Sunday, July 25, 2021
Homeदेश-समाजजिग्नेश मेवाणी के नेतृत्व में विरोध-प्रदर्शन करती मुस्लिमों की भीड़ हुई हिंसक, पुलिस वैन...

जिग्नेश मेवाणी के नेतृत्व में विरोध-प्रदर्शन करती मुस्लिमों की भीड़ हुई हिंसक, पुलिस वैन पर हमला

पहले वीडियो में, देखा जा सकता है कि ‘Taj Sweets & Bakers’ के बाहर विरोध में खड़ी मुस्लिम भीड़ के बीच एक पुलिस वैन खड़ी है जिसे आगे नहीं बढ़ने दिया जा रहा और लगातार उसे धक्का मारा जा रहा है।

नागरिकता संशोधन क़ानून (CAA) का विरोध करने वाली एक मुस्लिम भीड़ ने जिग्नेश मेवाणी के वडगाम निर्वाचन क्षेत्र में हिंसक प्रदर्शन किया और उसने छपी-पालनपुर राजमार्ग को भी अवरुद्ध कर दिया। जल्द ही भीड़ हिंसक हो गई और उसने एक पुलिस वैन पर हमला कर दिया।

यह वही जगह है जहाँ गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी विरोध-प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे थे।

पहले वीडियो में, देखा जा सकता है कि ‘Taj Sweets & Bakers’ के बाहर विरोध में खड़ी मुस्लिम भीड़ के बीच एक पुलिस वैन खड़ी है जिसे आगे नहीं बढ़ने दिया जा रहा और लगातार उसे धक्का मारा जा रहा है। 

वीडियो में ‘Taj sweets and bakers’ जहाँ मुस्लिम भीड़ पुलिस वैन पर हमला कर रही है।

यह वीडियो पुराना नहीं बल्कि CAA के विरोध-प्रदर्शन का है क्योंकि इसी वीडियो को गुजरात के वडगाम के विधायक जिग्नेश मेवाणी ने भी शेयर किया है, जो लगभग 18 सेकंड का है। इसमें भी उसी ‘Taj Sweets & Bakers’ दुकान को देखा जा सकता है। इससे यह स्पष्टतौर पर पता चलता है कि यह वीडियो पुराना नहीं है। 

जिग्नेश मेवाणी द्वारा साझा किए गए वीडियो में ‘Taj sweets and bakers’

यह उसी जगह और उसी भीड़ का एक वीडियो है, जहाँ पुलिस वैन पर हमला किया जा रहा था। इस वीडियो को शेयर करते हुए जिग्नेश मेवाणी बड़ा गर्व महसूस कर रहे थे।

देशव्यापी विरोधों के चलते, देश के कई हिस्सों में प्रशासन की तरफ़ से धारा-144 लागू की गई। लेकिन, विपक्षी नेताओं के उकसाने पर लोगों ने क़ानून का उल्लंघन किया और क़ानून को हाथों में लेते हुए ‘शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन’ की आड़ में पुलिस पर हमला भी किया।

यह भी पढ़ें:

कट्टरपंथी इस्लामी संगठन से चंदा लेने वाले जिग्नेश मेवाणी ने फैलाई फेक न्यूज़, लपेटा PM मोदी को भी

परेश रावल ने याद दिलाई मोदी को दी हुई 50 गालियाँ, सबसे भद्दी जिग्नेश ने दी है

कॉन्ग्रेस नेता हार्दिक पटेल को लप्पड़ पड़ने के बाद जिग्नेश मेवाणी की हुई हालत खराब, बोले मुझे चाहिए सुरक्षा

26 जनवरी और 15 अगस्त के बीच का अंतर भूले जिग्नेश मेवाणी

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान में भगवा ध्वज फाड़ने वाले कॉन्ग्रेस MLA को लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा: वायरल वीडियो का FactChek

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दिख रहा है कि लाठी-डंडा लिए भीड़ एक शख्स को दौड़ा-दौड़ाकर पीट रही है।

दैनिक भास्कर के ₹2,200 करोड़ के फर्जी लेनदेन की जाँच कर रहा है IT विभाग: 700 करोड़ की आय पर टैक्स चोरी का खुलासा

मीडिया समूह की तलाशी में छह वर्षों में ₹700 करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन और लिस्टेड कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के आयकर विभाग को सबूत मिले हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,067FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe