकियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी।

जानकारी के अनुसार रविवार (10 अक्टूबर, 2021) को जम्मू कश्मीर पुलिस ने बांदीपोरा में आतंकियों के चार मददगारों को गिरफ्तार किया था। जब उनकी कड़े तरीके से पूछताछ हुई तो पता चला कि उनका एक साथी इसी इलाके में छिपा हुआ है। रिपोर्ट के अनुसार, इन आतंकियों ने ही कुछ दिन पहले इलाके में एक सूमो चालक की हत्या कर दी थी। इसके बाद पुलिस ने मददगारों से पूछताछ के बाद आतंकी के ठिकाने को घेर लिया गया।

वहीं दूसरा एनकाउंटर बांदीपोरा के हाजिन इलाके के गुंड जहाँगीर में हुआ है। सुरक्षा बलों ने आतंकी को सरेंडर करने के लिए कहा लेकिन उसने फायरिंग कर दी। इसके बाद दोनों तरफ से मुठभेड़ हुई और आतंकी को मार दिया गया। मारे गए आतंकी की पहचान इम्तियाज अहमद डार के रूप में हुई है। वह टीआरएफ (द रेजिस्टेंस फ्रंट) का आतंकी था। शाहगुंड में उसने चालक की हत्या कर दी थी। उसके पास से भी पिस्टल को बरामद किया गया। माना जा रहा है कि वह भी इसी ग्रुप की तरह काम करता था। क्योंकि कश्मीर में पिछले दिनों जो हत्याएँ हुई है। उनमें पिस्टलों का ही इस्तेमाल किया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत की ज्ञानकीर्ति का मुकुटमणि है कश्मीर का शंकराचार्य मंदिर: ईसाई-इस्लाम के आगामी प्रभाव से परिचित थे आचार्य शंकर, जानिए कैसे एक सूत्र में...

वैदिक ऋषियों की वेदोक्त समदृष्टि केवल उपदेश मात्र नही; अपितु यह उनका अनुभव जन्य साक्षात्कृत् ज्ञान है। जो सभी काल, स्थान, परिस्थिति में अनुकरणीय एवं अकाट्य हैं।

फर्जी वोटिंग करते पकड़े गए मोहम्मद सनाउल्लाह और 3 खातूनें, भीड़ ने थाने पर हमला कर सबको छुड़ाया: बिहार के जाले की घटना, 20...

फर्जी वोटिंग में पकड़े गए लोगों को छुड़ाने के लिए 130-140 लोगों ने थाने पर हमला कर दिया और पुलिस पदाधिकारियों के साथ दुर्व्यवहार करते हुए चारों को पुलिस की अभिरक्षा से छुड़ा लिया

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -