Friday, June 25, 2021
Home रिपोर्ट अंतरराष्ट्रीय कश्मीर पर UN फूलों का हार लेके नहीं खड़ा, हमारी कौम भी 100 करोड़...

कश्मीर पर UN फूलों का हार लेके नहीं खड़ा, हमारी कौम भी 100 करोड़ के बाज़ार के साथ हो गई: पाक विदेश मंत्री

कुरैशी कहते हैं कि UN की सुरक्षा परिषद के पाँचों सदस्य पाकिस्तान के लिए हार लेके नहीं खड़े। उनमें से कोई भी रुकावट बन सकता है। उन्होंने पाकिस्तान और कश्मीर के लोगों को 'मूर्खों के स्वर्ग' ("fool's paradise") में न रहने की सलाह दी।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी का एक बयान ट्विटर पर आया है, जिसमें वह कूटनीतिक रूप से पाकिस्तान के कश्मीर मामले पर हिंदुस्तान का कुछ न बिगाड़ पाने का इकबाल करते दिख रहे हैं। 1:24 और 0:57 मिनटों के दो भागों के इस वीडियो में कुरैशी रक्षात्मक लहजे में पाकिस्तानी प्रेस को अपनी सरकार की मजबूरियाँ गिनाते हुए देखे जा सकते हैं।

‘आप के लिए हार लेके नहीं खड़े’

पहले वीडियो में कुरैशी कहते हैं कि UN की सुरक्षा परिषद के पाँचों सदस्य (ब्रिटेन, अमेरिका, चीन, रूस, फ़्रांस) पाकिस्तान के लिए हार लेके नहीं खड़े। उनमें से कोई भी (अगर पाकिस्तान कश्मीर का मसला सुरक्षा परिषद में ले जाना चाहे तो) रुकावट बन सकता है। उन्होंने पाकिस्तान और कश्मीर के लोगों को ‘मूर्खों के (काल्पनिक) स्वर्ग’ (“fool’s paradise”) में न रहने की सलाह दी।

“हकीकत-पसंदाना (यथार्थवादी) तरीके से देखिए। जज़्बात उभारना बहुत आसान है। मुझे… (चुटकी बजाते हुए) दो मिनिट लगेंगे। मैं 35-36 साल से सियासत कर रहा हूँ, बाएँ हाथ का काम है। जज़्बात उभारना तो आसान काम है, ऐतराज़ करना उससे भी आसान है (पाकिस्तानी प्रेस की ओर इशारा करते हुए)। लेकिन, एक… एक मसले को समझकर आगे (UN में) ले जाना पेचीदा है। आगे वो लोग (UN सदस्य) आपके लिए हार लेके नहीं खड़े। सिक्योरिटी काउन्सिल में जो P-5 मेंबर्स हैं, उनमें से… कोई भी रुकावट बन सकता है। क्या आपको कोई शक है? नहीं होना चाहिए। Do not live in a fool’s paradise. Let the people of Pakistan be aware. पाकिस्तानियों को, कश्मीरियों को बाखबर रहना चाहिए। कोई वहाँ आपके लिए मुंतज़िर नहीं खड़ा, कि कोई वहाँ आपकी दावत के लिए नहीं खड़ा। ये तो आपको नई जद्दोजहद का आगाज़ करना पड़ेगा। कोई ऐसा साज़गार माहौल नहीं है।”

‘उम्मा के मुहाफ़िज़ों ने बहुत से investments कर रखीं हैं वहाँ’

कुरैशी आगे दूसरे वीडियो में अपने बयान-ए-दर्द जारी रखते हुए बताते हैं कि जिस इस्लाम, और उसकी उम्मा (कौम) का भरोसा था, वह भी गच्चा दे गई। उम्मा वाले तो हिंदुस्तान की 100 करोड़ की आबादी के बाजार के लालच में पड़ गए हैं, और पाकिस्तान बेचारा अकेला हो गया है।

“उनके इंट्रेस्ट्स हैं। मैं आपको पहले अर्ज़ कर चुका। मैंने इशारतन कह दिया। एक अरब (की आबादी की) की मार्केट है। और यहाँ इस खित्ते (क्षेत्र) में अब नई… आपने realignment देखी है (अरब देशों के हिंदुस्तान की तरफ झुकाव की ओर इशारा)। देखी है न आपने? मेरा इशारा आप समझ गए। एक नई realignment है, एक अरब की मार्केट है। बहुत से लोगों ने वहाँ इन्वेस्टमेंट्स कर रखीं हैं। वैसे तो हम उम्मा और इस्लाम की बात तो करते हैं, पर उम्मा के मुहाफ़िज़ों ने बहुत सी इंवेस्टमेंट्स कर रखीं हैं वहाँ (हिंदुस्तान में)। उनके मफ़ादात हैं वहाँ। तो मैंने कहा ये कश्मीर का मसला आज का है? ये पिछले 5 अगस्त से शुरू हुआ है? ये तो सात दहाईयों से है। तीस साल से क्या हुआ इस पर? मैं सवाल करता हूँ न! क्या ये मसला कोई नया है?”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कुरान को UP पुलिस ने नाले में फेंका’ – TheWire ने चलाई फर्जी खबर, बाराबंकी मस्जिद विध्वंस मामले में FIR दर्ज

UP पुलिस ने बाराबंकी अवैध मस्जिद के संबंध में एक वीडियो डॉक्यूमेंट्री के माध्यम से गलत सूचना का प्रचार करने को लेकर द वायर के खिलाफ...

मोगा हत्याकांड: RSS के 25 स्वयंसेवकों ने बलिदान देकर खालिस्तानी आतंकियों की तोड़ी थी ‘कमर’

25 जून की सुबह मोगा में RSS की शाखा, सामने खालिस्तानी आतंकी... बावजूद कोई भागा नहीं। ध्वज उतारने से इनकार करने पर गोलियाँ खाईं लेकिन...

दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन जरूरत को 4 गुना बढ़ा कर दिखाया… 12 राज्यों में इसके कारण संकट: सुप्रीम कोर्ट पैनल

सुप्रीम कोर्ट की ऑक्सीजन ऑडिट टीम ने दिल्ली के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता को चार गुना से अधिक बढ़ाने के लिए केजरीवाल सरकार को...

‘अपनी मर्जी से मंतोष सहनी के साथ गई, कोई जबरदस्ती नहीं’ – फजीलत खातून ने मधुबनी अपहरण मामले पर लगाया विराम

मधुबनी जिले के बिस्फी की फजीलत खातून के कथित अपहरण मामले में नया मोड़। फजीलत खातून ने खुद ही सामने आकर बताया कि वो मंतोष सहनी के साथ...

चित्रकूट का पर्वत जो श्री राम के वरदान से बना कामदगिरि, यहाँ विराजमान कामतानाथ करते हैं भक्तों की हर इच्छा पूरी

भगवान राम ने अपने वनवास के दौरान लगभग 11 वर्ष मंदाकिनी नदी के किनारे स्थित चित्रकूट में गुजारे। चित्रकूट एक प्रमुख तीर्थ स्थल माना जाता है...

फतेहपुर के अंग्रेजी मीडियम स्कूल में हिंदू बच्चे पढ़ते थे नमाज: महिला टीचर ने खोली मौलाना उमर गौतम के धर्मांतरण गैंग की पोल

फतेहपुर के नूरुल हुदा इंग्लिश मीडियम स्कूल में मौलाना उमर के गिरोह की सक्रियता का खुलासा वहाँ की ही एक महिला टीचर ने किया है।

प्रचलित ख़बरें

‘सत्यनारायण और भागवत कथा फालतू, हिजड़ों की तरह बजाते हैं ताली’: AAP नेता का वीडियो वायरल

AAP की गुजरात इकाई के नेता गोपाल इटालिया का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वे हिन्दू परंपराओं का अपमान करते दिख रहे हैं।

फतेहपुर के अंग्रेजी मीडियम स्कूल में हिंदू बच्चे पढ़ते थे नमाज: महिला टीचर ने खोली मौलाना उमर गौतम के धर्मांतरण गैंग की पोल

फतेहपुर के नूरुल हुदा इंग्लिश मीडियम स्कूल में मौलाना उमर के गिरोह की सक्रियता का खुलासा वहाँ की ही एक महिला टीचर ने किया है।

TMC के गुंडों ने किया गैंगरेप, कहा- तेरी काली माँ न*गी है, तुझे भी न*गा करेंगे, चाकू से स्तन पर हमला: पीड़ित महिलाओं की...

"उस्मान ने मेरा रेप किया। मैं उससे दया की भीख माँगती रही कि मैं तुम्हारी माँ जैसी हूँ मेरे साथ ऐसा मत करो, लेकिन मेरी चीख-पुकार उसके बहरे कानों तक नहीं पहुँची। वह मेरा बलात्कार करता रहा। उस दिन एक मुस्लिम गुंडे ने एक हिंदू महिला का सम्मान लूट लिया।"

‘अपनी मर्जी से मंतोष सहनी के साथ गई, कोई जबरदस्ती नहीं’ – फजीलत खातून ने मधुबनी अपहरण मामले पर लगाया विराम

मधुबनी जिले के बिस्फी की फजीलत खातून के कथित अपहरण मामले में नया मोड़। फजीलत खातून ने खुद ही सामने आकर बताया कि वो मंतोष सहनी के साथ...

‘हरा$ज*, हरा%$, चू$%’: ‘कुत्ते’ के प्रेम में मेनका गाँधी ने पशु चिकित्सक को दी गालियाँ, ऑडियो वायरल

गाँधी ने कहा, “तुम्हारा बाप क्या करता है? कोई माली है चौकीदार है क्या हैं?” डॉक्टर बताते भी हैं कि उनके पिता एक टीचर हैं। इस पर वो पूछती हैं कि तुम इस धंधे में क्यों आए पैसे कमाने के लिए।

‘हर चोर का मोदी सरनेम क्यों’: सूरत की कोर्ट में पेश हुए राहुल गाँधी, कहा- कटाक्ष किया था, अब याद नहीं

कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी सूरत की एक अदालत में पेश हुए। मामला 'सारे मोदी चोर' वाले बयान पर दर्ज आपराधिक मानहानि के मामले से जुड़ा है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
105,818FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe