Sunday, August 1, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेकFact Check: 'फ्री मेट्रो राइड' का प्रस्ताव केंद्र ने नहीं किया खारिज, मीडिया बना...

Fact Check: ‘फ्री मेट्रो राइड’ का प्रस्ताव केंद्र ने नहीं किया खारिज, मीडिया बना रही आपको बेवकूफ

मीडिया रिपोर्टों में कहा गया कि केंद्र सरकार ने दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को 'फ्री मेट्रो राइड' देने की योजना को अस्वीकार कर दिया। जबकि, वास्तव में, केंद्र के समक्ष केजरीवाल द्वारा ऐसा कोई प्रस्ताव भेजा ही नहीं गया था।

आज संसद के निचले सदन की कार्यवाही में, TMC की सौगत रॉय द्वारा उठाए गए एक प्रश्न का जवाब देते हुए, आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के लिए राज्य मंत्री, हरदीप सिंह पुरी ने जवाब दिया कि भारत की केंद्र सरकार दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को ‘फ्री राइड’ पर कोई प्रस्ताव प्राप्त नहीं हुआ है।

हालाँकि, कई मीडिया आउटलेट्स ने इस मामले के बारे में गलत खबरें फैलानी शुरू कर दीं कि केंद्र सरकार ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त सवारी देने के विचार को खारिज कर दिया था।

रिपब्लिक टीवी ने भी एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी जिसमें कहा गया था कि केंद्र सरकार ने दिल्ली में फ्री मेट्रो राइड की पेशकश करने वाली AAP सरकार के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है।

टाइम्स नाउ के एक लेख में भी छापा गया है कि केंद्र की भाजपा सरकार ने AAP सरकार की महिलाओं के लिए फ्री मेट्रो राइड को अस्वीकार कर दिया है।

एक अन्य समाचार आउटलेट, ज़ी न्यूज़ ने भी ऐसी ही लाइन पर एक लेख प्रकाशित किया। रिपोर्ट में कहा गया है कि केंद्र सरकार ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा महिलाओं के लिए दिल्ली मेट्रो की सवारी को मुफ्त बनाने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है।

उपर्युक्त कई मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि केंद्र सरकार ने दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को ‘फ्री मेट्रो राइड’ देने की योजना को अस्वीकार कर दिया है। जबकि, वास्तव में, केंद्र के समक्ष केजरीवाल द्वारा ऐसा कोई प्रस्ताव भेजा ही नहीं गया था।

संसद में केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि दिल्ली मेट्रो में दिल्ली सरकार से महिलाओं को ‘फ्री मेट्रो राइड’ का कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। फिर भी, प्रमुख समाचार संगठनों द्वारा “केंद्र सरकार ने ख़ारिज/अस्वीकार या रिजेक्ट की केजरीवाल सरकार की महिलाओं के लिए ‘फ्री मेट्रो राइड’ योजना” इस तरह की भ्रामक और फेक रिपोर्ट प्रकाशित की गई।

हालाँकि, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि उनकी सरकार को महिलाओं के लिए ‘फ्री मेट्रो राइड’ को लागू करने के लिए केंद्र सरकार को कोई प्रस्ताव भेजने की आवश्यकता नहीं है।

साथ ही, केजरीवाल ने फिर से दिल्ली में महिलाओं के लिए फ्री मेट्रो राइड देने का अपना वादा दोहराया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,328FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe