Saturday, October 1, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाNIA ने भिंडरावाले के पोते को किया गिरफ्तार, पिता हैं अकाल तख्त के पूर्व...

NIA ने भिंडरावाले के पोते को किया गिरफ्तार, पिता हैं अकाल तख्त के पूर्व जत्थेदार: विस्फोटक भरे टिफिन बॉक्स पाकिस्तान से आए थे

NIA को छापेमारी में टिफिन बम, पिस्टल और आरडीएक्स मिला। इसके बाद गुरमुख सिंह को हिरासत में लिया गया।

खालिस्तानी आतंकवादी जरनैल सिंह भिंडरावाले के भतीजे जसबीर सिंह रोड़े के बेटे को बीती रात NIA ने पंजाब से गिरफ्तार कर लिया। रिपोर्ट्स के मुताबिक जसबीर का बेटा गुरमुख सिंह को पाकिस्तान में रहने वाले अपने चाचा लखबीर सिंह रोड़े से विस्फोटकों से भरे टिफिन बॉक्स मिले थे। इन्हें वह भारत में बाँट रहा था।

एनआईए ने जालंधर के एक गाँव में स्थित जसबीर के घर पर छापा मारा। जसबीर अकाल तख्त का पूर्व जत्थेदार है। NIA को छापेमारी में टिफिन बम, पिस्टल और आरडीएक्स मिला। इसके बाद गुरमुख सिंह को हिरासत में लिया गया। जब छापा मारा गया तब जसबीर घर पर ही था और उसने ख़राब स्वास्थ्य की जानकारी दी।

जसबीर सिंह रोड़े की इसी वर्ष 26 जनवरी को हिंसक हुए कृषि सुधर कानून विरोधी आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका थी। NIA ने 18 जनवरी को जसबीर को पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया था। लेकिन पूर्व जत्थेदार जसबीर ने दावा किया था कि यह आंदोलन को कुचलने की एक साजिश है।

लखबीर सिंह रोड़े इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (ISYF) का अध्यक्ष है। फिलहाल NIA से इस मामले में कोई जानकारी नहीं प्राप्त हुई है। रिपोर्ट्स का यह भी मानना है कि इस ऑपरेशन में इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) भी शामिल थी। इस जाँच के विषय में पूरी जानकारी मिलनी अभी बाकी है।

यहाँ ध्यान योग्य बात यह है कि किसान आंदोलन में खालिस्तानी तत्वों की उपस्थिति जगजाहिर है। इसके बारे में भाजपा और कॉन्ग्रेस दोनों ही पार्टियों के नेता चिंता व्यक्त कर चुके हैं। जसबीर सिंह रोड़े का भाई लखबीर सिंह रोड़े खालिस्तानी समर्थक है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दुर्गा पूजा कार्यक्रम में गरबा करता दिखा मुनव्वर फारूकी, सेल्फी लेने के लिए होड़: वीडियो आया सामने, लोगों ने पूछा – हिन्दू धर्म का...

कॉमेडी के नाम पर हिन्दू देवी-देवताओं को गाली देकर शो करने वाला मुनव्वर फारुकी गरबा के कार्यक्रम में देखा गया, जिसके बाद लोग आक्रोशित हैं।

धर्म ही नहीं जमीन भी गँवा रहे हिंदू: कब्जे की भूमि पर चर्च-कब्रिस्तान से लेकर मिशनरी स्कूल तक, पहाड़ों का भी हो रहा धर्मांतरण

जमीनी स्थिति भयावह है। सरकारी से लेकर जनजातीय समाज की जमीनों पर ईसाई मिशनरियों का कब्जा है। अदालती आदेशों के बाद भी जमीन खाली नहीं हो रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,570FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe