2 मिनट 47 सेकंड का Video: करगिल युद्ध में टाइगर हिल पर IAF द्वारा कब्जे की कहानी

टाइगर हिल को पाकिस्तानी घुसपैठियों से 24 जून, 1999 को मुक्त कराया गया था। इस वीडियो में भारतीय सेना के इस अटैक के सीन को रीक्रिएट किया गया जिसमें 'ऑपरेशन विजय' में इस्तेमाल मिराज 2000 और अन्य विमानों को...

भारतीय वायु सेना करगिल युद्ध में विजय के 20 साल पूरे होने का जश्न मना रही है। सोमवार (जून 24, 2019) को वायु सेना ने ग्वालियर एयर फोर्स स्टेशन में एक बार फिर से टाइगर हिल जीतने के सीन को पुनर्जीवित किया। टाइगर हिल को पाकिस्तानी घुसपैठियों से 24 जून, 1999 को मुक्त कराया गया था। भारतीय सेना के इस अटैक के सीन को रीक्रिएट किया गया जिसमें ‘ऑपरेशन विजय’ में इस्तेमाल मिराज 2000 और अन्य विमानों के प्रदर्शन को शामिल किया गया। 5 मिराज 2000, दो मिग 21 और एक सुखोई 30 एमकेआई का भी प्रदर्शन किया गया। इस दौरान सेना ने पूरे करगिल युद्ध के एक-एक सीन को रिक्रिएट किया।

इस जंग में भारतीय वायु सेना ने अपने शौर्य और पराक्रम का प्रदर्शन किया था। इस सीन रीक्रिएशन के मौके पर वायु सेना चीफ एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ भी मौजूद थे। वायुसेना के एक अधिकारी का कहना है, “करगिल संघर्ष ऊँचाई की परिस्थितियों में युद्ध में वायु शक्ति के उपयोग का एक अनुकरणीय अनुभव प्रदान करता है।” कई वीरता पुरस्कार विजेताओं ने भी कार्यक्रम में शिरकत की। इनमें से कुछ अभी भी सेवा दे रहे हैं जबकि कुछ सेवानिवृत्त हो चुके हैं। यही वह मौका था, जब भारत ने पाकिस्तान को उसके दुस्साहस का सबसे बड़ा सबक सिखाया था।

एक अधिकारी ने बताया कि जुलाई के पहले सप्ताह से देशभर में कई कार्यक्रमों का आयोजन करने की योजना बनाई गई है। दिल्ली में ये कार्यक्रम 14 जुलाई से शुरू होंगे। इन समारोहों का उद्देश्य विशेष रूप से युवाओं के बीच देशभक्ति की भावना को जगाना और शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि देना है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जेएनयू छात्र विरोध प्रदर्शन
गरीबों के बच्चों की बात करने वाले ये भी बताएँ कि वहाँ दो बार MA, फिर एम फिल, फिर PhD के नाम पर बेकार के शोध करने वालों ने क्या दूसरे बच्चों का रास्ता नहीं रोक रखा है? हॉस्टल को ससुराल समझने वाले बताएँ कि JNU CD कांड के बाद भी एक-दूसरे के हॉस्टल में लड़के-लड़कियों को क्यों जाना है?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,491फैंसलाइक करें
22,363फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: