Friday, May 14, 2021

विषय

लिबरल

एक्टिविटी के नाम पर छात्रों की कलरिंग बुक में ‘डिल्डो’, हस्तमैथुन करती औरतों के चित्र, टैगोर स्कूल में जारी है ब्रेनवॉश

कलरिंग बुक के निचले हिस्से में हस्तमैथुन करती हुई युवती नज़र आ रही है। इस तस्वीर के साथ लिखा है- “छात्रों के लिए 100 रूपए का डिस्काउंट।"

गणित शिक्षक रियाज नायकू की मौत से हुआ भयावह नुकसान, अनुराग कश्यप भूले गणित

यूनेस्को ने अनुराग कश्यप की गणित को विश्व की बेस्ट गणित घोषित कर दिया है और कहा है कि फासिज़्म और पैट्रीआर्की के समूल विनाश से पहले ही इसे विश्व धरोहर में सूचीबद्द किया जाएगा।

स्वरा भास्कर की एडल्ट कॉमेडी ‘रसभरी’ IMDb पर भी फुस्स, लेकिन जीरो नहीं हो पाएगी रेटिंग

अमेज़न प्राइम वीडियो पर हाल ही में रिलीज़ हुए एडल्ट कॉमेडी 'रसभरी' की IMDb रेटिंग गिरकर 2.6 पर आ गई। स्वरा भास्कर इसमें मुख्य भूमिका में हैं।

‘टिकटॉक के 30 करोड़ लौटा दो’: चीन के लिए नमकहलाली करने वाले और क्या बोलेंगे!

सरकार ने इन एप्स को चीन का होने के कारण ब्लॉक नहीं किया है, बल्कि ये वो एप्स हैं, जो नागरिकों के फोन से उनकी निजी सूचनाएँ चुराते हैं।

आदिवासियों को भड़काने वाले आकार पटेल का ट्विटर एकाउंट ‘सस्पेंड’, बचाव में उतरे राजदीप सरदेसाई

भारत में महिलाओं, और आदिवासियों को 'ब्लैक लाइव्स मैटर' विरोध प्रदर्शन की तरह विरोध करने और उन्हें भड़काने वाले आकार पटेल का ट्विटर एकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है।

वैज्ञानिक आनंद रंगनाथन ने ‘किट्टी पार्टी जर्नलिस्ट’ सबा नकवी के झूठ, घृणा, फेक न्यूज़ को किया बेनकाब, देखें Video

आनंद रंगनाथन ने सबा नकवी पर कटाक्ष करते हुए कहा, "यह ऐसी पत्रकार हैं, जो हर रात अपनी खूबसूरत ऊँगलियों से पत्रकारिता के आदर्शों को नोंचती-खरोंचती हैं।"

टुटपुँजिया कॉमेडियन कामरा बना यूट्यूब पर 12 लाख ‘डिसलाइक’ पाने वाला शख़्स, लोगों ने कहा- बेटा! तुझसे ना हो पाएगा

ख़ुद को कॉमेडियन बताने वाले ट्विटर ट्रोल कुणाल कामरा ने कैरी मिनाटी को लेकर एक वीडियो बना कर उन्हें रोस्ट करने का दावा किया लेकिन असल में उनकी ख़ुद की बेइज्जती हो गई।

माँ सीता ‘वेश्या’ और रावण से थी रेप के लिए ‘इच्छुक’ – हिन्दूफोबिया से ग्रसित वामपंथी कवियों की कविता

हिन्दूफोबिया से ग्रसित वामपंथी उड़िया कवियों के बीच चल रहे उस ट्रेंड की तरफ ध्यान दिलाया, जो कि काफी तकलीफदेह और विचलित करने वाली है।

लेनिन: लाखों किसानों-निर्दोषों की लाश के ढेर पर कम्युनिस्ट सत्ता स्थापित करने वाला

रूस में गृहयुद्ध के दौरान लेनिन के सामने शासन और सर्वहारा में से किसी एक को चुनने का समय आया, तब उसने सर्वहारा में ही जार को देखा।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,361FansLike
93,776FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe