Tuesday, August 3, 2021

विषय

द वायर

‘कौन है स्वरा भास्कर’: 15 अगस्त से पहले द वायर के दफ्तर में पुलिस, सिद्धार्थ वरदराजन ने आरफा और पेगासस से जोड़ दिया

इससे पहले द वायर की फर्जी खबरों को लेकर कश्मीर पुलिस ने उनको 'कारण बताओ नोटिस' जारी किया था। उन पर मीडिया ट्रॉयल में शामिल होने का भी आरोप है।

पेगासस विवाद पर NDTV ने अश्विनी वैष्णव को बताया गलत, आईटी मंत्री ने वामपंथी वेबसाइट को जमकर लताड़ा

आईटी मंत्री वैष्णव ने कहा कि डेटा का जासूसी से कोई संबंध नहीं है। केवल देशहित व सुरक्षा के मामलों में ही टैपिंग होती है, जो रिपोर्ट मीडिया में आई है, वो तथ्यों से परे और गुमराह करने वाली हैं।

‘वामपंथी लिबरल गिरोह में खुद को मोदी विरोधी साबित करने की होड़’: पेगासस लिस्ट में खंगाले जा रहे नाम

"बस एक बार किसी लिस्ट में नाम आ जाए तो लोग यह एक्सेप्ट कर लें कि मोदी सरकार हमसे भी डरने लगी है तो मैं भी उसके एवज में कुछ वसूल कर लूँगा।"

‘कोई सबूत नहीं, फैलाया जा रहा झूठ’: Pegasus विवाद पर फँसा The Wire, इजरायली कंपनी कर सकती है मुकदमा

जासूसी सॉफ्टवेयर 'Pegasus' को बनाने वाली इजरायली कंपनी NSO ग्रुप ने भारतीय वामपंथी मीडिया संस्थान 'The Wire' को मानहानि का मुकदमा दायर करने की धमकी दी है।

दिल्ली HC ने वामपंथी मीडिया पोर्टलों द वायर, क्विंट, ऑल्टन्यूज को अंतरिम राहत देने से किया इनकार, नए IT नियमों को दी थी चुनौती

वामपंथी वेबसाइटों ने नए आईटी नियमों के पालन के लिए नोटिस जारी करने और अपने ऊपर एक्शन के डर से दिल्ली HC में याचिका दायर की थी।

लोनी दाढ़ी मामले में फँसे कॉन्ग्रेसी नेता और TheWire: गाजियाबाद पुलिस ने भेजा नोटिस, कहा – ‘1 हफ्ते में हाजिर होकर जवाब दो’

नोटिस में ट्विटर के साथ कॉन्ग्रेस नेता शमा मोहम्मद, द वायर वाले सिद्धार्थ वर्धराजन, सलमान निजामी और धर्मेंद्र चतुर का नाम भी शामिल है।

दिल्ली हाईकोर्ट ने नए IT नियमों पर रोक लगाने से किया इनकार: द वायर, क्विंट, ऑल्ट न्यूज ने दायर की थी याचिका

दिल्ली हाईकोर्ट ने सोमवार (28 जून 2021) को डिजिटल मीडिया के लिए बनाए गए नए आईटी नियमों पर रोक लगाने से इनकार कर दिया।

‘कुरान को UP पुलिस ने नाले में फेंका’ – TheWire ने चलाई फर्जी खबर, बाराबंकी मस्जिद विध्वंस मामले में FIR दर्ज

UP पुलिस ने बाराबंकी अवैध मस्जिद के संबंध में एक वीडियो डॉक्यूमेंट्री के माध्यम से गलत सूचना का प्रचार करने को लेकर द वायर के खिलाफ...

न जॉब रही, न कार्टून बिक रहे… अब PM मोदी को कोस रहे: ट्विटर के मेल के सहारे वामपंथी मीडिया का प्रपंच

मंजुल के सहयोगी ने बताया कि मंजुल अपने इस गलत फैसले के लिए बाहरी कारणों को दोष दे रहे हैं और आशा है कि जो पब्लिसिटी उन्हें मिली है उससे अब वो ज्यादा पैसे कमा रहे होंगे।

‘भक्तों को ₹2 प्रति ट्वीट’: जिस ऑडियो पर द वायर की रोहिणी सिंह चला रही थीं प्रोपेगेंडा, वो निकला फेक, 2 गिरफ्तार

यूपी पुलिस की जाँच में यह पता चला है कि यह ऑडियो फेक था और जानबूझकर एडिट करके बनाया गया था। सोशल मीडिया मैनेजमेंट का कार्य करने वाले अतुल कुशवाहा ने इस मामले में थाने में शिकायत दर्ज कराई थी।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,804FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe