Sunday, May 22, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षापाक में मसूद अज़हर के भाई समेत 44 आतंकियों की गिरफ्तारी का सच क्या...

पाक में मसूद अज़हर के भाई समेत 44 आतंकियों की गिरफ्तारी का सच क्या है?

आतंकवाद को लेकर चारो तरफ से घिरा पाकिस्तान भले ही आतंकियों के गिरफ्तारी की बात कर रहा है, लेकिन इस पर विश्वास करना काफी मुश्किल है।

पुलवामा हमले के बाद से ही पाकिस्तान पर लगातार आतंकवाद पर कार्रवाई करने का दवाब बन रहा है और इसी बीच पाकिस्तान की तरफ से खबर आई है कि आतंकी मसूद अजहर के भाई मुफ्ती अब्दुल रऊफ और हम्मार अजहर समेत 44 आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

हालाँकि पाकिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्री शहरयार अफरीदी का कहना है कि ये कार्रवाई किसी दवाब में नहीं किया है, लेकिन ये बात जगजाहिर है कि पाकिस्तान ने ये कार्रवाई दवाब में आकर किया है।

शहरयार ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दावा किया कि पाकिस्तान सरकार का ये एक्शन किसी बाहरी दबाव में नहीं हुआ है। ये कार्रवाई सभी प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ की गई है। शहरयार ने कहा कि भारत ने जो डोजियर सौंपा था, उसमें मसूद के इन दोनों भाईयों का नाम भी शामिल था। इसलिए इनके खिलाफ कार्रवाई की गई और फिर गिरफ्तार किया गया।

आतंकवाद को लेकर चारो तरफ से घिरा पाकिस्तान भले ही आतंकियों के गिरफ्तारी की बात कर रहा है, लेकिन इस पर विश्वास करना काफी मुश्किल है। हो सकता है कि पाकिस्तान इस बार भी लोगों की आँखों में धूल झोंक रहा हो, जैसा कि उसने पिछली बार किया था। बता दें कि पाकिस्तान ने पुलवामा हमले के बाद आतंकी हाफिज सईद के आतंकी संगठन जमात-उद-दावा पर बैन लगाने की बात कही थी, जो कि बिल्कुल झूठी निकली। जब इससे संबंधित लिस्ट सामने आई, तो जो सच सामने निकलकर आया, वो ये था कि पाकिस्तान सरकार की तरफ से इस संगठन पर बैन नहीं लगाया गया था, सिर्फ निगरानी रखने की बात कही गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ज्ञानवापी में सिर्फ शिवलिंग ही नहीं, हनुमान जी की भी मूर्ति: अमेरिका के म्यूजियम में 154 साल पुरानी तस्वीर, नंदी भी विराजमान

ज्ञानवापी विवादित ढाँचे को लेकर जारी विवाद के बीच सामने आई तस्वीर में हनुमान जी के मिलने से हिन्दू पक्ष का दावा और मजबूत हो गया है।

नौगाँव थाने में आग लगाने वाले 5 आरोपितों के घरों पर चला असम सरकार का बुलडोजर: शराबी शफीकुल की मौत पर 2000 कट्टरपंथियों ने...

असम में एक व्यक्ति की मौत के शक में थाने को जलाने के 5 आरोपितों के घरों को प्रशासन ने बुलडोजर से ढहा दिया है। तीन को गिरफ्तार भी किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,078FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe