Monday, November 29, 2021
Homeरिपोर्टलव सीन का स्क्रिप्ट सुनाते समय गलत तरीके से छूने लगा: 'तारक मेहता...' वाली...

लव सीन का स्क्रिप्ट सुनाते समय गलत तरीके से छूने लगा: ‘तारक मेहता…’ वाली हिरोइन पिता के साथ भी हो जाती है अब अनकंफर्टेबल

'स्पिलिट्सविला 12' की एक्स कंटेस्टेंट आराधना शर्मा ने बताया कि उन्होंने 19 साल की उम्र में कास्टिंग काउच का सामना किया था और कास्टिंग एजेंटों में से एक ने उनके साथ गंदी हरकत की थी।

लोकप्रिय टेलीविजन शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में ‘दीप्ति जासूस’ का किरदार निभाकर मशहूर हुईं एक्ट्रेस आराधना शर्मा ने कास्टिंग काउच को लेकर चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। ‘स्पिलिट्सविला 12’ की एक्स कंटेस्टेंट आराधना शर्मा ने हाल ही में खुलासा किया कि उन्होंने 19 साल की उम्र में कास्टिंग काउच का सामना किया था। उन्होंने बताया कि कास्टिंग एजेंटों में से एक ने उनके साथ गंदी हरकत की। इस घटना ने उनको जिंदगी भर के लिए इतना डरा दिया कि उनको किसी पर भी विश्वास नहीं होता था। यहाँ तक कि वो अपने पिता के साथ भी अनकंफर्टेबल हो गई थीं।

आराधना शर्मा ने एक इंटरव्यू में बताया, ”मेरे साथ एक ऐसी घटना घटी, जिसमें मैं पूरी जिंदगी नहीं भूल सकती। चार-पाँच साल पहले की बात है, मैं तब पुणे में पढ़ रही थी। इसके साथ मॉडलिंग का असाइनमेंट भी करती थी, तो लोग थोड़ा मुझे जानते थे। एक व्यक्ति था, जो मुंबई में कास्टिंग कर रहा था। उसने मुझसे कहा कि वो किसी भूमिका के लिए कास्टिंग कर रहा है। ऐसे में मुझे अपने होम टाउन रांची जाना पड़ा, क्योंकि कास्टिंग से जुड़ी बातचीत के लिए मुझे वहीं बुलाया गया था।”

उन्होंने आगे कहा, ”इसके बाद हम कमरे में बैठकर स्क्रिप्ट पढ़ ही रहे थे कि तभी उस शख्स ने मुझे गलत तरीके से छूने की कोशिश की। कुछ वक्त तो मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि ये क्या हो रहा है। मुझे सिर्फ उसे धक्का देना, दरवाजा खोलना और भागना याद है। मैं इस बात को कुछ दिनों के लिए किसी से शेयर नहीं कर सकी। यह एक लव मेकिंग सीन की स्क्रिप्ट पढ़ने के दौरान हुआ था, जो काफी बुरा था। इस घटना को मैं पूरे जीवन में कभी नहीं भूल सकती हूँ।”

एक्ट्रेस ने कहा कि इस घटना ने मुझ पर इतना प्रभाव डाला कि इसके बाद से मैं किसी आदमी के साथ एक ही कमरे में नहीं रह सकती थी। यहाँ तक कि अपने पिता के साथ भी नहीं। उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री में महिलाओं को न केवल इस तरह के उत्पीड़न का सामना करना पड़ता है, बल्कि उन्हें बॉडी शेमिंग और कैजुअल सेक्सिजम का भी सामना करना पड़ता है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

‘शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा, वो पहले ही 14 महीने से जेल में’: इलाहाबाद...

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe