विषय: महिला उत्पीड़न

राबड़ी देवी, महिला उत्पीड़न

राबड़ी देवी ने लौटाया दहेज़: ऐश्वर्या के परिवार ने लेने से किया इनकार, कहा- शराब या विस्फोटक भी हो सकता था

ऐश्वर्या के पिता के हवाले से कहा गया था कि सामान भेजने की उचित प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया था। उन्होंने शक़ जताया था कि लालू का परिवार अवैध तरीक़े से शराब या विस्फोटक भी भेज सकता था। इसलिए उन्होंने उस पैकेज को लेने से साफ़ इनकार कर दिया।
गैंगरेप पीड़िता, उन्नाव, ख़ुद को लगाई आग

उन्नाव के हसनगंज में दुष्कर्म पीड़िता ने SP ऑफिस के गेट पर खुद को लगाई आग, 50% जली: हालत नाजुक

30 सितंबर को पीड़िता के घर पर मारपीट करने के मामले में उसने एसपी को प्रार्थना-पत्र दिया था। आरोपितों ने हाईकोर्ट से अग्रिम ज़मामत ले रखी थी, इसलिए उनकी गिरफ़्तारी नहीं की गई। इस मामले में मुक़दमा दर्ज करने के साथ पुलिस विवेचना पूर्ण कर न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है।
राबड़ी देवी, बहू ने लगाए आरोप

राबड़ी देवी ने मेरे बाल नोचे, पीटा, घर से निकाल दिया, सैंडल तक नहीं लेने दिया: लालू की बहू ने लगाए गंभीर आरोप

''उन्होंने मेरा मोबाइल फोन भी छीन लिया था क्योंकि मैंने उनके दुर्व्यवहार का वीडियो बना लिया था। ऐसा उन्होंने इसलिए किया जिससे वो सबूतों को मिटा सकें। इससे पहले सितंबर महीने में भारी बारिश के दौरान भी मुझे घर से निकाल दिया था पर अदालत के हस्तक्षेप के बाद वे अपने घर में वापस लौट पाई थीं।''

राजस्थान के टोंक में भाईयों ने किया बहन का रेप, गर्भवती पीड़िता का बच्चा कुछ घंटों में चल बसा

पुलिस ने फ़ुफ़ेरे भाई के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में मामला दर्ज कर लिया है। खबरों में यह भी कहा जा रहा है कि चूँकि वह खुद भी नाबालिग है, अतः उसे किशोर न्यायालय के सामने पेश किया जाएगा।
बालिका गृह, अमानवीय व्यवहार

नाबालिग लड़कियों को नंगा कर गंदी बात करती थी सुपरिटेंडेंट असमां पीरजादा: जोधपुर बालिका गृह का मामला

सीएम अशोक गह​लोत के गृह जिले में बच्चियों के साथ हो रहा था अमानवीय व्यवहार। अनजान आदमियों से मिलने के लिए किया जाता था मजबूर। भूखा रखती थी असमां, नहीं देती थी सेनेट्री पैड।
SP नेता आफाक़ ख़ान, यौन शोषण

8 बच्चों का बाप सपा नेता आफाक़ अहमद ने बंदूक के बल पर 5 साल तक किया महिला का यौन शोषण, FIR दर्ज

आफाक़ ख़ान के ख़िलाफ़ IPC की धारा-342 (ग़लत तरीके से कारावास), 376 (बलात्कार), 500 (मानहानि की सज़ा) और 508 (जो किसी व्यक्ति को ऐसा कार्य करने के लिए कहता है जिसके लिए वो व्यक्ति क़ानूनी रूप से बाध्य नहीं है) के तहत मामला दर्ज किया गया है।
मुंबई, मर्डर

17 साल की गोद ली गई बेटी, बाप पर यौन शोषण का आरोप और प्राइवेट पार्ट कटी हुई लाश: मुंबई केस सॉल्व

एक सूटकेस में किसी मर्द का पैर, हाथ और प्राइवेट पार्ट। उसके बाद एक स्वेटर। स्वेटर पर सिलने वाले टेलर का नाम... यही क्लू मुंबई पुलिस को बेटी द्वारा बाप के मर्डर की कहानी तक ले जाती है।
पाकिस्तानी महिला, चीन

2 साल में 629 पाकिस्तानी लड़कियों को खरीद कर ले गए चीनी, देह के धंधे पर पाक चुप

बड़े पैमाने पर हो रहे ह्यूमन ट्रैफिकिंग की जानकारी पाकिस्तान की सेना और सरकार दोनों को है। लेकिन, चीन को खुश रखने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। पुलिस पर ऐसे मामलों की जॉंच नहीं करने का दबाव है। मीडिया को भी इसकी रिपोर्टिंग से मनाही है।
अश्लील वीडियो कॉल

100 लड़कियों को अश्लील वीडियो कॉल करने वाला हुसैनकर गिरफ़्तार, दिखाता था अपने प्राइवेट पार्ट्स

वडाला की 17 वर्षीय बीकॉम की छात्रा को हुसैनकार 30 नवंबर की शाम से ही लगातार वीडियो कॉल कर के परेशान कर रहा था। शुरुआत में उस लड़की ने अनजान नंबर होने के कारण कॉल नहीं उठाया। जब उसने कॉल उठाया तो हुसैनकार उसे अपने गुप्तांग दिखाने लगा।
झारखण्ड में आया एक और सामूहिक बलात्कार का मामला (साभार इंडिया टुडे )

दोस्त के साथ बस स्टॉप पर थी लॉ की छात्रा, तमंचे के बल किया गैंग रेप: सुनील, कुलदीप, संदीप, अजय सहित 12 गिरफ्तार

तीन युवक पीड़िता के दोस्त को भी धमकी देते रहे कि शोर मचाने पर उसे जान से मार देंगे। इस दौरान उसने उनमें से एक का मोबाइल नंबर किसी तरह नोट कर लिया।
स्वामी नित्यानंद (इंडिया टुडे से साभार)

‘करोड़ों के घपले, मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल थे पिता, वे चाहते थे स्वामी नित्यानंद के खिलाफ करूँ षड़यंत्र’

अपने पिता पर गंभीर आरोपों की लम्बी फेहरिस्त जारी रखते हुए उसने यह भी कहा कि वे अपने सहयोगियों को टेंडर जारी होने के पहले से तय राशि बता देते थे और उनके सहयोगी उससे सस्ते दाम लगाकर टेंडर पा लेते थे। इसके बाद चाहे वे जैसी भी गुणवत्ता का सामान दें, आश्रम खरीद लेता था।
अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस

हम साथी हैं… हमें साथ चलना है… फिर स्त्रीवाद के इस दौर में पुरुष हीन क्यों?

क्या वाक़ई पुरुष इतना भावना-हीन है कि उसे किसी भी तकलीफ पर दर्द नहीं होता। वह रो नहीं सकता। या वह इतना संबल है कि हर परेशानी को सँभाल सकता है। नहीं, यह भी सदियों से चली आ रही है परिपाटी की तरह पूर्वाग्रह से ग्रसित एक धारणा है।

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

142,038फैंसलाइक करें
34,779फॉलोवर्सफॉलो करें
158,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements