विषय: जिग्नेश मेवानी

CAA, मुस्लिम भीड़, गुजरात

जिग्नेश मेवाणी के नेतृत्व में विरोध-प्रदर्शन करती मुस्लिमों की भीड़ हुई हिंसक, पुलिस वैन पर हमला

देशव्यापी विरोधों के चलते, देश के कई हिस्सों में प्रशासन की तरफ़ से धारा-144 लागू की गई। लेकिन, विपक्षी नेताओं के उकसाने पर लोगों ने क़ानून का उल्लंघन किया और क़ानून को हाथों में लेते हुए 'शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन' की आड़ में पुलिस पर हमला भी किया।
जिग्नेश

कट्टरपंथी इस्लामी संगठन से चंदा लेने वाले जिग्नेश मेवाणी ने फैलाई फेक न्यूज़, लपेटा PM मोदी को भी

“मुझे यह संदेश मिला, ‘आप के whatsapp पे जितने भी नंबर एवं ग्रुप हैं एक भी छूटने नहीं चाहिए, ये वीडियो सबको भेजिए ये वलसाड के RMVM SCHOOL का टीचर है, इसको इतना शेयर करो कि ये टीचर और स्कूल दोनों बंद हो जाए।’ @PMOIndia, कृपया हमें बताइए यह क्या हो रहा है।”
कन्हैया कुमार और जिग्नेश

माँ की कसम खाकर बेगूसराय में कन्हैया कुमार के लिए वोट माँग रहे जिग्नेश मवाणी

हक़ीक़त क्या है? ये तो चुनाव नज़दीक आते-आते और साफ हो जाएगा। अगर ऐसे ही हवाई माहौल बनाने की कोशिश की गई तो नंबर-1 का किला ढहकर अगर 3 पर जगह मिले तो कोई आश्चर्य की बात नहीं।
जिग्नेश मेवानी

26 जनवरी और 15 अगस्त के बीच का अंतर भूले जिग्नेश मेवानी

पीएम पर कटाक्ष करते समय जिग्नेश मेवानी स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के बीच का अंतर भूल गए। अपने ट्वीट में जिग्नेश ने पूछा कि क्या प्रधानमंत्री 26 जनवरी के लिए भी कुछ बोलना बाक़ी रखेंगे?

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

142,137फैंसलाइक करें
34,807फॉलोवर्सफॉलो करें
158,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements