Wednesday, July 17, 2024
Homeदेश-समाज'बजरंग दल' के दलित समर्थक की हत्या, उत्तराखंड पुलिस ने आजम, इरफ़ान, रिजवान और...

‘बजरंग दल’ के दलित समर्थक की हत्या, उत्तराखंड पुलिस ने आजम, इरफ़ान, रिजवान और साबिर को दबोचा: मृतक के परिवार का आरोप – घर में घुस महिलाओं से की थी छेड़छाड़

पुलिस ने घटना के 36 घंटों के भीतर 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। हत्या के खुलासे के लिए 10 टीमों का गठन किया गया था।

उत्तराखंड के नैनीताल में ‘बजरंग दल’ के समर्थक दलित अरविंद सागर उर्फ़ पप्पी की रविवार (30 अप्रैल, 2023) को हत्या कर दी गई। पुलिस ने घटना का पर्दाफाश कर लिया है। जिप्सी पर सवार होकर आए अपराधियों ने पहले उन्हें घर से बुलाया, फिर 250 मीटर दूर ले जाकर उन पर गोलीबारी कर दी। आक्रोशित परिजनों ने इसके बाद हत्यारों की गिरफ़्तारी के लिए सिटी एसपी का घेराव भी किया। 24 वर्षीय अरविंद सागर शिवलालपुर रियूनिया के रहने वाले थे।

उन्हें सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहाँ उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। उनके शरीर में 3 गोलियाँ लगी थीं। मृतक के भाई चंदन ने बताया कि एकाध महीने पहले मुस्लिमों से उनका विवाद हुआ था, जिसके बाद 20-25 लोग घर के भीतर घुसे थे और घर की महिलाओं पर हाथ लगाया था, लेकिन तहरीर के बावजूद पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। चंदन ने बताया कि आजम सहित सभी हत्यारे आए और एक लड़ाई में मदद की माँग करते हुए साथ ले गए।

चंदन का कहना है कि उनके माँ-बाप नहीं है और सिर्फ एक भाई था, जिसने पाल-पोष कर बड़ा किया था और आज उसके साथ ऐसा हो गया। मृतक के चाचा रमेश ने बताया कि सुबह जब ये घटना हुई, तब वो घूम रहे थे। उन्होंने बताया कि 5-6 लोग हत्या के लिए आए थे और झगड़े की बात कह कर गाड़ी में बिठा कर ले गए। उन्होंने आरोप लगाया कि पहले भी उनकी सुनवाई नहीं हुई है। उत्तराखंड पुलिस ने बयान देकर पूरे मामले को साफ़ किया है।

SHO अरुण कुमार ने कहा कि उन्हें अस्पताल से गोलीबारी में मौत की सूचना मिली थी। इसके बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम में भिजवाया गया। इस मामले में संदिग्धों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया। पुलिस द्वारा पहले कार्रवाई न किए जाने की बात को नकारते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा कोई बात नहीं है। पुलिस ने घटना के 36 घंटों के भीतर 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। हत्या के खुलासे के लिए 10 टीमों का गठन किया गया था।

घटना के बाद सीसीटवी खँगाला गया, सोशल मीडिया की मॉनिटरिंग की गई और मुखबिरों से सूचना ली गई। जसपुर खुर्द निवासी 20 वर्षीय आजम, लूटाबड़ रामनगर निवासी इरफ़ान, महुआखेड़ा गंज निवासी 24 साल का रिजवान उर्फ सुक्खा और साबिर उर्फ पंचर को गिरफ्तार किया गया है। घटना में इस्तेमाल की गई बाइक और तमंचा जब्त कर लिया गया है। ऑपइंडिया से बात करते हुए VHP जिला मंत्री रामनगर यशपाल ने बताया कि मृतक हिंदू संगठन में कोई लिखित पदाधिकारी नहीं था, लेकिन वो संगठन की सभाओं में आता जाता था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘228 किलो सोना चोरी होने का सबूत दें शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद, या जाएँ कोर्ट’: मंदिर समिति की दो टूक, पूछा – कॉन्ग्रेस के एजेंडे को...

अजेंद्र अजय ने कहा कि सीएम धामी से साधु-संतों और जनप्रतिनिधियों ने अनुरोध किया था, ऐसे में वो धार्मिक कार्यक्रम में सम्मिलित हुए, इसमें सरकारी पैसा नहीं लगा है ।

कर्नाटक में कॉन्ग्रेस सरकार के ‘लोकल कोटा’ पर उठे सवाल, उद्योगपति बोले- प्राइवेट सेक्टर में कन्नड़ भाषियों को रिजर्वेशन भेदभावपूर्ण, बिल रद्द करें

कर्नाटक में निजी नौकरियों में कन्नड़ लोगों को 50-75% आरक्षण देने का निर्णय कारोबारी समुदाय को रास नहीं आया है। उन्होंने इसकी आलोचना की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -