Wednesday, April 14, 2021

विषय

Medical Science

‘जीसस के कारण खत्म हो रहा कोरोना’: IMA अध्यक्ष जयलाल अस्पतालों को बनाना चाहते हैं ईसाई धर्मांतरण का हथियार

डॉक्टर जयलाल ने एक बार कहा था कि हिन्दुओं को जीसस और मोहम्मद को अपना भगवान मान लेना चाहिए।

1 साल में 1000+ मर्द बन गए महिला: विदेश नहीं, भारत के इस शहर में बढ़ रही सेक्स सर्जरी की माँग

गुजरात के अहमदाबाद में लिंग परिवर्तन की सर्जरी को लेकर नया ट्रेंड शुरू हुआ है। इसके द्वारा किसी पुरुष को महिला बनाया जाता है।

NEET में आए बराबर नंबर फिर भी शोएब आफताब की 1 रैंक और आकांक्षा सिंह की 2: जानिए क्या है कारण

NEET ने जो रिजल्ट्स जारी किए, जिसमें ओडिशा के शोएब आफताब ने AIR 1 हासिल की और दिल्ली की आकांक्षा सिंह दूसरे रैंक पर रहीं।

प्रेगनेंसी टेस्ट की तरह कोरोना जाँच: भारत का ₹500 वाला ‘फेलूदा’ 30 मिनट में बताएगा संक्रमण है या नहीं

दिल्ली की टाटा CSIR लैब ने भारत की सबसे सस्ती कोरोना टेस्ट किट विकसित की है। इसका नाम 'फेलूदा' रखा गया है। इससे मात्र 30 मिनट के भीतर संक्रमण का पता चल सकेगा।

जब नेहरू-इंदिरा खुद ले रहे थे भारत-रत्न… तब उनके शोध से बची थी लाखों जिंदगियाँ, जो मर गए गुमनामी में

1955 ही वो साल था, जब नेहरू ने ख़ुद को भारत रत्न दिया और इसी दौर में शम्भूनाथ डे ने पाया कि हैजा से शरीर में एक टॉक्सिन बन जाता है, जिसे...

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने बाजार में उतारी कोरोना संक्रमण की दवा: DCGI ने दी मंजूरी, ₹103 प्रति टैबलेट

बाजार में कोरोना वायरस संक्रमण की दवा उपलब्ध हो गई है। ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स (Glenmark Pharmaceuticals) ने ये कारनामा किया है।

देश के हर जिले में होगा मेडिकल कॉलेज, कोरोना वारियर्स के साथ दुर्व्यवहार बर्दाश्त नहीं: PM मोदी

PM मोदी ने कोरोना वायरस संक्रमण को द्वितीय विश्व युद्ध के बाद अब तक की सबसे बड़ी आपदा करार देकर कहा कि दुनिया बदल जाएगी और इसमें...

बार-बार नहाने से लेकर बाहर का न खाने तक: डॉक्टर से जानिए कोरोना वायरस से जुड़े उन 9 सवालों के जवाब जो आपके मन...

"साफ़-सफाई ज़रूरी है लेकिन इसे लेकर साइको बनना ज़रूरी नहीं है। लोगों को डराएँ नहीं। सबसे ज़्यादा आवश्यक है सही तरीके से हाथ धोना।"

अब इंसानों के शरीर में धड़केगा सुअर का दिल: ब्रिटेन का पहला सफल हार्ट ट्रांसप्लांट करने वाले डॉक्टर का दावा

सिर्फ 3 साल के भीतर सुअर के दिलों को इंसानों में ट्रांसप्लांट करना संभव हो सकता है। 40 साल पहले ब्रिटेन का पहला सफल हार्ट ट्रांसप्लांट करने वाले डॉक्टर टेरेन्स का कहना है कि इस तकनीक से हृदय रोगियों को एक नई जिंदगी मिल सकती है।

5 महीने में जन्म, वजन सिर्फ 492 ग्राम: मौत को मात दे अब घर लौटी बच्ची – मेडिकल साइंस का RECORD

जिआना का जन्म 22 हफ्ते के बाद ही हो गया। जिसका वजन महज 492 ग्राम और लंबाई 500 एमएल दूध के पाउच जितनी थी।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,188FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe