बौखलाए आतंकियों ने राजस्थान के ट्रक ड्राइवर को शोपियाँ में गोलियों से भूना

जम्मू-कश्मीर में लोगों की जिंदगी वापस पटरी पर आते देख आतंकी बौखलाए हुए हैं। इससे पहले वह श्रीनगर और अनंतनाग जिलों में भी ऐसी आतंकी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं, जिनमें कई लोगों के घायल होने की खबर थी।

जम्मू-कश्मीर के शोपियाँ में सोमवार (अक्टूबर 14, 2019) को दो आतंकियों ने राजस्थान के एक ट्रक ड्राइवर को निशाना बनाया। ड्राइवर शरीफ खान की गोली मार कर हत्या कर दी। इसके बाद आतंकियों ने के स्थानीय बाग मालिक की पिटाई भी की।

पुलिस ने बताया कि घाटी में फलों से भरे ट्रकों की आवाजाही शुरू होने से हताश होकर आतंकवादियों ने शीरमाल गाँव में यह हमला किया। आतंकियों की फायरिंग के बाद ट्रक ड्राइवर शरीफ खान की मौक़े पर मौत हो गई। कहा जा रहा है इस घटना में शामिल एक आतंकवादी पाकिस्तानी था। पुलिस इन्हें ढूँढने के लिए सर्च ऑपरेशन चला रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना की सूचना मिलने के बाद इलाके में जम्मू-कश्मीर पुलिस, सेना और सीआरपीएफ की टीमों को भेजा गया। जिसके बाद उन्होंने इन आतंकियों को ढूँढने के लिए पूरा इलाका सील कर सर्च ऑपरेशन शुरू किया। आतंकियों की तलाश जारी हैं। सुरक्षाबल को आशंका है कि हमलावर शोपियाँ में ही छिपे हुए हैं। पुलिस का कहना है कि इस घटना के बाद वहाँ के स्थानीय लोगों में गुस्सा भड़का हुआ है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर में लोगों की जिंदगी वापस पटरी पर आते देख आतंकी बौखलाए हुए हैं। सेना की मुस्तैदी के कारण वे अपने नापाक मनसूबों में कामयाब नहीं हो पा रहे, इसलिए अब आम जनता को अपना निशाना बनाने लगे। इस कड़ी में ही उन्होंने शोपियाँ की घटना को अंजाम दिया। इससे पहले वह श्रीनगर और अनंतनाग जिलों में भी ऐसी आतंकी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं, जिनमें कई लोगों के घायल होने की खबर थी।

बता दें कि कश्मीर में 70 दिन बाद सोमवार से मोबाइल फोन सेवा बहाल हो गई है। राज्य में सुरक्षा के लिहाज से 5 अगस्त से ही इन पर प्रतिबंध था।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बरखा दत्त
मीडिया गिरोह ऐसे आंदोलनों की तलाश में रहता है, जहाँ अपना कुछ दाँव पर न लगे और मलाई काटने को खूब मिले। बरखा दत्त का ट्वीट इसकी प्रतिध्वनि है। यूॅं ही नहीं कहते- तू चल मैं आता हूँ, चुपड़ी रोटी खाता हूँ, ठण्डा पानी पीता हूँ, हरी डाल पर बैठा हूँ।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,022फैंसलाइक करें
26,220फॉलोवर्सफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: