Tuesday, June 28, 2022
Homeदेश-समाजबौखलाए आतंकियों ने राजस्थान के ट्रक ड्राइवर को शोपियाँ में गोलियों से भूना

बौखलाए आतंकियों ने राजस्थान के ट्रक ड्राइवर को शोपियाँ में गोलियों से भूना

जम्मू-कश्मीर में लोगों की जिंदगी वापस पटरी पर आते देख आतंकी बौखलाए हुए हैं। इससे पहले वह श्रीनगर और अनंतनाग जिलों में भी ऐसी आतंकी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं, जिनमें कई लोगों के घायल होने की खबर थी।

जम्मू-कश्मीर के शोपियाँ में सोमवार (अक्टूबर 14, 2019) को दो आतंकियों ने राजस्थान के एक ट्रक ड्राइवर को निशाना बनाया। ड्राइवर शरीफ खान की गोली मार कर हत्या कर दी। इसके बाद आतंकियों ने के स्थानीय बाग मालिक की पिटाई भी की।

पुलिस ने बताया कि घाटी में फलों से भरे ट्रकों की आवाजाही शुरू होने से हताश होकर आतंकवादियों ने शीरमाल गाँव में यह हमला किया। आतंकियों की फायरिंग के बाद ट्रक ड्राइवर शरीफ खान की मौक़े पर मौत हो गई। कहा जा रहा है इस घटना में शामिल एक आतंकवादी पाकिस्तानी था। पुलिस इन्हें ढूँढने के लिए सर्च ऑपरेशन चला रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना की सूचना मिलने के बाद इलाके में जम्मू-कश्मीर पुलिस, सेना और सीआरपीएफ की टीमों को भेजा गया। जिसके बाद उन्होंने इन आतंकियों को ढूँढने के लिए पूरा इलाका सील कर सर्च ऑपरेशन शुरू किया। आतंकियों की तलाश जारी हैं। सुरक्षाबल को आशंका है कि हमलावर शोपियाँ में ही छिपे हुए हैं। पुलिस का कहना है कि इस घटना के बाद वहाँ के स्थानीय लोगों में गुस्सा भड़का हुआ है।

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर में लोगों की जिंदगी वापस पटरी पर आते देख आतंकी बौखलाए हुए हैं। सेना की मुस्तैदी के कारण वे अपने नापाक मनसूबों में कामयाब नहीं हो पा रहे, इसलिए अब आम जनता को अपना निशाना बनाने लगे। इस कड़ी में ही उन्होंने शोपियाँ की घटना को अंजाम दिया। इससे पहले वह श्रीनगर और अनंतनाग जिलों में भी ऐसी आतंकी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं, जिनमें कई लोगों के घायल होने की खबर थी।

बता दें कि कश्मीर में 70 दिन बाद सोमवार से मोबाइल फोन सेवा बहाल हो गई है। राज्य में सुरक्षा के लिहाज से 5 अगस्त से ही इन पर प्रतिबंध था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उद्धव ठाकरे के पास शिवसेना भी नहीं छोड़ेंगे एकनाथ शिंदे: बताया इरादा, कहा- 50 MLA साथ; अब मुंबई कूच करेंगे

किसी दूसरी पार्टी में विलय के लिए दो तिहाई सदस्यों के इस्तीफे की जरूरत होती है। शिवसेना तोड़ने के लिए नगर इकाइयों का समर्थन भी चाहिए होगा।

अपने फोन में क्या छिपाना चाह रहा है जुबैर? नहीं दे रहा सवालों के जवाब, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स भी नहीं सौंपे: यहाँ देखें FIR और...

मोहम्मद जुबैर ने अपने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के बारे में भी पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी है। वो कह रहा है कि उसका फोन खो गया है। देखें FIR कॉपी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,941FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe