Thursday, May 23, 2024
37 कुल लेख

विभव देव शुक्ला

‘माझ्या कक्कानी कसाबला पकड़ला’ – बलिदानी ओंबले के भतीजे का वो गीत… जिसे सुन पुलिस में भर्ती हुए 13 युवा

सामने वाले के हाथों में एके-47... लेकिन ओंबले बिना परवाह किए उस पर टूट पड़े। ट्रिगर दबा, गोलियाँ चलीं लेकिन ओंबले ने कसाब को...

डॉक्टर बनने के लिए बाल विवाह से लड़ने वाली ‘द हिन्दू लेडी’, जिनकी वजह से आया ‘सहमति की उम्र का क़ानून’

22 नवंबर 1864 को मुंबई में पैदा हुई देश की पहली प्रैक्टिसिंग महिला डॉक्टर रुक्माबाई की जीवन यात्रा पर एक नजर।

जिस नेता ने सबसे ज़्यादा जहरीली बयानबाजी की उसे ही बीजेपी के विरोध में ‘अल्पसंख्यकों का मसीहा’ बनाने में जुटे ‘वामपंथी’ मीडिया संस्थान

देश का हर नेता राजनीतिक के रास्ते पर चलते हुए आम नागरिकों को बहुत कुछ देता है, जब कभी ‘असदुद्दीन ओवैसी ने क्या दिया’ इस पर चर्चा होगी, तब इनके बारे में क्या कहा जाएगा?

‘लव जिहाद’ पर सख्त कानून से क्यों बढ़ जाता है अशोक गहलोत जैसे नेताओं का राजनीतिक रक्तचाप?

लव जिहाद पर सख्त कानून बनाने की कुछ राज्य सरकारों की पहल के साथ ही अशोक गहलोत जैसे कॉन्ग्रेसी मुख्यमंत्रियों का प्रलाप भी शुरू हो गया है।

शिवाजी की प्रशंसा वाली किताब ‘शिवबवनी’ पर पाबंदी में गाँधी जी भूमिका: गोडसे Vs गाँधी की एक कहानी यह भी

52 छंदों का अमूल्य संग्रह ‘शिवबवनी’ जिसमें शिवाजी की प्रशंसा की गई है, गाँधी जी ने इस पर पाबंदी लगाने में भी अहम भूमिका निभाई।

योग से लेकर अयोध्या के दीपोत्सव तक… ‘सिकुलर सियासत’ पर जगमग भारतीय परंपराओं का दीया

मोदी-योगी ने भारतीय परंपराओं को न केवल वैश्विक पहचान दी है, बल्कि हमारे सांस्कृतिक विमर्शों को नए सिरे से अलंकृत और परिभाषित भी किया है।

नीतीश-मोदी को लोगों ने रिजेक्ट कर दिया… से …हर चुनाव भाजपा ही जीतती है – रबिश की गिरगिट पत्रकारिता

बिहार विधानसभा चुनावों की पूरी परिचर्चा के दौरान रबिश कुमार की गिरगिटनुमा पत्रकारिता ने कई बार रंग बदला। शुरुआत में रबिश ने...

जनसंघ: ‘राष्ट्रवाद’ को आवाज देने वाला पहला राजनीतिक दल, जिसके कार्यकर्ता सीमा से सियासत तक डटे रहे

1962 में चीन और 1965 में पाकिस्तान के साथ युद्ध में जनसंघ और आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने सिविक और पुलिस ड्यूटी का किरदार निभाया था।