Monday, December 6, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाLOC पर तैनात भारतीय जवानों की रेकी कर रहे पाकिस्तानी घुसपैठिए को सेना ने...

LOC पर तैनात भारतीय जवानों की रेकी कर रहे पाकिस्तानी घुसपैठिए को सेना ने दबोचा, पूछताछ जारी

पाकिस्तान की तरफ से आतंकियों द्वारा घुसपैठ का प्रयास किए जाने की लगातार मिल रही सूचनाओं के आधार पर एलओसी के अग्रिम हिस्सों में चौकसी को बढ़ाते हुए सभी नाका पार्टियों को सचेत किया गया था। पकड़े गए घुसपैठिए से भी सेना के अधिकारी लगातार जानकारी हासिल कर रहें है।

सीमा पर लगातार आतंकियों का सफाया कर रहें सुरक्षाबलों ने शनिवार (18 जुलाई, 2020) को एक पाकिस्तानी घुसपैठिए को गिरफ्तार किया है। सेना के अधिकारी ने बताया कि घुसपैठिए को कल रात सीमा पार करते हुए देखा गया था। वहीं अब सेना के अफ़सर घुसपैठिए से कड़ी पूछताछ कर जानकरियाँ उगलवाने की कोशिश कर रहे है। खबरों के अनुसार, ये एलओसी के आसपास तैनात जवानों की रेकी करने के लिए आया हुआ था।

एनबीटी की रिपोर्ट के अनुसार, कल रात राजौरी जिले के नौशेरा के पास लाम सेक्टर में उन्होंने एक अनजाने व्यक्ति को देखा। जो देर रात सीमा के आसपास घूम रहा था। उस व्यक्ति को देख कर सेना चौकन्नी हो गई। इसके बाद जब उस व्यक्ति ने एक प्रायोजित तरीके से सीमा को पार कर भारत में घुसने की कोशिश की तो सेना से सतर्कता दिखाते हुए उसे फौरन गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल सेना के कैम्प में उससे जाँच पड़ताल की जा रही है।

बता दें पाकिस्तान की तरफ से आतंकियों द्वारा घुसपैठ का प्रयास किए जाने की लगातार मिल रही सूचनाओं के आधार पर एलओसी के अग्रिम हिस्सों में चौकसी को बढ़ाते हुए सभी नाका पार्टियों को सचेत किया गया था। पकड़े गए घुसपैठिए से भी सेना के अधिकारी लगातार जानकारी हासिल कर रहें है। इस गिरफ्तारी की जानकारी एसएसपी राजौरी चंदन कोहली ने दी है। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान से आए इस घुसपैठिए का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। जिसके बाद इससे जम्मू कश्मीर पुलिस को सौंप दिया जाएगा।

गौरतलब है कि इससे पहले 15 जुलाई को जम्मू-कश्मीर में पुंछि जिले के मेंढर में भारत-पाकिस्तान नियंत्रण रेखा से सटे बालाकोट क्षेत्र में सुरक्षाबलों ने पीओके के एक नागरिक को गिरफ्तार किया है। वह नियंत्रण रेखा के उस पार से घुसपैठ कर अवैध रूप से भारतीय क्षेत्र में घूम रहा था। सुरक्षाबल के जवान उसे बालाकोट पुलिस चौकी लेकर आए और पूछताछ की। उसकी पहचान अब्दुल रहमान (28) पुत्र मोहम्मद रशीद रूप में हुई थी, जो कि निख्याल पीओके में रहने वाला है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पिता को 15 टुकड़ों में काटा, बैग में भरकर झेलम किनारे फेंका’: USA में पल्लवी जोशी ने दुनिया को बताया कश्मीरी पंडितों का दर्द

अभिनेत्री पल्लवी जोशी ने बताया कि 'द कश्मीर फाइल्स' के निर्माण के दौरान उन्होंने कई कश्मीरी पंडितों के इंटरव्यूज लिए, जो अपने-आप में एक दर्द भरा अनुभव था।

UAE में खुले में नमाज पर ₹20000 जुर्माना: ‘द गार्डियन’ के लिए मुस्लिम पीड़ित और हिन्दू गुंडे, सड़कों को बता रहा ‘नमाज साइट्स’

90% सुन्नी मुस्लिम जनसंख्या वाले UAE में सड़क किनारे नमाज पढ़ने पर Dh 1000 (20,484 रुपए) के जुर्माने का प्रावधान है। गुरुग्राम पर हंगामा क्यों?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,816FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe