Saturday, July 24, 2021

विषय

लिबरल

HESH और SHIM: जावेद अख्तर ने अंग्रेजी में बनाए 2 शब्द, लिंग को लेकर सोशल मीडिया पर हो गए ट्रोल

'वोक समाज' जावेद अख्तर के इस लैंगिक समानता के विचार को ठुकरा देगा, क्योंकि 'hesh' में 'he' सर्वनाम और 'shim' में 'him' शामिल है।

कौन है Pieter Friedrich? टूलकिट मामले में ‘फैक्टचेकर’ के साथ क्यों आ रहा ISI कनेक्शन वाले आदमी का नाम?

पुलिस का कहना है कि भारत की जाँच एजेंसियों को 2006 से ही पीटर फ्रेडरिच की तलाश है। पीटर का नाम भजन सिंह भिंडर या इकबाल चौधरी की कंपनी में...

भारत विरोध में बौराई अमेरिकी उपराष्ट्रपति की भतीजी मीना हैरिस: प्रोपेगेंडा, प्रपंच और अवसरवाद की इंटरनेशनल फेस

खालिस्तानियों के दंगे की समर्थक मीना हैरिस इस बात से नाराज हैं कि भारत में उनके खिलाफ लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शन क्यों हो रहा है। उनके पोस्टर्स क्यों जलाए जा रहे हैं?

WhatsApp की प्राइवेसी पॉलिसी में अडानी-अम्बानी कनेक्शन ना ढूँढ पाने पर अवसाद में गया वोक लिबरल

WhatsApp ने गोपनीयता नीतियों में कुछ बदलाव किए हैं। दुर्भाग्य से, इस बदलाव के बावजूद वोक लिबरल की जिन्दगी में कोई खास बदलाव नहीं आया।

कैपिटल हिल में हिंसा के दौरान एक हिन्दू लहरा रहा था भगवा झंडा? लिबरल गिरोह के दावे का फैक्टचेक

वाशिंगटन डीसी में भगवा झंडा लिए हुए इस व्यक्ति की तस्वीर 5 अगस्त 2020 की है, यानी अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि के भूमि पूजन के ठीक बाद की तस्वीर।

‘पुलिस ने रसीदे लात-घूँसे-लप्पड़.. पीठ, एड़ियों पर दिए लाल निशान’: वामपंथी प्रोपेगेंडा वेबसाइट ‘कारवाँ’ का दावा

वामपंथी वेबसाइट 'कारवाँ' ने दावा किया है कि दिल्ली पुलिस ने उनके पत्रकार की जमकर पिटाई की, जिससे कि उसके चेहरे और पीठ पर लाल निशाँ पड़ गए

‘द वायर’ की परमादरणीया पत्रकार रोहिणी सिंह ने बताया कि रेप पर वैचारिक दोगलापन कैसे दिखाया जाता है

हाथरस में आरोपित की जाति पर जोर देने वाली रोहिणी सिंह जैसी लिबरल, बलरामपुर में दलित से रेप पर चुप हो जाती हैं? क्या जाति की तरह मजहब अहम पहलू नहीं होता?

फेसबुक ओवरसाइट बोर्ड के 20 में से 18 सदस्यों का मोदी विरोधी जॉर्ज सोरोस से है कनेक्शन

फेसबुक के प्रस्तावित ओवरसाइट बोर्ड के 20 में से 18 सदस्य जॉर्ज सोरोस से जुड़े हुए हैं। सोरोस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोध के लिए जाने जाते हैं।

जो पत्रकार निष्पक्षता का दावा करता है वह झूठा है, यह सिर्फ अपना एजेंडा आगे बढ़ाने का ज़रिया है: शेखर गुप्ता

"भारत के मुख्य न्यायाधीश, चुनाव आयुक्त, राष्ट्रपति यह सभी लोग हर पाँच साल बाद मतदान करते हैं। हर इंसान जो चुनाव के दौरान अपने संवैधानिक अधिकारों का सदुपयोग करता है। उसकी कोई न कोई राजनीतिक विचारधारा होती है।"

लिबरल गिरोह डिलीट कर रहे अपना फेसबुक एकाउंट: वजह बेंगलुरु दंगा, पैगंबर मोहम्मद या हेट स्पीच?

लिबरल्स इस बात से निराश हैं कि फेसबुक की शीर्ष अधिकारी अंखी दास कथित तौर पर भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का...

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,891FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe