Wednesday, September 29, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'एक गोल्ड मेडल अनवर सरदार को भी': उधर टोक्यो ओलंपिक में इजरायल का राष्ट्रगान...

‘एक गोल्ड मेडल अनवर सरदार को भी’: उधर टोक्यो ओलंपिक में इजरायल का राष्ट्रगान बजा, इधर सोशल मीडिया पर अनु मलिक की धुनाई

एक व्यक्ति ने तंज कसा कि अनु मलिक अब अपने गाने को कॉपी करने के आरोप में इजरायल पर केस करने जा रहे हैं।

उधर टोक्यो ओलंपिक में इजरायल का राष्ट्रगान बजा, इधर सोशल मीडिया पर बॉलीवुड के बड़े संगीतकारों में से एक अनु मलिक की लोगों ने धुनाई चालू कर दी। असल में लोगों को अनु मालिक द्वारा कंपोज किए गए गाने ‘मेरा देश, मेरा मुल्क, मेरा ये वतन’ और इजरायल के राष्ट्रगान ‘हातिकवाह’ में काफी समानता दिखी। जब इजरायली जिमनास्‍ट अर्टम दोल्‍गोप्‍याट गोल्ड मेडल पहन रहे थे, तब बैकग्राउंड में इजरायल का राष्ट्रगान बज रहा था।

अनवर सरदार मलिक उर्फ़ अनु मलिक पर काफी पहले से गानों को कॉपी करने के आरोप लगते रहे हैं। एक सोशल मीडिया यूजर ने तो यहाँ तक दावा कर दिया कि अनु मलिक को गानों को कॉपी करने के मामले में गोल्ड मेडल दिया जाना चाहिए।

‘मनोज विश्वास’ नाम के व्यक्ति ने तंज कसा कि अनु मलिक अब अपने गाने को कॉपी करने के आरोप में इजरायल पर केस करने जा रहे हैं।

एक अन्य सोशल मीडिया यूजर ने एक स्टैंडअप कॉमेडियन द्वारा कही गई लाइन शेयर करते हुए लिखा कि अनु मलिक ने जब इजरायल के राष्ट्रगान की धुन कॉपी की होगी तो यही सोचा होगा – ‘इनको क्या ही पता चलेगा…’।

वहीं कुछ लोगों ने अनु मलिक को ‘टाइम ट्रेवलर’ बताते हुए कहा कि उनका जन्म सन् 1870 में ही हो गया था और उन्होंने ही 1887 में इजरायल के राष्ट्रगान की धुन बनाई। उक्त व्यक्ति ने इजरायल के राष्ट्रगान की धुन तैयार करने वाले सैमुअल कोहेन की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा कि ये अनु मलिक की काफी पुरानी तस्वीर है। वहीं कुछ लोगों ने लिखा कि वेब सीरीज ‘डार्क’ उनके ही जीवन पर आधारित है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘उमर खालिद को मिली मुस्लिम होने की सजा’: कन्हैया के कॉन्ग्रेस ज्वाइन करने पर छलका जेल में बंद ‘दंगाई’ के लिए कट्टरपंथियों का दर्द

उमर खालिद को पिछले साल 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था, वो भी उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के मामले में। उसपे ट्रंप दौरे के दौरान साजिश रचने का आरोप है

कॉन्ग्रेस आलाकमान ने नहीं स्वीकारा सिद्धू का इस्तीफा- सुल्ताना, परगट और ढींगरा के मंत्री पदों से दिए इस्तीफे से बैकफुट पर पार्टी: रिपोर्ट्स

सुल्ताना ने कहा, ''सिद्धू साहब सिद्धांतों के आदमी हैं। वह पंजाब और पंजाबियत के लिए लड़ रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के साथ एकजुटता दिखाते हुए’ इस्तीफा दे रही हूँ।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
125,044FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe