Tuesday, July 27, 2021
Homeव्हाट दी फ*नहीं मिली मछली की मुंडी तो चल गई कुर्सियाँ, बारात में हुई ताबड़तोड़ मारपीट...

नहीं मिली मछली की मुंडी तो चल गई कुर्सियाँ, बारात में हुई ताबड़तोड़ मारपीट में 11 लोग घायल हो पहुँचे अस्पताल

शादी समारोह में मछली की मुंडी परोसने को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया और विवाद इतना बढ़ गया कि 11 लोग आपस में लड़कर लहूलुहान हो गए और बात पुलिस तक पहुँच गई।

कोई भी समारोह हो और वहाँ खाने की शानदार व्यवस्था हो जाए तो समारोह में चार चाँद लग जाते हैं लेकिन अगर वहीं खाने की व्यवस्था न हो या खाने में स्वाद ही न हो तो पूरा माहौल खराब हो जाता है। ऐसा ही एक मामला बिहार के गोपालगंज से सामने आया है जहाँ शादी समारोह में मछली की मुंडी परोसने को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया और विवाद इतना बढ़ गया कि 11 लोग आपस में लड़कर लहूलुहान हो गए और बात पुलिस तक पहुँच गई।

तो घटना कुछ इस तरह है:

गोपालगंज के भोरे थाना क्षेत्र के सिसई टोला के भटवलिया गाँव में गुरुवार (10 जून) को छठू गोंड के यहाँ बारात आई हुई थी। छठू ने बाकायदा शादी समारोह के लिए मछली और चावल की व्यवस्था कराई थी। छठू के ही किसी रिश्तेदार सुदामा गोंड ने बताया कि राजू गोंड और मुन्ना गोंड मेहमानों को मछली परोस रहे थे। इसी बीच पड़ोसी अजय गोंड और अभय गोंड अपने खासम-खास मेहमानों को लेकर आए और उन्हें खाने के लिए बैठा दिया।

पहले राउंड में तो उन्हें मछली के दो-दो पीस मिल गए लेकिन उन्हें तो मछली की मुंडी चाहिए थी। फरमाइश की गई, लेकिन किसी कारणवश उन्हें मछली की मुंडी नहीं मिल पाई। अब जब पसंद का भोजन न मिले तो पारा ऊपर चढ़ ही जाता है। मछली की मुंडी न दिए जाने पर राजू और मुन्ना की पिटाई कर दी गई। जब तक छठू और घर के समझदार लोग पहुँचते, यहाँ कुर्सियाँ चलने लगी थीं। कुर्सियाँ चली भी तो इतनी कि दोनों पक्षों से कुल 11 लोग घायल हो गए।

एक पक्ष से घायल हुए अजय गोंड, अभय गोंड, राजा गोंड, हीरालाल गोंड और सुदामी देवी एवं दूसरे पक्ष से घायल हुए सुदामा गोंड, मुन्ना गोंड, अमित गोंड, राजू गोंड व सरली देवी। दोनों पक्षों में नाराजगी इस हद तक बनी रही कि वो एक ही अस्पताल में भर्ती भी नहीं हुए। एक पक्ष के घायलों को ले जाया गया भोरे के रेफरल अस्पताल और दूसरे पक्ष के घायल पहुँचे सदर अस्पताल।

भला हो गाँव के समझदार लोगों का जिन्होंने मामला शांत कराया लेकिन बात पुलिस तक पहुँच चुकी है। पुलिस ने बताया कि घायलों ने इलाज के बाद पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है और पुलिस भी अलग-अलग बयान लेकर प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe